गेहूं खरीदी...रकबे के अनुसार बनेंगे खरीदी केंद्र, 11,500 मीट्रिक टन भंडारण का भेजा प्रस्ताव

पिपरिया बनखेड़ी में 39 खरीदी केंद्रों की हो रही मैपिंग, 10 किमी के गांव के लिए बनेगा खरीदी केंद्र

By: govind chouhan

Published: 19 Mar 2020, 06:54 PM IST

पिपरिया. सरकारी गेहूं खरीदी केंद्रों को अंतिम रूप देने प्रशासन विशेष सतर्कता बरत रहा है। पिपरिया बनखेड़ी में मैपिंग का काम प्रत्येक गांव की दूरी, किसानों की संख्या, पहुंच मार्ग और भण्डारण क्षमता पर्याप्त हो इस दिशा में काम चल रहा है। पूर्व में खरीदी केंद्रों को लेकर किसानों के असंतोष को देखते हुए इस साल १० किमी क्षेत्र के गांव के किसानों को केंद्रों से जोड़ा जा रहा है।
इस साल किसानों की संख्या और दूरी के अनुसार खरीदी केद्रों पर रकबे के अनुसार पहले से ही गेहूं खरीदी का स्टॉक बढ़ाया जा रहा है। पूर्व में ७५00 मीट्रिक टन के मान से केंद्रों पर गेहूं खरीदी क्षमता रहती थी इस साल खाद्य विभाग ने केंद्र के गेहूं खरीदी क्षमता को ११ हजार ५०० मीट्रिक टन गेहूं खरीदी का प्रस्ताव जिला प्रशासन को भेज दिया है। प्रस्ताव के अनुसार ही केंद्र निर्धारित होंगे। खरीदी केंद्र मैपिंग के बाद उस क्षेत्र के किसानों को गेहूं बेचने आवागमन में कोई परेशानी नहीं आएगी। पूर्व में केंद्रों की दूरी को लेकर खरीदी के बीच किसान असंतोष जताते थे अब खरीदी नियमों के तहत १० किमी क्षेत्र के सभी किसानों को केंद्र में शामिल किया जाएगा इससे असंतोष की स्थिति नहीं बनेगी।

३९ केंद्र पर २५ मार्च से शुरु होगी खरीदी
सरकार गेहूं खरीदी के लिए पिपरिया ब्लॉक में १९ और बनखेड़ी में २० खरीदी केंद्रों पर २५ मार्च से गेहूं खरीदी शुरू होगी। पिपरिया में कुल किसान पंजीयन १० हजार ८३५ है वहीं बनखेड़ी में किसान पंजीयन ९ हजार ४४३ दर्ज है।

निगरानी समितियां गठित
पिपरिया -बनखेड़ी ब्लॉक में गेहूं खरीदी के लिए पर्यवेक्षक दल, निगरानी, निरीक्षण समितियों का गठन खाद्य विभाग ने कर लिया है। राजस्व, कृषि एवं अन्य विभागीय अधिकारियों को समिति में शामिल कर उनके मोबाइस नंबर सूचीबद्ध हो गए हैं। खरीदी शुरू होने पर निर्धारित समितियां अपना कार्य शुरु करेंगी।

तीन बड़ी सहकारी समितियों के अतिरिक्त केंद्र का प्रस्ताव भेजा
पिपरिया ब्लॉक में कुल ८ सहकारी समितियां हैं नियमानुसार एक समिति को एक अतिरिक्त केंद्र बनाने की अनुमति है। लेकिन रामपुर २१ गांव, देवगांव २७ गांव और तरौनकलॉ समिति से ३४ ग्राम जुड़े होने से यहां दो केंद्र पर्याप्त नहीं है। खाद्य विभाग ने इन तीन समितियों के लिए तीन-तीन केंद्र बनाए जाने का प्रस्ताव भेजा है। गाड़ाघाट, खापरखेड़ा, धनाश्री, सेमरीतला, सांडिया समिति के दो-दो खरीदी केंद्र बनेंगे।

इनका कहना है
गेहूं खरीदी केंद्र पर मैपिंग अंतिम दौर में है। दो प्रस्ताव खरीदी केंद्रों के संबंध में भेजे गए हैं। बड़ी समितियों में तीन-तीन केंद्र बनाने का प्रस्ताव दिया है। इस साल खरीदी केंद्र किसानों की सुविधाओं को देखते हुए मैप किए जा रहे हैं।
आशीष बाथम, कनष्ठि आपूर्ति अधिकारी

govind chouhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned