आखिर अंतरराज्यीय सागौन तस्कर कैसे बच निकले वन विभाग के हाथ से.....

-बैतूल से राजस्थान जा रहा था अवैध सागौन से भरा ट्रक
-मुख्य आरोपी बुलेरो छोड़कर जंगल में भागे
-ट्रक ड्राइवर गिरफ्तार,
-अंतरराज्यीय गिरोह है शामिल

By: krishna rajput

Published: 20 Jan 2020, 08:00 AM IST

इटारसी. वन विभाग को एक बड़ी सफलता हासिल की है। अवैध सागौन की तस्करी करते हुए ट्रक बरामद किया गया है। ट्रक चालक को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि इस मामले में मुख्य आरोपी अपनी बुलेरो कार छोड़कर जंगल में भाग गए हैं। वन विभाग के अनुसार इसमें अंतरराज्यीय गिरोह शामिल है।
एक ट्रक सागौन का अवैध परिवहन करते रविवार को दोपहर में सहेली ढाबा के पास पकड़ा गया है। पकड़े गए ट्रक का ट्रक ड्राइवर राजस्थान जोधपुर निवासी रामप्रसाद बालाराम को गिरफ्तार कर लिया गया है। इसके साथ क्लीनर भी था। ट्रक सहेली ढाबा पर खड़ा मिला था।
- मुख्य आरोपी जंगल में भागे
सागौन से भरे ट्रक की निगरानी के लिए एक बुलेरो कार ट्रक के आगे चल रही थी। इसमें मुख्य आरोपी हरदा के कांकरिया निवासी शंकर विश्नोई और गोकुल थे। इन आरोपियों ने अपने आप को घिरता देख बुलेरो कार ग्यारहमुखी हनुमान मंदिर के पास खड़ी की और जंगल में भाग गए हैं।
- हर मोड़ पर खड़े था वन विभाग स्टाफ
रेंजर एनएस चौहान ने बताया कि ट्रक की सूचना मुखबिर से मिली थी। इसलिए बैतूल से लेकर इटारसी तक वन विभाग का स्टाफ हर मोड पर तैनात था। ट्रक को पकड़ लिया गया लेकिन सूचना के अनुसार बुलेरो कार की घेराबंदी की करनी चाही। पथरौटा थाने के सामने जैसे ही बुलेरो कार को रोकना चाहा तो कार मोड़कर आरोपी वापस बैतूल की तरफ भागे। बागदेव के पास भी स्टाफ खड़ा देखा तो आरोपियों ने ग्यारहमुखी हनुमान मंदिर के पास बुलेरो को खड़ा करके फरार हो गए।
- अंतरराज्यीय गिरोह है शामिल
सागौन की तस्करी में अंतरराज्यीय गिरोह शामिल है। सागौन बैतूल से जोधपुर ले जायी जा रही थी। गिरोह में अभी और भी कौन लोग शामिल थी मुख्य आरोपियों के हाथ में आने के बाद सामने आएगा। पकड़ी गई सागौन की कीमत २० लाख रुपए बताई जा रही है।

एक ट्रक पकड़ा गया है। इस ट्रक में सागौन की तस्करी की जा रही थी। इस मामले में अंतरराज्यीय गिरोह शामिल है। अभी मुख्य आरोपी फरार हो गए हैं।
अजय पांडे, डीएफओ होशंगाबाद

krishna rajput
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned