दो करोड़ रुपए की वसूली के लिए 500 को भेजा नोटिस

दो करोड़ रुपए की वसूली के लिए 500 को भेजा नोटिस

sandeep nayak | Publish: Dec, 07 2017 11:31:21 AM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

रसूखदार भी हैं बकायदार, जुर्माने में रियायत का ऐलान फिर भी नहीं कर रहे जमा

पिपरिया. नगर पालिका पिपरिया को टैक्स के दो करोड़ रुपए वसूलने में पसीने छूट रहे हैं। इन बकायदारों में कई रसूखदार और पावरफुल लोग भी शामिल हैं। जिन्हें नोटिस देना तो दूर उनके नाम उजागर करने तक से बचा जा रहा है। नपा ने 500 बकायदारों को नोटिस भेजे हैं। जिन्हे नेशनल लोक अदालत के माध्यम से एक मौका दिया जा रहा है कि वे जुर्माने की राशि छोड़कर अपना टैक्स जमा कर सकें। इन बकायदारों में जलकर, संपत्ति कर से लेकर अन्य कर शामिल हैं।
सूत्र बताते हैं कि इनके ऐसे भी बकायदार हैं जो दशकों से पेयजल की सुविधा ले रहे हैं लेकिन उसका कर जमा नहीं कर रहे हैं। शहर के रसूखदार होने के कारण नपा उनके कनेक्शन काटने की भी हिम्मत नहीं कर पा रही है। इन बकायदारों की सूची काफी लंबी है। इन्हें पहले भी कई बार टैक्स जमा करने के लिए नोटिस भेजे गए लेकिन उन्होंने कोई दिलचस्पी नहीं ली। नपा कर्मचारियों ने घर पर जाकर भी बकाया जमा करने का कहा, फिर भी जमा नहीं किया गया। अब उदघोषणा के माध्यम से बकायादारों से ९ दिसंबर को परिषद में लग रही नेशनल लोक अदालत में उपस्थित होकर कर जमा करने कहा जा रहा है। साथ ही इसमें उन्हें जुर्माने में छूट देने की बात भी बताई जा रही है। चिन्हित बकायादारों को नोटिस भेजकर भी सूचना दी गई है।
१९९७ से जमा नहीं किया टैक्स
नगरपालिका रिकॉर्ड के अनुसार जल कर का १९९७ से उपभोक्ताओं ने जमा नही किया है। बड़े बकायादारों पर करीब १० से १५ हजार का कर बाकी है। इसी तरह सम्पत्ति कर को जमा करने में भी नागरकों की रुचि नहीं है।
सवा करोड़ रुपए का सम्पत्ति कर बकाया
राजस्व निरीक्षक पुरुषोत्तम पटेल के अनुसार नगरपालिका परिषद के अंतर्गत शहर में कुल ११ हजार ५०० रिहायशी मकान दर्ज है। ४५०० नल कनेक्शन है। जलकर के उपभोक्ताओं पर ८० लाख से अधिक की राशि बकाया है जो जमा नही की गई है। करीब १ करोड़ २५ लाख की सम्पत्ति और समेकित कर का बकाया है।
&दो करोड़ से अधिक का कर उपभोक्ताओं पर बकाया है। नोटिस जारी कर नेशनल लोक अदालत में बकाया जमा करने निर्देशित किया है। उपभोक्ता की पैनल्टी एक मुश्त बकाया जमा करने पर माफ रहेगी। इसके बाद आगे नियमानुसार बकायादारो के खिलाफ कार्रवाई होगी।
राजीव जायसवाल, नपाध्यक्ष

Ad Block is Banned