बारिश से 200 किमी की सड़कें खराब, पीडब्ल्यूडी ने मरम्मत के लिए मांगे 2 करोड़

बारिश से 200 किमी की सड़कें खराब, पीडब्ल्यूडी ने मरम्मत के लिए मांगे 2 करोड़
बारिश से 200 किमी की सड़कें खराब, पीडब्ल्यूडी ने मरम्मत के लिए मांगे 2 करोड़

Sandeep Nayak | Updated: 23 Sep 2019, 12:16:22 PM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

बड़ी पहाडिय़ा-बांद्राभान, इटारसी-बाबई बायपास के रिन्युअल के लिए अलग से टेंडर बुलाए

फोटो-एचडी22902,03,04
होशंगाबाद/शहर सहित इससे जुड़े स्टेट और नेशनल हाईवे की सड़कें बारिश-बाढ़ से खस्ताहाल हो चुकी हैं। होशंगाबाद डिविजन में करीब 200 किलोमीटर से अधिक की सड़कें खराब हो चुकी है। पीडब्ल्यूडी ने इसके पैंचवर्क के लिए करीब दो करोड़ के स्टीमेट मुख्य अभियंता भोपाल को भेजे हैं। बारिश थमने के बाद भी न तो सड़कों के गड्ढे भरे जा रहे न ही डामरीकरण हो रहा। जिससे दुर्घटनाओं के साथ वाहनों में भी टूट-फूट हो रही है।

यह सड़कें गड्ढों में तब्दील
होशंगाबाद शहर व आसपास की करीब एक दर्जन डामर की सड़कें खस्ताहाल हो चुकी है। मीनाक्षी चौक से लेकर रसूलिया डबल फाटक की बायपास सड़क मंडी के पास, बड़ी पहाडिय़ा के हिस्से में खराब हो चुकी है। मीनाक्षी चौक से बांद्राभान तक, सदरबाजार में देवामाई रोड, बीएसएनएल चौराहा से अजाक थाना, जेल से लेकर पीपल चौक कोठीबाजार तक, कलेक्टर बंगले से मालाखेड़ी तिराहे सहित मुख्य बाजार तथा मुख्य रहवासी क्षेत्र की अंदरुनी सड़कों पर भी गड्ढे हो गए हैं।


डिविजन में यहां खस्ताहाल सड़कें
डिविजन में होशंगाबाद, इटारसी सहित सिवनीमालवा, पिपरिया, पचमढ़ी, बाबई, सोहागपुर, सेमरीहरचंद एवं इससे जुड़े गांवों तक की मुख्य सड़कें खस्ताहाल हैं। हालत ये है कि इटारसी क्षेत्र की सड़क एवं होशंगाबाद की ओवर ब्रिज जंक्शन की सड़क की मरम्मत के लिए 6 से 8 बार टेंडर हो चुके हैं, लेकिन कोई भी ठेकेदार काम करने के लिए आगे नहीं आ रहा है।

इन दो मुख्य सड़कों का भी होना है रिन्युअल
बड़ी पहाडिय़ा से लेकर बांद्राभान तक की जर्जर हो रहीं मुख्य सड़क के रिन्युअल के लिए भी करीब 70 लाख रुपए का स्टीमेट तैयार किया है, इसके टेंडर भी लगाए हैं। इसी तरह बाबई-इटारसी बायपास 4 किमी में से 2 किमी उखड़ चुका है। सड़क को रेत के ओवरलोड डंपर-ट्रकों ने खराब कर दिया है। इसकी मरम्मत के लिए भी 1 करोड़ 86 लाख रुपए का स्टीमेट पहुुंचाया है, लेकिन स्वीकृति नहीं मिल पा रही, जिससे टेंडर भी नहीं हो पा रहे।

इनका कहना है...
बारिश-बाढ़ से डिविजन की करीब 175-200 किमी. की सड़कें खराब हुई हैं। इनके पैंच वर्क के लिए स्टीमेट भेजे गए हैं। राशि स्वीकृति होते ही काम शुरू कराया जाएगा। बारिश थमते ही गड्ढे भी भरे जाएंगे।
-पीके जैन, एसडीओ, पीडब्ल्युडी होशंगाबाद

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned