कैटेगिरी के भंवर में फंसे ४१ हजार किसान

कैटेगिरी के भंवर में फंसे ४१ हजार किसान

Rahul Saran | Publish: Mar, 17 2019 12:20:44 PM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

-जय किसान फसल ऋण माफी योजना की हकीकत

-अटका ७४ करोड़ से ज्यादा का भुगतान

 

राहुल शरण, होशंगाबाद। होशंगाबाद जिले में फसल ऋण माफी योजना के तहत किसानों की ऋण माफी का काम किया जा रहा है। ऋणमाफी के लिए जिले में किसानों को तीन कैटेगिरी में बांट दिया गया है। कैटेगिरी के इस भंवर में जिले के करीब ४१ हजार किसान फंसे हुए हैं। इन किसानों का ७४ करोड़ रुपए से भी ज्यादा भुगतान रुका हुआ है। तीनों कैटेगिरी में फंसे इन हजारों किसानों के खाते में राशि नहीं आई है। किसानों को ऋण माफ करने के मैसेज भर मिले हैं। राशि मिलने में की जा रही देरी और थोपे जा रहे नियमों से किसान संगठनों में भी नाराजी है। विधानसभा चुनाव २०१८ के पहले कांग्रेस ने २ लाख रुपए तक का सभी किसानों का कर्जा माफ करने की घोषणा की थी। घोषणा के समय कांग्रेस ने किसानों की कोई कैटेगिरी तय नहीं की थी। अब कैटेगिरी से ऋण माफी का सिस्टम लागू होना हजारों किसानों के लिए समस्या बन गया है।

अभी सिर्फ ५० हजार तक पर फोकस

इस योजना के तहत पहली कैटेगिरी में ५० हजार से कम ऋण वाले किसानों को रखा गया है। इन किसानों को कर्ज राशि माफ होने का मैसेज भी मिल चुका है। ५० हजार से ज्यादा वाले जो किसान रह गए हैं उनके लिए आचार संहिता अड़ंगा बन गई है। अब इन किसानों को तब तक राशि का भुगतान नहीं हो पाएगा जब तक लोकसभा चुनाव की आचार संहिता नहीं हट जाती है।इन दो कैटेगिरी में फंसे हैं हजारों किसानजिन दो कैटेगिरी को सामने रखकर ऋण माफी की जा रही है उनमें १० साल पुराने खातों पर ५० प्रतिशत राशि ही माफ होगी। इसी तरह २ साल पुराने खातों पर केवल ७५ फीसदी ऋण राशि ही शासन माफ करेगा। बाकी की राशि बैंक और संबंधित सोसायटी को वहन करना होगी।

यह है फॉर्मूला

-वर्ष २००७ से ३१ मार्च २०१७ कालातीत यानी एनपीए खातों पर शासन ५० फीसदी व बैंक प्रबंधन ५० फीसदी राशि वहन करेगा।

- १ अप्रैल २०१७ से कालातीत खातों पर शासन ७५ फीसदी व बैंक संस्थान २५ फीसदी राशि वहन करेंगे।

- १ अप्रैल २०१८ व उससे पहले के नियमित लेनदेन वाले खातों पर पूरी १०० फीसदी राशि शासन वहन करेगा।

यह है अब तक की स्थिति

कालातीत यानी एनपीए खातों पर नजर

स्वीकृत एनपीए किसानों की कुल संख्या-११७६१

स्वीकृत की गई कुल राशि- ३१ करोड़ ६४ लाख ३१ हजार

भुगतान ले चुके एनपीए किसानों की संख्या-८२४

इन किसानों को भुगतान की गई राशि-५ करोड़ ३ लाख ६७ हजार

बाकी रह गए एनपीए किसानों की संख्या-१०९३७

अकालातीत यानी पीए खातों पर नजर

स्वीकृत पीए किसानों की कुल संख्या-२४७१४

स्वीकृत की गई कुल राशि-५७ करोड़ २२ लाख ५५ हजार

भुगतान ले चुके पीए किसानों की संख्या-३३२२

इन किसानों को भुगतान की गई राशि-९ करोड़ ४९ लाख ६० हजार

बाकी रह गए पीए किसानों की संख्या-३१३९२

किसने क्या कहा

पहले किसानों की कोई कैटेगिरी तय नहीं हुई थी। अब किसानों को कैटेगिरी में बांटकर ऋण माफी का लाभ देने की बात हो रही है। उसमें भी अब तक हजारों किसानों के खाते में राशि ही नहीं आई है। किसानों को केवल मैसेज ही मिले हैं। शासन को कैटेगिरी सिस्टम हटाकर सीधे ही किसानों को लाभ देना चाहिए।

हरपाल सिंह सोलंकी, जिलाध्यक्ष राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ

शासन ने जो गाइड लाइन निर्धारित की है उसके हिसाब से ही प्रक्रिया का संचालन हो रहा है। कोई भी किसान ऋण माफी योजना के लाभ से वंचित नहीं रहेगा।

जीतेंद्र सिंह उप संचालक कृषि होशंगाबाद

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned