पूर्व सरपंच से भिड़ गए विधानसभा अध्यक्ष, फिर ऐसे चले शब्दों के तीर

Brijesh Chouksey

Publish: Jun, 14 2018 03:34:41 PM (IST)

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India
पूर्व सरपंच से भिड़ गए विधानसभा अध्यक्ष, फिर ऐसे चले शब्दों के तीर

अध्यक्ष ने कहा था- मैं, सरपंच से अच्छा, पूर्व सरपंच ने किया पलटवार- तीन बार जीता हूं

इटारसी.विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरण शर्मा और मेहरागांव के पूर्व सरपंच राकेश चंदेले भिड़ गए। शुरूआत डॉ. शर्मा ने खुद की तुलना पूर्व सरपंच से करते हुए की। उन्होंने खुद को सरपंच से बेहतर बताया, वह भी उसी के गांव में। इस पर पूर्व सरपंच कहां चुप रहने वाला था, उसने भी अध्यक्ष को आइना दिखा दिया। बोला- मैं, तीन बार चुनाव जीता हूं। डॉ. शर्मा बता दें, बीस साल में क्या किया।
दरअसल विधानसभा अध्यक्ष बुधवार को मेहरागांव स्कूल भवन के भूमिपूजन कार्यक्रम में पहुंचे थे। मेहरागांव स्कूल भवन के अलावा पांजरा, रंढाल, रोहना और मेहरागांव में हायर सेंकडरी स्कूलों के लिए चार करोड़ और निमसाडिय़ा, पुरानी इटारसी में हाईस्कूल के लिए भी राशि स्वीकृत हुई है। भूमिपूजन कार्यक्रम में सरपंच जितेन्द्र पटेल, सुनीता मेषकर, जयकिशोर चौधरी, पंकज चौरे, राहुल चौरे, हरीश चोलकर सहित अन्य मौजूद थे। विस अध्यक्ष ने कार्यक्रम में कहा कि जो जहां काबिज है उसे पट्टे दिए जाएंगे।

इस पर हुई तकरार
कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष ने खुद को सच्चा नेता बताते हुए कहा कि एक पूर्व सरपंच राकेश चंदेले थे। तब लोग मुझसे कहते थे, सरपंच नहीं मिलता, आप मिल जाते हो। मैं, तब भी कहता था, मेरे पास २०३ गांव है। उसके पास तो एक ही है। फिर बोले- मैं आपके बीच २५ वर्षों से आ रहा हूं। झूठ बोलता नहीं। तब भी आप लोगों से विधायक ज्यादा मिलता था। मैं तब भी कहता था मैं तो आपके पास बार-बार आता हूं और बार-बार आऊंगा। इस पर पूर्व सरपंच राकेश चंदेले ने पलटवार करते हुए कहा कि मैं, तीन बार इसी ग्राम पंचायत से सरपंच चुना गया। मैंने कुछ तो जनता के लिए किया होगा तभी तो लोगों ने मुझे जिताया। जनता से नहीं मिलता था तो तीन बार ऐसे ही थोड़ी जीत गया। फिर बोले-डा. शर्मा, बता दें उन्होंने बीस साल में क्या काम करवाएं।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned