फर्जी बिल्टी से 27 लाख का गबन करने वाले तीन आरोपी गिरफ्तार

दो व्यापारियों को बिल्टी गिरवी रख आरोपियों ने वसूले 27 लाख, जांच जारी

पिपरिया. महामाया वेयर हाउस कर्मचारी ने दो अन्य के साथ मिलकर वेयर हाउस में रखा माल उठवा दिया और मूल बिल्टी जमा नही कर उसका दुर्पयोग करने के मामले में पुलिस तीन आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है। शुक्रवार को आरोपियों को न्यायालय पेश कर पुलिस ने एक दिन के रिमांड पर लिया है।

महामाया वेयर हाउस संचालक की शिकायत पर पुलिस धोखाधड़ी का अपराध दर्ज आरोपी भूपेन्द्र साहू पिता मोतीलाल, चंद्रशेखर उर्फ शेखर पिता हरनाम सिह पटैल एवं अखिलेश दुबे पिता सुरेश चंद्र दुबे निवासी सोहागुर को गुरुवार शाम गिरफ्तार कर शुक्रवार को न्यायालय पेश किया। न्यायालय से आरोपियों को कोई राहत नही मिली पुलिस की मांग पर न्यायालय जेएमएफसी फिरोज अख्तर ने आरोपियों को एक दिन की रिमांड पर पुलिस को सौंप दिया है। टीआई प्रवीण कुमरे ने बताया कि आरोपियों से मूल बिल्टियां बरामद कर ली गई है रिमांड पर लेकर आरोपियों से और पूछतांछ की जाएगी इसमें और भी मामले खुल सकते है।

दो व्यापारियों से वसूले 27 लाख

विवेचना अधिकारी बीएम दुबे ने बताया कि पूछतांछ में आरोपियों ने महामाया वेयर हाउस की मूल बिल्टी जमा नही कर दो व्यापारियों के पास गिरवी रखी थी। दुबे ने बताया कि व्यापारी अतुल मालवीय शोभापुर से बिल्टी गिरवी रखकर आरोपियों ने १० लाख वसूले वही द्वारका प्रसाद सोडानी से १७ लाख १० हजार रुपए लिए है।
कर्मचारी की मिलीभगत से हुआ खेल

महामाया वेयर हाउस में धोखाधड़ी में पकड़ाया आरोपी चंद्रशेखर वेयर हाउस का कर्मचारी रहा है इसने दो साथियों के साथ प्लानिंट कर वेयर हाउस की मूल बिल्टी जमा नही कर उसे गिरवी रख कर रुपए वसूली का फर्जीबाड़ा शुरु किया था लेकिन वेयर हाउस संचालक की शिकायत के बाद इनका पर्दाफाश हो गया। और भी व्यापारी इनके शिकार हो सकते है लेकिन चेहरा नाम उजागर होने के डर से अभी सामने कोई नही आया है।
इनका कहना है

आरोपियों की गिरफ्तारी कर न्यायालय से तीनों को एक दिन की रिमांड पर लिया गया है पूछतांछ में और जानकारी निकलकर सामने आएगी। बिल्टिया बरामद हो गई है दो व्यापारियों को बिल्टी गिरवी रख राशि वसूली है।
प्रवीण कुमरे,टीआई मंगलवारा थाना

Show More
बृजेश चौकसे
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned