गुटबाजी का असल : चुनाव सिर पर, 275 नियुक्तियां नहीं कर पाया भाजपा संगठन

गुटबाजी का असल : चुनाव सिर पर, 275 नियुक्तियां नहीं कर पाया भाजपा संगठन

Sandeep Nayak | Publish: Oct, 14 2018 07:00:00 AM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

नर्मदापुरम संभाग के हाल : शाह कह रहे हैं- इस बार का विधानसभा चुनाव लड़ेगा संगठन

होशंगाबाद। मध्यप्रदेश भाजपा संगठन देश में सबसे मजबूत है। यह खुद पार्टी का शीर्ष नेतृत्व मानता है। यही वजह है कि भोपाल में हुए कार्यकर्ता महाकुंभ में राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने ऐलान किया था कि जिस संगठन को राजमाता विजयाराजे सिंधिया, कुशाभाऊ ठाकरे और प्यारेलाल खंडेलवाल ने गढ़ा है, इस बार उनके नाम पर संगठन मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव लड़ेगा। लेकिन नर्मदापुरम संभाग में संगठन की स्थिति ही दयनीय है। गुटबाजी चरम पर है। संभागीय मुख्यालय होशंगाबाद में ही संगठन सवा २७५ नियुक्तियां नहीं कर पाया। उसे पार्टी में एससी-एसटी वर्ग का एक नेता नहीं मिला, जिसे जिला महामंत्री बना सके।


संगठन के यह पद हैं खाली

- होशंगाबाद: जिला महामंत्री की नियुक्ति नहीं। सौ सदस्यीय कार्यकारिणी में न तो सदस्य बनाए और न ही स्थायी एवं विशेष आमंत्रित सदस्यों की नियुक्ति की।

- मंडल: एक मंडल अध्यक्ष का पद रिक्त। पहले 1२ मंडल हुआ करते थे, जिन्हें बढ़ाकर इस बार 1७ कर दिया गया। केसला मंडल अध्यक्ष ओमप्रकाश यादव एक भाजपा कार्यकर्ता को गोली मारने के आरोप में जेल में हैं। पार्टी ने उन्हें पदमुक्त कर दिया है। आदिवासी बहुल क्षेत्र का यह मंडल तीन विधानसभा क्षेत्र होशंगाबाद, सिवनी मालवा और सोहागपुर को प्रभावित करता है फिर भी खाली है।

- अंत्योदय समिति: अब तक जिला अंत्योदय समिति का गठन नहीं हुआ।
- एल्डरमैन: नगर पालिका में चार और नगर पंचायत में दो-दो एल्डरमैन नियुक्त होते हैं। होशंगाबाद नपा के गठन को लगभग चार साल हो गए, यहां संगठन चार नियुक्तियां नहीं कर पाया। इसी तरह जिले की दोनों नगर पंचायत में भी दो-दो एल्डरमैन के पद रिक्त हैं।

- मोर्चा: युवा मोर्चा, महिला मोर्चा और अल्पसंख्यक मोर्चा की भी पूरी टीम नहीं बन पाई। इसी वजह से युवा मोर्चा के नगर अध्यक्ष वैभव सोलंकी को पिछले दिनों हटाकर उसकी जगह राजदीप हाडा को अध्यक्ष बना दिया गया था। आरोप था कि सोलंकी कार्यकारिणी ही नहीं बना पा रहे थे। जबकि सोलंकी का आरोप था कि संगठन नहीं बनाने दे रहा था। महिला मोर्चा केसला और शिवपुर मंडल में नियुक्तियां नहीं कर पाया। अल्पसंख्यक मोर्चा भी तीन मंडल का गठन नहीं कर पाया।

- जिला प्रबंध समिति: सांसद, विधायक, पूर्व विधायक, जिलाध्यक्ष और प्रदेश से मनोनीत सदस्यों वाली इस महत्वपूर्ण समिति का गठन भी एक महीने पहले बमुश्किल किया गया।

 

 

बूथ पर भी नहीं बने ग्रुप

पार्टी अध्यक्ष शाह ने गुजरात की तर्ज पर हर बूथ पर 25 यूथ का एक वाट्सएप ग्रुप बनाने का कहा था। लेकिन यहां उसका भी पालन नहीं हो सका।

 

निष्कासितों पर निर्णय नहीं
भाजपा संगठन अपने ही निष्कासित जनप्रतिनिधियों और कार्यकर्ताओं की घर वापसी पर फैसला नहीं कर पा रहा है। करीब एक दर्जन लोग पार्टी में वापसी की आस लगाए बैठें हैं। इनमें दो पार्षद हैं। जबकि इनकी वापसी की अनुशासन समिति भी सिफारिश कर चुकी है।

 

हरदा में नहीं बने एल्डरमैन

संभाग के हरदा जिला मुख्यालय की नगर पालिका में भी एल्डरमैन की नियुक्ति नहीं हो पाई है। इसके पीछे नेताओं की आपसी खींचतान बताई जा रही है। हरदा ब्लाक में भी समिति नहीं बन पाई है। भाजपा जिला अध्यक्ष अमर सिंह मीणा के मुताबिक संगठन में किसी भी तरह का पद रिक्त नहीं है।

 

 

गुटबाजी चरम पर

जिला भाजपा में गुटबाजी भी चरम पर है। पूरी भाजपा दो गुटों में बटी हुई है। खुद संभागीय संगठन मंत्री श्याम महाजन असंतुष्टों से खुले मंच पर संवाद कर रहे हैं। पिछले दिनों अग्निहोत्री गार्डन में दूसरे गुट की बैठक ली। जिन्होंने सर्वजनिक रूप से स्थानीय विधायक डॉ. सीताशरण शर्मा के खिलाफ बयान दिए और उनका टिकट काटने की वकालत की। उनके परिवार पर भी गंभीर आरोप लगाए। खुद महाजन ने अपने बयानों से उसे हवा देने की कोशिश की। इससे पहले इटारसी में असंतुष्टों की बैठक ले चुके थे।


किसने क्या कहा

साठ लोगों की कार्यकारिणी होती है। लगातार कार्यक्रमों के चलते महामंत्री और कार्यकारिणी की घोषणा नहीं हो पाई है। सबसे चर्चा कर जल्द गठन कर घोषणा कर दी जाएगी। एल्डरमैन और जिला अंत्योदय समिति के लिए नाम तय कर शासन को भेज दिए थे। शासन स्तर से नियुक्तियां नहीं हो पाई हैं।
हरिशंकर जायसवाल, जिलाध्यक्ष भाजपा

नियुक्तियां नहीं करने के कारण हमने होशंगाबाद नगर मंडल अध्यक्ष को बदला है। उसकी पुरानी कार्यकारिणी काम कर रही है। अन्य सभी नियुक्तियां हो चुकी हैं।

प्रांशू राणे, जिलाध्यक्ष युवा मोर्चा
'14 मंडलों का गठन किया जा चुका है। सिर्फ तीन मंडलों में नियुक्तियां नहीं हो पाई हैं।

मुर्तजा खान, जिलाध्यक्ष अल्पसंख्यक मोर्चा

 

केसला और शिवपुर मंडल में नियुत्यिां नहीं हो पाई हैं। अन्य सभी मंडलों में हम अपनी टीम बना चुके हैं।
ललिता पुराविया, जिलाध्यक्ष महिला मोर्चा

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned