आवास योजना में लापरवाही बरतने वाले २७ सचिव, रोजगार सहायकों और सब इंजीनियरों को काम के आधार पर मिलेगा वेतन

आवास योजना में लापरवाही बरतने वाले २७ सचिव, रोजगार सहायकों और सब इंजीनियरों को काम के आधार पर मिलेगा वेतन

Manoj Kundoo | Publish: Sep, 10 2018 09:22:03 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

जनपद होशंगाबाद के ४९ पंचायतों में स्वीकृत ७६१ में से ४५४ आवास बने, १२ पंचायतों में ७० प्रतिशत भी नहीं हुआ पीएम आवास का काम

होशंगाबाद. महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के तहत बनने वाले पीएम आवासों में जमकर लापरवाही हो रही है। जनपद पंचायत होशंगाबाद के ४९ पंचायतों में स्वीकृत ७६१ आवासों में से अब तक ४५४ का काम पूरा हुआ है। इसके अलावा ३०७ आवासों की वर्क प्रोग्रेस बहुत धीमी है। हालात यह हैं कि १२ पंचायतों में तो निर्माण कार्य ७० प्रतिशत से भी कम हुआ है। मामले में कलेक्टर और जिला पंचायत सीईओ ने सभी सचिवों, रोजगार सहायकों और सब इंजीनियरों को काम की प्रोग्रेस के मुताबिक वेतन देने का पत्र जारी कर दिया है। उल्लेखनीय है कि जिले में वर्ष २०१६ से अब तक ३७२८६ पीएम आवास स्वीकृत किए गए। इनमें से २००५६ पूर्ण हैं। १३७२३ बन रहे हैं, जबकि ३५०७ का निर्माण कार्य अभी शुरू ही नहीं कराया गया। इसके अलावा १८६४८ कार्यों का ९० दिवस की मजदूरी का भुगतान भी किया जाना है।

देना होगा स्पष्टीकरण
कलेक्टर प्रियंका दस ने पंचायत सचिवों और रोजगार सहायकों को निर्देश दिए कि २१ अगस्त को प्रदर्शित सभी तीसरी किश्त प्राप्त पीएम आवास के हितग्राहियों को ९० दिन की मजूदरी का भुगतान २१ सितंबर तक कराया जाए। नहीं तो २४ सितंबर को जिला पंचायत सभागार में होने वाली समीक्षा बैठक में स्पष्टीकरण के साथ हाजिर हों।
२७ सचिव और सब इंजीनियरों को नोटिस
पीएम आवास योजना के काम में लापरवाही बरतने वाले होशंगाबाद जनपद के ४९ पंचायतों में से २७ पंचायत सचिवों और पांच इंजीनियरों को जिला पंचायत और कलेक्टर ने नोटिस दिया है। जिसमें निर्देश दिए गए हैं कि जहां जितने प्रतिशत काम हुआ, वहां के सचिव और उनके सब इंजीनियरों को उतना प्रतिशत वेतन ही दिया जाए।

इन पंचायतों में निर्माण की हालत खराब
सोनासांवरी, लोहारियाकला, निमसाडिय़ा, खरखेड़ी, बोरतलाई, नानपा, रैसलपुर, रामपुर, भीलाखेड़ी, तारारोड़ा, बम्हनगांव कला, तालनगरी।
यहां हुआ ८० प्रतिशत तक काम
मोहारी, मेहराघाट, बेहराखेड़ी, आवारी, बाईखेड़ी, रोझड़ा, डोलरिया, बीसारोड़ा, ब्यावरा, बुधवाड़ा, मेहरागांव, निटाया, उंद्राखेड़ी, खेड़ला, गुनौरा।
इन पंचायतों की बेहतर स्थिति
रायपुर, चिल्लई, गुर्रा, पर्रादेह, पाहनवर्री, डोंगरवाड़ा, कांद्राखेड़ी, रढ़ाल, आमुपुरा, मिसरौद, सिलारी, साकेत, बड़ोदिया, दमदम, पालनपुर, रोहना, पांजराकला, सांबलखेड़ा, जासलपुर, शैल, पवारखेडा फार्म, कुलामड़ी।

इनका कहना है...
पीएम आवास के निर्माण और उनकी मजदूरी भुगतान में लापरवाही करने वाले सचिवों, रोजगार सहायकों और सब इंजीनियरों को निर्देश दिए गए हैं। काम के प्रतिशत के आधार पर ही उनका वेतन आहरण होगा।
-पीसी शर्मा, सीईओ जिला पंचायत होशंगाबाद।

Ad Block is Banned