Bhadrapada 2019 के पहले दिन सिंह राशि में संचार करेंगे शुक्र, 16 अगस्त से इनका बदल जाएगा भाग्य

Bhadrapada 2019 के पहले दिन सिंह राशि में संचार करेंगे शुक्र, 16 अगस्त से इनका बदल जाएगा भाग्य

Devendra Kashyap | Updated: 15 Aug 2019, 03:23:26 PM (IST) होरोस्कोप

Shukra Gochar 2019 : शुक्र ग्रह को कला, प्रेम, भौतिक और वैवाहिक जीवन के सुख का कारक माना गया है।

शुक्र ग्रह ( venus ) को कला, प्रेम, भौतिक और वैवाहिक जीवन के सुख का कारक माना गया है। मान्यता है कि जिनका शुक्र अच्छा नहीं होता, उन्हें इन क्षेत्रों में परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

शुक्र ( shukra ) ग्रह 16 अगस्त 2019 ( शुक्रवार) को रात्रि 08:23 बजे सिंह राशि ( Leo ) में गोचर करेगा और 10 सितम्बर 2019, मंगलवार को प्रातः 01:24 बजे तक इसी राशि में स्थित रहेगा। ऐसे में शुक्र के इस गोचर ( shukra rashi parivartan ) का प्रभाव सभी 12 राशियों में भी पड़ेगा और इसका असर ( Effect of Venus transit ) सीधे हर राशि के जातक के दैनिक जीवन पर पड़ेगा।

वहीं एक खास बात ये भी है कि इसके ठीक अगले दिन यानि 17 अगस्त को सूर्य भी राशि परिवर्तन करते हुए सिंह राशि में आ जाएंगे, जिसके चलते वे शुक्र परिवर्तन से संकट में आईं कई राशियों को राहत देने का काम करेंगे।

मेष राशिफल

शुक्र आपकी राशि से पंचम भाव में गोचर करेंगे। कुंडली में यह संतान भाव माना जाता है। इस भाव से रोमांस, संतान, रचनात्मकता, बौद्धिक क्षमता, शिक्षा और नए अवसरों को देखा जाता है। शुक्र का यह गोचर आपके प्रेम संबंधों में मिठास लाएगा। रिश्तों में प्यार के बढ़ने से निजी संबंध मज़बूत होंगे। अगर आप सिंगल हैं तो किसी के साथ प्यार की नई शुरुआत हो सकती है। अगर पहले से ही प्यार में हैं तो पार्टनर के साथ विवाह की बात भी चल सकती है। आर्थिक जीवन में शुक्र का गोचर आपको सफलता प्रदान करेगा।

इस दौरान छोटे-मोटे लड़ाई-झगड़े भी होते रहेंगे। साथ ही शिक्षा के क्षेत्र में छात्रों को पढ़ाई में दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है। उनका मन पढ़ाई की बजाय कहीं और लग सकता है। इस दौरान सेहत का भी ख़्याल रखें।

वृषभ राशिफल

आपकी राशि से शुक्र चतुर्थ भाव में गोचर करेंगे। कुंडली में चौथा भाव सुख व माता का भाव माना गया है। इस भाव से माता, जीवन में मिलने वाले सभी प्रकार के सुख, चल-अचल संपत्ति, लोकप्रियता एवं भावनाओं को देखा जाता है।
शुक्र के गोचर से आप अपने निजी जीवन से प्रसन्न रहेंगे। घर-परिवार में खुशियां आएंगी। वहीं यदि आप जॉब के कारण घर से दूर रहते हैं तो परिजनों के साथ समय बिताने का मौ़का मिल सकता है। कार्यक्षेत्र में भी परिस्थितियां आपके अनुकूल होंगी। इस अवधि में आपकी आर्थिक परेशानियां दूर होंगी। समाज में आपका मान-सम्मान बढ़ेगा।


मिथुन राशिफल

आपकी राशि से शुक्र तीसरे भाव में जाएगा। कुंडली में तीसरे घर को पराक्रम व भाई बहनों का भाव कहा जाता है। इस भाव से व्यक्ति के साहस, इच्छा शक्ति, छोटे भाई, जिज्ञासा, जुनून, ऊर्जा, जोश और उत्साह को देखा जाता है।

इस गोचर के प्रभाव से आपके साहस और पराक्रम में वृद्धि होगी। आप निडरता से अपनी बातों को रखेंगे। साथ ही आपके व्यक्तित्व का भी विकास होगा और आपके अंदर आत्म-विश्वास बढ़ेगा। किसी मुनाफ़े के लिए आप जोख़िम उठाना पसंद करेंगे। कार्य क्षेत्र में आपकी ऊर्जा आपको सदैव कार्य के प्रति क्रियाशील बनाए रखेगी। वैवाहिक जीवन में आपको आनंद आएगा और प्रेम जीवन में रिश्ते प्रगाढ़ होंगे।

कर्क राशिफल

आपकी राशि से द्वितीय भाव में इस दौरान शुक्र गोचर करेगा। ज्योतिष में दूसरे भाव से व्यक्ति के परिवार, उसकी वाणी, प्रारंभिक शिक्षा और पैत्रिक धन आदि का विचार किया जाता है।

इस दौरान आपको कई वित्तीय फायदे होंगे और आप अपने भविष्य के लिए अच्छी रक़म जोड़ सकेंगे। आय के स्रोतों में वृद्धि होने की संभावना है। शुक्र का गोचर आपके आर्थिक पहलू को और भी मजबूत स्थिति में लाएगा। आर्थिक पक्ष को लेकर कोई रुकी हुई योजना पुनः प्रारंभ हो सकती है। प्रॉपर्टी से भी फायदा संभव है। संवाद शैली में सुधार आएगा और आप दूसरों को अपनी बातों से आकर्षित कर पाएंगे। घर में परिजनों के बीच सामंजस्य का वातावरण देखने को मिल सकता है।

सिंह राशिफल

शुक्र ग्रह आपकी ही राशि में गोचर करेगा जो प्रथम भाव में स्थित होगा। ज्योतिष में प्रथम भाव को लग्न कहा जाता है।
इस दौरान आप अपने अच्छे कार्यों के लिए जाने जाएंगे। बीते समय में किए गए संघर्षों का लाभ इस दौरान प्राप्त होगा। शुक्र के प्रभाव से आपके व्यक्तित्व में सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेगा जिससे आपके प्रति लोग आकर्षित होंगे। गंभीर मुद्दों पर लोग आपकी सलाह ले सकते हैं। भाई-बहनों का सहयोग प्राप्त हो सकता है। अपने लिए कुछ ऐसा करेंगे जिससे आपको खुशी हासिल होगी। प्रेम जीवन में साथी आपकी ओर अधिक आकर्षित होगा।

कन्या राशिफल

आपकी राशि से शुक्र द्वादश भाव में प्रवेश रहेगा। ज्योतिष में यह व्यय भाव कहलाता है। इस भाव से खर्चे, हानि, मोक्ष, विदेश यात्रा आदि को देखा जाता है। करियर में नए अवसर के लिए आप विदेश की ओर भी अपना रुख़ कर सकते हैं। लंबी दूरी की यात्रा संभव है। यह यात्रा आपके लिए लाभकारी सिद्धि हो सकती है। पिकनिक या कहीं बाहर घूमने जाने का प्लान बन सकता है।

गोचर के दौरान भोग-विलास के प्रति आपका मन ज़्यादा लगेगा और मन वासनात्मक क्रियाओं में अधिक लगेगा। आर्थिक जीवन की बात करें तो, आपके ख़र्चों में वृद्धि होने की प्रबल संभावना है। अनावश्यक रूप से धन ख़र्च होगा। ऐसी स्थिति में आपको अपने व्यय को नियंत्रण में रखना होगा अन्यथा आपके सामने आर्थिक संकट की घड़ी आ सकती है। विदेश गमन के योग बन रहे हैं। जीवन साथी की सेहत का खास ख़्याल रखें।

तुला राशिफल

आपकी राशि से एकादश भाव में शुक्र स्थित रहेंगे। कुंडली में यह भाव आमदनी का भाव कहा जाता है। इस भाव से आय, जीवन में प्राप्त होने वाली सभी प्रकार की उपलब्धियां, मित्र, बड़े भाई-बहन आदि को देखा जाता है।

इस दौरान आपके जीवन में खुशहाली व समृद्धि आएगी। आप जो भी करेंगे उसमें सफलता मिलेगी। दिल की कोई मुराद पूरी हो सकती है। विपरीत-लिंगके जातकों की मदद से आगे बढ़ने में आपको सहयोग मिलेगा। आर्थिक लाभ की संभावना है। प्रेम संबंधों में प्यार और बढ़ेगा। सामाजिक समारोह में जाना पसंद करेंगे, साथ ही दोस्तों व रिश्तेदारों के संग अच्छा समय गुज़ारेंगे।

वृश्चिक राशिफल

आपकी राशि से शुक्र का दशम भाव में गोचर रहेगा। ज्योतिष में दशम भाव करियर, पिता की स्थिति, रुतबा, राजनीति और जीवन के लक्ष्यों की व्याख्या करता है। इसे कर्म और आय का घर भी माना गया है।

शुक्र के कर्म भाव में गोचर से आपको कार्य क्षेत्र में ज़बरदस्त लाभ होगा। आपके कार्य क्षेत्र का दायरा बढ़ेगा। करियर में तरक्की होगी। ऑफिस में आपको नई ज़िम्मेदारी मिल सकती है और आपका प्रभाव क्षेत्र भी बढ़ सकता है। किसी विदेशी कंपनी से संधि हो सकती है जो आपके करियर व बिज़नेस के लिए बेहद प्रगतिशील व लाभदायक साबित होगी। कार्य से संबंधी छोटी या फिर लंबी यात्रा भी संभव है। कार्यक्षेत्र पर बिज़नेस और लाइफ पार्टनर का सहयोग पूर्ण रूप से प्राप्त होगा।

धनु राशिफल

शुक्र आपकी राशि से नवम भाव में गोचर करेंगे। ज्योतिष में नवम भाव को भाग्य भाव कहते हैं और शुक्र इसी भाव के कारक ग्रह माने जाते है। इस भाव से व्यक्ति के भाग्य, गुरु, धर्म, यात्रा, तीर्थ स्थल, सिद्धांतों का विचार किया जाता है।
आपको गोचर के दौरान अच्छे फलों की प्राप्ति होगी। भाग्य का साथ आपको कई क्षेत्रों में सफल परिणाम दिलाएगा। छात्रों को गुरुजनों का आशीर्वाद प्राप्त होगा। उनके आशीर्वाद से आप अपनी पढ़ाई में अच्छा प्रदर्शन करेंगे। आप अपने सिद्धांतों को आगे रखेंगे और उन्हीं के अनुसार कार्य करेंगे। सामाजिक कार्यों को करने में आपका मन लगेगा।

मकर राशिफल

आपकी राशि से शुक्र अष्टम भाव में स्थित होगा। वैदिक ज्योतिष में कुंडली के अष्टम भाव को आयुर्भाव या मृत्यु भाव भी कहा जाता है। इस भाव से जीवन में आने वाले उतार-चढ़ाव, अचानक से होने वाली घटनाएं, आयु, रहस्य, शोध आदि को देखा जाता है। ससुराल पक्ष से रिश्ते बेहतर होंगे। संभव है कि उनकी ओर से आपको कोई प्यारा तोहफा मिले।

गोचर के प्रभाव से आपका मन भौतिक सुखों के प्रति अधिक लगेगा। मन में वासनात्मक विचार अधिक आएंगे। ऐसे में आपको इन पर नियंत्रण रखना होगा। कार्य क्षेत्र में थोड़ी परेशानियां आएंगी। लेकिन अगर आप मेहनत और ईमानदारी से अपना कार्य करेंगे तो इन परेशानियों को आसानी से दूर कर लेंगे। इस दौरान आपको सेहत से जुड़ी परेशानियां हो सकती है।

कुंभ राशिफल

आपकी राशि से शुक्र सप्तम भाव में प्रवेश करेंगे। ज्योतिष में कुंडली के सातवें भाव को विवाह भाव भी कहा जाता है। इस भाव से व्यक्ति के वैवाहिक जीवन, जीवनसाथी एवं जीवन के अन्य क्षेत्रों में बनने वाले साझेदारों का विचार किया जाता है।

शुक्र का शुभ प्रभाव आपके वैवाहिक जीवन को मधुर बनाएगा। जीवनसाथी और आपके बीच सामंजस्य की स्थिति बनेगी। जीवनसाथी आपकी भावनाओं की कद्र करेगा, साथ ही आप दोनों के बीच प्रेम भी बढ़ेगा। निजी जीवन में सकारात्मकता आएगी। वहीं प्रेम जीवन में भी आप अपने लव पार्टनर के प्रति अधिक आकर्षित होंगे। दूसरी ओर, यदि आप किसी साझेदारी में व्यापार कर रहे हैं तो उसमें आपको ज़बरदस्त मुनाफ़ा होने की उम्मीद है।

मीन राशिफल

आपकी राशि से शुक्र का षष्टम भाव में गोचर रहेगा। ज्योतिष में इस भाव को शत्रु भाव कहा जाता है। इस भाव से विरोधियों, रोग, पीड़ा, जॉब, कम्पीटीशन, रोग प्रतिरोधक क्षमता, शादी-विवाह में अलगाव और कानूनी विवादों को देखा जाता है।

शुक्र एक अच्छा ग्रह है, लेकिन अच्छे ग्रह छठे, आठवें और द्वादश भाव में अच्छे फल नहीं देते हैं। ऐसे में अगर आप इस काल में किसी कॉम्पीटीशन की तैयार कर रहे हैं तो अपनी मेहनत को दोगुना कर लीजिए। क्योंकि कठिन परिश्रम के बल पर ही आपको सफलता मिलने की संभावना है। इस दौरान आपको थोड़ा सतर्क रहना होगा। सेहत के नजरिए से शुक्र का गोचर आपके लिए ठीक नहीं है। ऐसी स्थिति में आपको अपनी सेहत पर ध्यान देना होगा। वहीं कार्य क्षेत्र में आपको अपने विरोधियों से सावधान रहने की आवश्यकता है। वे आपके ख़िलाफ़ कोई साजिश रच सकते हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned