आडियो वायरल: एसडीएम तीन दिन में जांच कर देंगे रिपोर्ट

कलेक्टर के नाम पर पांच लाख की वसूली का मामला, कटघरे में खाद्य विभाग के अफसर

होशंगाबाद। कलेक्टर के नाम पर की जा रही पांच लाख की कथित मांग के मामले में शनिवार को जांच के आदेश दे दिए गए। एसडीएम आदित्य रिझारिया तीन दिन में मामले की जांच कर रिपोर्ट देंगे। इसके बाद दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी। इधर व्यापाारी संगठन भी पहली बार खाद्य विभाग के खिलाफ खुलकर सामने आ गया है। व्यापारियों ने एक ज्ञापन सौंपकर खाद्य विभाग के अधिकारियों को सस्पेंड करने और उनके इशारे पर कथित रूप से वसूली करने वाले व्यापारी पर केस दर्ज करने की मांग की है। इस संबंध में मुख्य सचिव को भी शपथ पत्र के साथ शिकायत भेजी गई है।

खाद्य अधिकारियों की काल रिकार्डिंग की जांच हो

ज्ञात रहे कि खाद्य विभाग की अधिकारी लीना नायक ने शुक्रवार को व्यापारी मोहित बडानी के यहां छापामार कार्रवाई की थी। इसके बाद आगे की कार्रवाई नहीं करने के बदले में एक व्यापारी ने पांच लाख रुपए की मांग की थी। इसका एक आडियो वायरल हुआ था। इसके बाद प्रशासन हरकत में आया। आडियो में कलेक्टर के नाम से किराना व्यापारी भीम मुन्यार द्वारा बडानी को चमकाया जा रहा था। इस मामले में शनिवार को व्यापारी संगठन कलेक्टर को ज्ञापन देने पहुंचा था, जो एडीएम जेपी माली ने लिया। व्यापारी संघ ने आरोप लगाया कि किराना व्यापारी भीम मुन्यार के माध्यम से खाद्य विभाग के अधिकारी व्यापारियों से अवैध वसूली करते हैं। दोनों अधिकारियों को सस्पेंड कर आडियो की निष्पक्ष जांच की जाए। उनकी काल रिकार्डिंग भी चेक की जाए।

कलेक्टर के नाम पर पांच लाख की वसूली का ऑडियो वायरल, मचा हड़कंप

13-14 साल से पदस्थ है जिला खाद्य अधिकारी

इस पर एडीएम ने उन्हें आश्वस्त किया कि तीन दिन में एसडीएम से जांच कर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी। ज्ञापन देने होशंगाबाद व्यापारी महासंघ, किराना व्यापारी संघ के साथ पीडि़त मोहित बडानी भी गए थे। उन्होंने एक स्टांप पर ब्लैक मेलिंग की शिकायत की है। इसकी एक शिकायत मुख्य सचिव को भी भेजी गई है। साथ ही कार्रवाई के दौरान अधिकारियों से हुई बातचीत के आडियो सौंपे हैं। पीडि़त व्यापारी का आरोप है कि कार्रवाई करने पहुंची अधिकारी लीना नायक ने यह कहते हुए उन्हें शिवराज पावक से मिलने को कहा था, अभी कच्ची लिखापढ़ी की है। शिवराज पावक ने ही उन्हें भीम मुन्यावर से बात करने का कहा था। जिसके प्रमाण यह आडियो रिकार्डिंग है। जिला खाद्य अधिकारी शिवराज पावक पिछले एक दशक से भी अधिक समय से यहां पदस्थ हैं।

Show More
बृजेश चौकसे
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned