बाल विवाह की चल रहीं थीं तैयारियां, मौके पर जाकर महिला बाल विकास विभाग ने रोका

शहर में एक और बाल विवाह रूकवाने का मामला सामने

By: poonam soni

Published: 25 Apr 2018, 03:44 PM IST

होशंगाबाद। शहर में इस वक्त हर जगह शादीयों का माहौल है। वहीं कुछ दिनों में बाल विवाह के कई मामले सामने आए है। ऐसे में शहर में एक और बाल विवाह रूकवाने का मामला सामने आया है। ये बाल विवाह महिला बाल विकास विभाग की टीम द्वारा रूकवाया गया। मामला बसंत टॉकीज के पास का बताया जा रहा है। इस क्षेत्र में एक नाबालिग की शादी करने की तैयारियां चल रहीं थी। जिस पर महिला एवं बाल विकास अधिकारी धमेन्द्र अग्रवाल व पर्यवेक्षक सुचित्रा राजावाद द्वारा नाबालिग के खिलाफ पंचनामा बनाया गया है। जानकारी के अनुसार महिला एवं बाल विकास अधिकारी को गुप्त सुचना मिली थी। नाबालिग लड़की का विवाह दो दिन बाद था। लड़की के परिवार में केवल उसकी माँ है। अधिकारियों की टीम को सूचना मिलने पर मौके पर जाकर लड़की पक्ष को समझाइश दी गई। जिसपर उन्होने सहमति जताई। महिला बाल विकास अधिकारी ने समझाइश देकर लड़की व परिवार के खिलाफ पंचनामा बनाया गया है।

 

परिवार को लड़के परिवार की नही जानकारी
महिला बाल विकास विभाग द्वारा बताया गया कि नाबालिग लड़की की माँ विकलांग है। लड़की की उम्र स्कूल मार्कशीट के हिसाब से ११ साल है। वहीं सबसे अजीब बात यह है कि लड़की के परिवार वालों को लड़के परिवार की कोई भी जानकारी नही है। उसका विवाह भोपाल में रह रहे लड़के साथ किया जा रहा था।

टीम करेगी मानिटरिंग
बाल विवाह को लेकर महिलाबाल विकास टीम ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एवं सहायिका द्वारा तीन दिन तक नाबालिग के घर की मानिटरिंग की जाएगी। ताकि यह शादी नही कर सके।
साथ ही 18 वर्ष पूर्ण होने पर विवाह करने का भरोसा दिलाया। टीम ने पंचनामा तैयार कर किया।

बनखेड़ी. अंधियार बावड़ी वार्ड १५ में आदिवासी आदर्श सामूहिक विवाह सम्मेलन आयोजित किया गया। सम्मेलन में ५१ जोड़े आदिवासी रीति रिवाज से परिणय सूत्र में बंधे। आदिवासी गुरु ने मंत्रोच्चारण विधि विधान से विवाह संपन्न कराए। समिति के नारायण सिंह कुरवैती, टीकाराम कुबरे, चंदन सिंह परते, शंकरलाल सल्लाम, रघुराज उइके पार्षद, कमलाबाई पार्षद, कमलेश परते,हेमराज एवं जनप्रतिनिध उपस्थित रहे।

poonam soni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned