एएसपी ने किया ट्रेन लूट घटनास्थल का निरीक्षण

एएसपी ने किया ट्रेन लूट घटनास्थल का निरीक्षण

yashwant janoriya | Publish: Sep, 07 2018 06:44:18 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

जांच के लिए दो टीमें बनाईं, सशस्त्र नकाबपोश बदमाशों ने दो सुपर फॉस्ट ट्रेनों में की थी लूटपाट

इटारसी. इटारसी से खंडवा जाने वाले रूट पर भिरंगी के पास चार लुटेरों ने तीन यात्री ट्रेनों को टारगेट कर लूट की वारदात को अंजाम दिया था। लुटेरे दो ट्रेनों में लूट करने में सफल रहे थे और तीसरी ट्रेन को लूटने में उनका प्रयास विफल हो गया था। घटना के बाद से जीआरपी और आरपीएफ में हड़कंप मचा हुआ है। गुरूवार को भोपाल से अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीतू सिंह डाबर ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। एएसपी नीतू सिंह डाबर ने जीआरपी के अधिकारियों के साथ भिरंगी के पास स्थित घटनास्थल का निरीक्षण किया और पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली। इटारसी आने के बाद उन्होंने मीडिया से भी चर्चा की। एएसपी डाबर ने बताया कि ट्रेनों में वारदात करने वाले आरोपियों की सरगर्मी से तलाश की जा रही है। इस मामले में दो टीमें गठित की गई हैं। एक टीम खंडवा से और दूसरी टीम इटारसी से बनाई गई है जो इस मामले में आरोपियों का सुराग लगाने में जुट गई है। जल्द ही इस मामले में आरोपियों का पता लग जाएगा।
सशस्त्र नकाबपोश बदमाशों ने दो सुपर फॉस्ट ट्रेनों में की थी लूटपाट- भिरंगी रेलवे स्टेशन के पास मंगलवार की रात हथियारों से लैस नकाबपोश पांच बदमाशों ने एक के बाद एक दो सुपरफास्ट ट्रेनों में लूटपाट की थी। बदमाश भुसावल से ट्रेन में सवार हुए थे, जिसे रास्ते में लूटपाट कर उतर गए। इसके बाद सिग्नल में छेड़छाड़ कर दूसरी ट्रेन रोकी और लूटपाट कर भाग गए। अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका कि कितने यात्रियों से लूटपाट की है। पुलिस ने फिलहाल दो यात्रियों से 75 हजार रुपए लूटे जाने की पुष्टि की है। पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने एक अन्य ट्रेन को भी रोकने की कोशिश की थी लेकिन सफल नहीं हुए। लूटपाट के बाद बदमाश, यात्रियों के बैग और मोबाइल रेलवे पटरी किनारे फेंककर भाग गए। बदमाशों की संख्या पांच थी और वे उद्योगनगरी एक्सप्रेस १२१७३ में भुसावल से चढ़े थे। लूट की वारदात उद्योग नगरी के ए-1 कोच के साथ दो अन्य कोचों में और ०१६५५ पुणे-जबलपुर एक्सप्रेस के बी-4 कोच में हुई थी। इनमें से १२१७३ लोतिट-लखनऊ उद्योग नगरी का स्टॉपेज इटारसी में नहीं होने से यह ट्रेन सीधे भोपाल के लिए रवाना कर दी गई। वहां पर जीआरपी कंट्रोल को मैसेज कर दिया गया। इधर ०१६५५ पुणे-जबलपुर एक्सप्रेस जब सुबह करीब 4 बजे इटारसी पहुंची। दोनों ट्रेनों से करीब ७५ हजार रुपए की लूट की गई है। एक अन्य ट्रेन 12147 कोल्हापुर एक्सप्रेस को भी लाल सिग्नल के जरिए लूटने की कोशिश की थी। लेकिन ड्राइवर ने ट्रेन को रोका नहीं। आरोपियों के संबंध में साक्ष्य और जानकारी जुटाने के लिए खिरकिया चौकी प्रभारी पीडी दंडोतिया सहित दल भुसावल रवाना हुआ। बताया जा रहा है कि लुटेरों ने सिग्नल उठाने के लिए पटरी के किनारे लगे सिग्नल को हरे के स्थान पर लाल किया था, जिससे ट्रेन रूक गई थी। उन्होंने इसके लिए लाल रंग की पॉलिथीन का प्रयोग किया, जो घटनास्थल से बरामद हुई है।

Ad Block is Banned