बासमती की खुशबू से महक उठी मंडी

पिपरिया मंडी को प्राप्त है ए क्लास का दर्जा, रायसेन छिंदवाड़ा जिले के किसान भी आते हैं फसल लेकर

By: poonam soni

Published: 15 Nov 2018, 07:07 PM IST

पिपरिया. कृषि उपजमंडी में बुधवार को बासमती धान की बंफर आवक हुई। इसके चलते पूरा मंडी परिसर बासमती धान की खुश्बू से महक उठा। मंडी में अन्य जिंसों की भी आवक रही तो वही मक्के की आवक भी अच्छी हो रही है। उल्लेखनीय है कि नगर की कृषि उपज मंडी ए क्लास का दर्जा प्राप्त मंडी है। यहां पिपरिया ब्लॉक के ग्रामों के किसानों के साथ-साथ रायसेन, छिंदवाड़ा जिले के किसान भी अपनी उपज बेचने आते हैं। बुधवार को कृषि उपज मंडी में लगभग 50 हजार बोरी बासमती धान की आवक रही। बासमती की खुश्बू से मंडी परिसर महक रहा था।

धान की बंपर आवक के कारण मंडी परिसर के गेट पर किसानों की धान से भरी ट्रेक्टर ट्राली लाईन में खडी थी जो अपनी बारी का इंतजार कर रही थी। मंडी प्रबंधन ने किसानों को गेटपास दिए जिससे मंडी परिसर में जाम की स्थिति न बने और किसान अपनी उपज आसानी से बेंच सके। वहीं मंडी में मक्का की भी आवक अच्छी होने के कारण मंडी प्रबंधन ने किसानों की सुविधा को देखते हुए प्रथम शेड व खुले मैदान में मक्का की नीलामी की गई। मंडी में पूसा बासमती धान का रेट 2750 से 2850 रुपए प्रति क्विंटल की दर से नीलामी की गई। वहीं 1121 बासमती धान 3100 से 3200 रुपए प्रति क्विंटल की दर से नीलामी की गई।

 

अंधेरे में होती है तुलाई
कृषि उपज मंडी को ए क्लास का दर्जा तो प्राप्त है लेकिन कई व्यवस्थाएं मंडी परिसर में नहीं है। मंडी परिसर में जिंसों की आवक ज्यादा होने के कारण देर रात तक तौल प्रक्रिया व परिवहन का कार्य चलता है जिसमें मंडी परिसर के अंदर व बाहर बने शेडों पर लाइट की व्यवस्था न होने के कारण तुलावटी अंधेरे में तुलाई व भराई का कार्य करते है जिससे दुघर्टना हो सकती है मंडी के हम्मालों ने इसकी सूचना मंडी प्रबंधन को दी है पर अभी तक कई शेडों पर लाईट की मंडी प्रबंधन ने व्यवस्था नहीं की है।
1. मंडी परिसर में करीब 50 हजार बोरी बासमती धान की आवक हुई है। मुझे लाइट की जानकारी नही है, जानकारी लेकर तत्काल जिन शेडो पर लाइट की व्यवस्था नही है जल्द ही उसका निराकरण किया जाएगा।
मंडी सचिव, नरेश परमार

poonam soni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned