पार्टी कार्यालय से बाहर निकले तो बदले विस अध्यक्ष और नपाध्यक्ष के सुर

Manoj Kundoo

Publish: Dec, 07 2017 12:16:32 (IST) | Updated: Dec, 07 2017 12:16:33 (IST)

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India
पार्टी कार्यालय से बाहर निकले तो बदले विस अध्यक्ष और नपाध्यक्ष के सुर

संगठन ने ली क्लास, कहा- अब नहीं होना चाहिए सार्वजनिक बयानबाजी

होशंगाबाद। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीताशरण शर्मा और नपा अध्यक्ष अखिलेश खंडेलवाल के बीच चल रहे विवाद का बुधवार को संगठन ने पटाक्षेप कर दिया। भाजपा कार्यालय में दोनों की दो घंटे बंद कमरे में क्लास ली। हिदायत दी कि भविष्य में सार्वजनिक रूप से एक-दूसरे के खिलाफ कोई बयानबाजी नहीं करेंगे। मीडिया के सामने तो कतई नहीं। मीडिया से जो भी बात करना होगी, वह जिलाध्यक्ष करेंगे। विवाद के जो भी कारण हैं, वह संगठन स्तर पर सुलझाए जाएंगे। इसके बाद दोनों आगे पीछे बाहर आए, लेकिन बाहर आते ही डॉ. शर्मा ने नपा अध्यक्ष खंडेलवाल का हाथ पकड़ा ओर मुस्कुराते हुए बोले-हम साथ-साथ हैं।
भाजपा जिला कार्यालय में बुधवार को शर्मा और खंडेलवाल को तलब किया गया था। उन दोनों के बीच लगातार विवाद की शिकायतें संगठन को मिल रही थी। मीडिया में भी सुर्खियां बन रही थी। इससे पहले भी संगठन ने दोनों को सार्वजनिक रूप से बोलने का मना किया था। लेकिन उसका असर नहीं हुआ। एक दिन पहले खंडेलवाल ने कलेक्टर से मुलाकात कर इतवारा बाजार में कब्जा कर बैठे टप वालों को हटाने में मदद की गुहार की थी। टप व्यवसायी विधानसभा अध्यक्ष की सह पर वहां बैठे हुए हैं। एक भवन को लेकर भी दोनों के बीच विवाद सामने आया था। इससे पहले खंडेलवाल ने सोशल मीडिया पर कमेंट्स किया था जिसके जवाब में डॉ. शर्मा ने प्रेसवार्ता में खंडेलवाल को अपना घर संभालने की नसीहत दी थी। वे नपा की कार्यप्रणाली को लेकर भी सार्वजनिक रूप से कटाक्ष कर चुके थे। इन सब बातों पर संगठन ने ऐतराज जताया। भाजपा कार्यालय में संगठन मंत्री श्याम महाजन के कमरे में दोनों को सामने बिठाकर बात की गई। इस बैठक में जिला अध्यक्ष हरिशंकर जायसवाल और जिला भाजपा प्रभारी हेमंत खंडेलवाल भी मौजूद थे। सवा सात बजे शुरू हुई बैठक रात नौ बजे तक चली। सूत्र बताते हैं कि महाजन ने दोनों से साफ कहा कि अब वे सार्वजनिक रूप से एक-दूसरे के खिलाफ कुछ नहीं बोलेंगे। इससे पार्टी की छवि खराब हो रही है। पब्लिक में भी गलत संदेश जा रहा है। जो भी एक-दूसरे से शिकायत हैं पार्टी फोरम पर करें। टप व्यवसायियों सहित जो भी विवाद हैं आपस में बैठकर सुलझाएं। इसमें जिलाध्यक्ष मध्यस्तता करेंगे। दोनों को एक साथ बिठाकर गिले-शिकवे दूर करने का भी कहा गया है।

एक घंटे करना पड़ा इंतजार
जिला भाजपा कार्यालय में बैठक का समय शाम ६ बजे तय किया गया था। विस अध्यक्ष ६ बजकर १० मिनट पर पहुंच गए थे। विधानसभा अध्यक्ष ने कार्यालय में प्रवेश करते हुए कार्यकर्ता सुनील राठौर से इशारे में (अखिलेश खंडेलवाल के बारे में) पूछा- आ गए क्या ? राठौर ने सिर ना में हिलाते हुए बताया कि कुछ देर पहले ही बात हुई है। भोपाल से लौट रहे हैं, औबेदुल्लागंज तक पहुंच गए हैं। नगरपालिका अध्यक्ष अखिलेश खंडेलवाल भोपाल गए हुए थे, वे करीब एक घंटे की देरी से कार्यालय पहुंचे और सीधे संगठन मंत्री के कक्ष में दाखिल हो गए।
संगठन के साथ करेंगे निरीक्षण
टप व्यवसायियों की समस्या का निराकरण दोनों की सहमति से संगठन कराएगा। इसके लिए जिलाध्यक्ष के साथ विधानसभा अध्यक्ष और नपा अध्यक्ष गुरुवार को निरीक्षण करेंगे। उनसे चर्चा कर उचित विस्थापन कराएंगे। जो भी अन्य विवादित मुद्दे हैं, उन्हेंं संगठन खुद मौके पर जाकर देखेगा।

 

फटकार का असर, चुप्पी साध ली
बैठक समाप्त होने के बाद खंडेलवाल पहले बाहर निकले। पीछे से डॉ. शर्मा आए। नपा अध्यक्ष ने बैठक के बारे में पूछने पर चुप्पी साध ली, लेकिन डॉ. शर्मा ने कहा कि संगठनात्मक चर्चा हुई है और इसी संबंध में बैठक थी। जिलाध्यक्ष हरिशंकर जायसवाल ने कहा कि बैठक में शहर विकास से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की गई।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned