एक और नया कोरोना पॉजिटिव मिला, होशंगाबाद के डॉ. सिंघल कोरोना संदिग्ध

अब तक 25 मरीज ठीक हुए 9 अभी भी पॉजिटिव है

By: poonam soni

Published: 10 May 2020, 04:15 PM IST

इटारसी/होशंगाबाद. इटारसी में रविवार को फिर एक कोरोना पॉजिटिव मरीज मिला है। यह मरीज इटारसी नाला मोहल्ले का है जिसका नाम शेख मनसूर है। वहीं बंगलिया इलाके में भी कोरोना संदिग्ध होने के कारण उसे सील कर दिया गया है। जानकारी के अनुसार यहां 47 वर्षीय रेल कर्मचारी को निमोनिया हुआ है। मरीज का कोरोन सैंपिल लिया गया है। यहां होशंगाबाद में जिला अस्पताल के दंत रोग विशेषज्ञ डॉ.अखिलेश सिंघल के कोरोना सैंपल लिए गए हैं। जिसके बाद होशंगाबाद स्टाफ में हडकंप मच गया। डॉ.सिंघल अस्पताल में मैनेजमेंट का पार्ट भी देखते हैं। जिसके कारण वो लगातार स्टॉफ और अधिकारियों के संपर्क में रहते हैं। सैंपल के बाद डॉ.सिंघल को क्वारंटाइन कर दिया गया है। इसके अतिरिक्त 2 सैंपल इटारसी और 3 सैंपल सेकंड रीपिट पवारखेडा से लिए गए हैं। ऐसे कुल मिलाकर 6 सैंपल लिए गए हैं।

होशंगाबाद में नोडल डॉ.रोहित को बनाया
डॉ.सुनील जैन पर काम की अधिकता के कारण जिला अस्पताल में नोडल डॉ.रोहित शर्मा को बनाया गया है। जिला अस्पताल में कोरोना के आने वाले मरीजों की व्यवस्थाएं पूर्ण रूप से डॉ.शर्मा देखेंगे।

एक और कोरोना संक्रिमित स्वस्थ
कोविड़ केयर सेंटर पवारखेड़ा से शनिवार को 1 मरीज को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज कर दिया गया है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर जैसानी ने बताया कि कोविड़ केयर सेंटर पवारखेड़ा से डिस्चार्ज किए गए मरीज को 14 दिनों के लिए होम क्वारेंटाइन किया जाएगा। कंटेंटमेंट एरिया हाजी मोहल्ला निवासी मोहम्मद अहसान को पवारखेड़ा से डिस्चार्ज किया गया। अब तक 25 मरीज ठीक हो गए हैं। 8 अभी भी पॉजिटिव है।


इंदौर से आया कोरोना संदिग्ध मचा हडकंप
पिपरिया. शनिवार को इंदौर से तीन कोरोना संदिग्ध युवकों के पिपरिया पहुँचने से हडकंप मच गया। प्रशासन ने एक को सरकारी अस्पताल में आइसोलेट कर दिया है, दो अन्य की तलाश की जा रही है। इंदौर में रहने वाले तीन युवक बाइक से शनिवार दोपहर पिपरिया पहुंचे। एक युवक ने बस स्टैंण्ड क्षेत्र में स्थानीय कपिल शर्मा से भोजन की मदद मांगते बताया कि वह कोराना संदिग्ध है। इसलिए उसे सरकारी अस्पताल मेडिकल के लिए पहुंचा दे। लोगों ने इसकी जानकारी एसडीएम मदन सिंह रघुवंशी को दी गई। तत्काल अधीनस्थ स्टॉफ सहित पीपीई किट पहनाकर भेजा गया। युवक को पहले अस्थाई आइसोलेशन केंद्र छात्रावास ले जाया गया। यहां युवक को भोजन कराया। तहसीलदार राजेश बोरासी बताया कि युवक का हाइ रिस्क कोराना टेस्ट इंदौर में 7 मई को हुआ है, इसकी रिपोर्ट 10 मई को आना है। पिपरिया बीएमओ डॉ.एके अग्रवाल ने युवक तापमापन लिया तो वह सामान्य आया है। जानकारी के अनुसार कोराना संदिग्ध का कहना है कि वह बरेली मागरौल गांव का रहने वाला है, इंदौर में जॉब करता है। इसके बाद पिपरिया अस्पताल को दो बार सैनेटाइज किया गया।

इंदौर के संदिग्ध कोरोना मरीज को घर वालों ने रखने से किया इनकार
इंदौर से आए संदिग्ध कोराना मरीज का मेडिकल कर बीएमओ ने उसके घर मागरौल भेजा लेकिन उसके परिजन और गांव वालों ने उसको गांव में प्रवेश देने से इंकार कर दिया। संदिग्ध मरीज वापस सरकारी अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में ही भर्ती है। बीएमओ डॉ.एके अग्रवाल ने बताया कि संदिग्ध का सैम्पल इंदौर में हो चुका है उसकी रिपोर्ट आना बाकी है वर्तमान में मरीज की जांच में कोई लक्षण कोराना संबंधित नही मिले है इसलिए उसे आइसोलेशन में ही निगरानी में रखा गया है।

एडिशनल कलेक्टर,एसपी ने किया दौरा
इंदौर से संदिग्ध कोराना युवकों के नगर में प्रवेश होने पर शनिवार शाम एडिशनल कलेक्टर और एडिशनल एसपी ने नगर का दौरा किया। अधिकारियों ने सरकारी अस्पताल पहुंच कोराना को लेकर की गई व्यवस्थाओं की जानकारी ली। एडिशनल कलेक्टर ने गेहूं खरीदी केंद्रों का निरीक्षण कर गेहूं उपार्जन को तेज करने एवं परिवहन पर अधिक ध्यान देने अधिकारियों को निर्देशित किया। वही एडिशनल एसपी ने एसडीओपी और टीआई को चैक पोस्टों पर निगरानी सख्त करने निर्देशित किया। कोई भी व्यक्ति नगर सीमा में प्रवेश करे उसका पूरा ब्यौरा रखने एवं उन्हें कोरंटाइन प्राथमिकता से करने के निर्देश दिए।

फैक्ट फाइल
557 कुल सैंपल
36 कुल पॉजिटिव
476 कुल नेगेटिव
54 लम्बित सैंपल
22 कुल डिस्चार्ज
03 कुल मौत

poonam soni
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned