scriptArrangements are not made, how will the arson stop, lack of tanker | इंतजाम जुटे नहीं, कैसे रूकेगी आगजनी, टैंकर-दमकलों की कमी | Patrika News

इंतजाम जुटे नहीं, कैसे रूकेगी आगजनी, टैंकर-दमकलों की कमी

गांवों की संख्या के हिसाब से टैंकर और दमकलें कम, हो चुकी है पांच जगहों पर आगजनी,बिजली के शार्ट सर्किट व तारों की स्पार्किंग से भी बढ़ रही जिले में खेतों में आग की घटनाएं

होशंगाबाद

Published: March 29, 2022 11:53:45 am

नर्मदापुरम. जिले में गेहूं की हार्वेस्टरों व मजदूरों से कटाई के साथ ही खेतों को गर्मी की मूंग की बोवनी के लिए बखरने व नरवाई को हटाने के दौरान आगजनी की घटनाएं बढ़ गई है, लेकिन आगजनी को रोकने के लिए पुख्ता तैयारियां व इंतजाम नहीं हो सके हैं। जिले में सिर्फ नरवाई जलाने पर प्रतिबंधात्मक आदेश लागू हुआ है। कई स्थानों पर टैंकर व दमकलें खड़ी हुई है। इनमें सुधार व पानी ही नहीं भरा जा रहा है। पंचायतों में भी तैयारियां नहीं हो पाई है। नपा क्षेत्र की दमकलों के भरोसे आग बुझाने के प्रयास जारी है। बता दें कि जिले में बीते एक पखवाड़े में चार से पांच आगजनी की घटनाएं हो चुकी है, जिसमें खड़ी फसल भी जलकर नष्ट हुई है। नरवाई की आग से खेती की ऊपजाऊ जमीन व पर्यावरण को नुकसान के साथ ही किसानों मेहनत पर भी पानी फिर रहा और आर्थिक क्षति भी उठानी पड़ रही है।

जिला मुख्यालय पर सिर्फ 2 पुरानी दमकलें
जिला मुख्यालय पर ही नगरपालिका के पास सिर्फ दो दमकलें ही है वह भी पुरानी हो चुकी है। आए दिन इसमें सुधार कराना पड़ता है। फायर स्टेशन से इन दमकलों को जिला प्रशासन एवं पुलिस कंट्रोल रूम की सूचना व आदेश पर जिले में आगजनी वाले स्थानों पर दौड़ाया जाता है। पेयजल संकट के समय क्षेत्रों में पेयजल परिवहन वाले 4-5 टैंकर हैं, इन्हें भी आग बुझाने में लगाना पड़ता है। यही स्थिति तहसील स्तर की सिवनीमालवा, पिपरिया, इटारसी, सोहागपुर, माखननगर की दमकलों की भी बनी हुई है। यहां भी इक्का-दुक्का ही दमकलें मौजूद हैं। दूरस्थ व दुर्गम स्थानों व ऊबड़-खाबड़ संकरे रास्तों पर ये दमकलें नहीं पहुंच पाती है।

बिजली के झूलते तारों में नहीं हुआ सुधार
जिले में गर्मी के मौसम में आगजनी का एक कारण खेतों के बीच से झूलते बिजली के तार भी है। हवा के साथ तारों में स्पार्किंग व डीपी जलने से भी खड़ी फसल व नरवाई में आगजनी की घटनाएं ज्यादा हो रही है। अभी तक जो आगजनी की घटनाएं सामने आई है उसमें यही कारण सामने आए हैं। किसान भी कई बार झूलते तारों व लाइनों में सुधार की मांग कर चुके हैं, लेकिन मार्च माह बीतने पर भी सुनवाई नहीं हो पाई है। ऐसे में आगामी अप्रेल, मई माह में आगजनी को घटनाओं को रोकना मुश्किल हो जाएगा।
इंतजाम जुटे नहीं, कैसे रूकेगी आगजनी, टैंकर-दमकलों की कमी
इंतजाम जुटे नहीं, कैसे रूकेगी आगजनी, टैंकर-दमकलों की कमी
इन स्थानों पर हो चुकी आगजनी की घटनाएं
जिले में गेहूं कटाई के शुरूआती दौर में ही चार से पांच स्थानों पर खेतों में खड़ी फसल में आगजनी से नुकसान की घटनाएं हो चुकी है। जिसमें सिवनीमालवा, इटारसी-केसला, पिपरिया आदि तहसील के गांव शामिल हैं। शिवपुर के अर्चना गांव में बिजली के शॉर्ट सर्किट से 25 एकड़ खड़ी गेहूं की फसल, ग्राम बासनिया में सब स्टेशन से लगे खेत व ग्राम नवलगांव में 5 एकड़ खड़ी फसल जलकर नष्ट हो चुकी है। खेतों के साथ ही जंगलों में भी आगजनी शुरू हो गई है। बीते दिवस कलेक्टे्रट के हर्बल पार्क में भी बांसों में आग लग गई थी। रसूलिया में भी खेत में नुकसान हो चुका है।

पंचायतों में एक से दो टैंकर उपलब्ध
जिले में कुल 431 पंचायतें हैं, जिसमें एक से दो पानी के टैंकर उपलब्ध होना बताए गए हैं। इन टैंकरों में लगने वाले टै्रक्टरों में खराबी व मेंटेनेंस की समस्या बनी हुई है। नलजल योजनाएं भी कई जगहों पर बंद होने पानी की कमी की समस्या है। ट्यूबवेल पंप हाउस से काम चलाना पड़ रहा है। जिला पंचायत से प्राप्त जानकारी के मुताबिक पंचायतों में टैंकरों की संख्या करीब 700-800 है। लेकिन पंचायतों से जुड़े गांवों की संख्या टैंकरों के अनुपात में काफी ज्यादा है। किसानों ने पंचायतों में टैंकरों की संख्या को बढ़ाने की मांग की है, ताकि खेतों व नरवाई में आगजनी को तत्काल रोका जा सके।

इनका कहना है...
हमारे पास फायर स्टेशन पर दो दमकलें मौजूद हैं, जिन्हें प्रशासन व पुलिस कंट्रोल रूम की सूचना व आदेश पर आग बुझाने के लिए घटना स्थलों पर भेजा जाता है।
-सुनील तिवारी, फायर स्टेशन प्रभारी नगरपालिका नर्मदापुरम।

जिले में कुल 431 पंचायतें हैं, जिसमें करीब 700-800 पानी के टैंकर उपलब्ध हैं। पंचायतों को जुड़े गांवों में आगजनी को काबू पाने अलर्ट किया गया है। जल स्त्रोतों पर टैंकर चालू हालत व इसमें पानी भरे रखने के निर्देश दिए गए हैं।
-मनोज सरियाम, सीईओ जिला पंचायत नर्मदापुरम।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

IPL 2022 MI vs SRH Live Updates : रोमांचक मुकाबले में हैदराबाद ने मुंबई को 3 रनों से हरायामुस्लिम पक्षकार क्यों चाहते हैं 1991 एक्ट को लागू कराना, क्या कनेक्शन है काशी की ज्ञानवापी मस्जिद और शिवलिंग...जम्मू कश्मीर के बारामूला में आतंकवादियों ने शराब की दुकान पर फेंका ग्रेनेड,3 घायल, 1 की मौतमॉब लिंचिंग : भीड़ ने युवक को पुलिस के सामने पीट पीटकर मार डाला, दूसरी पत्नी से मिलने पहुंचा थादिल्ली के अशोक विहार के बैंक्वेट हॉल में लगी आग, 10 दमकल मौके पर मौजूदभारत में पेट्रोल अमेरिका, चीन, पाकिस्तान और श्रीलंका से भी महंगाकर्नाटक के राज्यपाल ने धर्मांतरण विरोधी विधेयक को दी मंजूरी, इस कानून को लागू करने वाला 9वां राज्य बनाSwayamvar Mika Di Vohti : सिंगर मीका का जोधपुर में हो रहा स्वयंवर, भाई दिलर मेहंदी व कॉमेडियन कपिल शर्मा सहित कई सितारे आए
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.