वादियों में गूंजे बोल बम के जयकारे, पहले दिन पहुंचे १० हजार श्रद्धालु

वादियों में गूंजे बोल बम के जयकारे, पहले दिन पहुंचे १० हजार श्रद्धालु
वादियों में गूंजे बोल बम के जयकारे, पहले दिन पहुंचे १० हजार श्रद्धालु

Pradeep Sahu | Updated: 30 Jul 2019, 03:02:02 AM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

आज से शुरू हुआ नागद्वारी मेला, चैकिंग के दौरान पकड़ी शराब

पिपरिया. नागद्वारी की धार्मिक यात्रा सावन सोमवार से प्रारंभ हो गई। महाराष्ट्र के सेवामण्डलों को प्रशासन ने मेला क्षेत्र में प्रवेश दिया वहीं श्रद्धालु भी काफी संख्या में पचमढ़ी पहुंचे उन्हें भी मेले में जाने की अनुमति दी गई इससे श्रद्धालुओं में जोश भर गया। नाचते गाते बम बम के जयकारे लगाते महाराष्ट्रीयन श्रद्धालुओं की धार्मिक यात्रा शुरू हो गई। पचमढ़ी के दुर्गम, पहाड़ी मार्ग से 20 किमी की पैदल यात्रा कर नागद्वारी गुफा दर्शन सोमवार से प्रारंभ हो गई। श्रद्धालुओं के लिए 30 जुलाई से प्रवेश तय किया था, लेकिन प्रशासन ने मौसम अनुकूल देख और बारिश होने से श्रद्धालुओं को 29 जुलाई से मेला गेट खोल दिए। सोमवार को करीब दस हजार श्रद्धालु और सेवा मण्डल सदस्यों की आमद पचमढ़ी में दर्ज हुई। जिप्सी से सेवामण्डलों, छोटे दुकानदारों को सामग्री काजरी गांव तक पहुंचाने की व्यवस्था में प्रशासन जुटा रहा। गौरतलब है कि कठिन दुर्गम पहाड़ों से होकर श्रद्धालु नागद्वारी की धार्मिक यात्रा पूरी करते हंै। यात्रा के दौरान एक अदद हल्का सामान भी पदयात्री के लिए भारी पड़ता है। नालों, पहाड़ों, चटटानों, सीढिय़ों पर लटकते हुए यह यात्रा पूरी होती है। इस साल बारिश की वजह से मेला समिति ने दो बार मेला अवधि को परिवर्तित किया। पानी नहीं गिरने से श्रद्धालुओं में मायूसी छाई थी, लेकिन पिछले चार पांच दिन से पचमढ़ी में झमाझम बारिश ने श्रद्धालुओं को नागद्वारी मेला यात्रा पूरी करने का मौका दे ही दिया। भक्तों ने इसे भोलेशंकर का आशीर्वाद माना है। सावन सोमवार को बड़े महादेव, जटाशंकर मंदिर, गुप्त महादेव एवं नागद्वार गुफा पहुंच कर श्रद्धालुओं ने भोलेशंकर का पूजन अर्चन, अभिषेक किया। रिमझिम बारिश में ढोलक बजाते नाचते गाते, जयकारे लगाते शिवभक्तों का जत्था नागद्वारी गुफा की और जाते नजर आया।

शराब प्रतिबंधित, 20 बॉटल पकड़ाई- मेला समिति ने दुर्गम मार्ग पर यात्रा के दौरान अनेक सुरक्षा प्रबंध किए हैं। आलमोद, जलगलि, काजरी में चैक पोस्ट लगाए हैं। मेला अवधि में मेला क्षेत्र में अवैध शराब विक्रय और पीना प्रतिबंधित किया है। शराब मेला क्षेत्र में नहीं पहुंचे इसके लिए लगातार चैकिंग चलती है। मेले के पहले ही दिन एसडीएम के अमले ने कालाझाड़ क्षेत्र में आधा दर्जन लोगों के बैग चैक कर 20 बॉटल देशी, अंग्रेजी शराब जब्त करने की कार्रवाई की। श्रद्धालुओं को समझाइश दी कि यात्रा कठिन है मार्ग दुर्गम है यहां होश और हवास में यात्रा पूरी करे शराब का सेवन कतई न करे।
इनका कहना है...

मेले में सोमवार को करीब दस हजार श्रद्धालु, सेवा मण्डल सदस्यों की आमद हुई है। श्रद्धालुओं के अधिक पहुंचने पर उन्हें शेडों में रोका गया फिर मेला क्षेत्र में जाने की अनुमति दे दी गई। मेला डयूटी दल कल से सभी पाइंटों पर तैनात होगा। मेले में शराब प्रतिबंधित है। अवैध शराब जब्ती की कार्रवाई की गई इसकी सतत मॉनीटरिंग मेले के दौरान की जाएगी।
मदन सिंह रघुवंशी, एसडीएम

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned