अस्पताल में स्ट्रीट लाइट के बाद भी ब्लैक आउट

अस्पताल में स्ट्रीट लाइट के बाद भी ब्लैक आउट
blackout-even-after-street-light-in-hospital

Manoj Kumar Kundoo | Updated: 21 Aug 2019, 09:25:09 PM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

ट्रांसफार्मर का केबल जलने के बाद से जिला अस्पताल की बंद पड़ी स्ट्रीट लाइटें

 

होशंगाबाद
जिला अस्पताल में ५० स्ट्रीट लाइट होने के बावजूद ब्लैक आउट है। अस्पताल परिसर के बिजली ट्रांसफार्मर का दो दिन पहले केबल जल गया था। जिसके बाद से ही स्ट्रीट लाइटें नहीं जल रही है। शाम होते ही अस्पताल परिसर और अस्पातल के पीछे बने सरकारी आवास अंधेरे में डूब जाते हैं। जिससे यहां रहने वाले स्वास्थ्य कर्मचारी और अस्पताल आने-जाने वाले मरीज व उनके रिश्तेदार परेशान हो रहे हैं। उल्लेखनीय है कि अस्पताल में २४ घंटे सातों दिन बिजली उपलब्ध कराने बिजली सबस्टेशन भी बनाया जा रहा है। इसी योजना के तहत पूरे परिसर में ५० बिजली खंभे लगाए गए। इसके अलावा बिजली सबस्टेशन के लिए ३३केवीए क्षमता के दो ट्रांसफार्मर में भी लगा दिए गए हैं। जिस पर करीब ७० लाख रुपए खर्च हुआ है। पैनल रूम बनने के बाद अस्पताल को यह सुविधा मिलेगी।

इनका कहना है...
बिजली लाइन में फाल्ट की वजह से स्ट्रीट लाइटें बंद है। हम जांच कराकर स्ट्रीट लाइट चालू करवा रहे हैं। पैनल रूम बनने के बाद बिजली सबस्टेशन भी चालू होगा।
-प्रशांत बाजपेयी, उपयंत्री इलेक्ट्रिकल विभाग पीडब्ल्यूडी।

 

 

 

 

 

 

 

 

अस्पताल में स्ट्रीट लाइट के बाद भी ब्लैक आउट
ट्रांसफार्मर का केबल जलने के बाद से जिला अस्पताल की बंद पड़ी स्ट्रीट लाइटें

होशंगाबाद
जिला अस्पताल में ५० स्ट्रीट लाइट होने के बावजूद ब्लैक आउट है। अस्पताल परिसर के बिजली ट्रांसफार्मर का दो दिन पहले केबल जल गया था। जिसके बाद से ही स्ट्रीट लाइटें नहीं जल रही है। शाम होते ही अस्पताल परिसर और अस्पातल के पीछे बने सरकारी आवास अंधेरे में डूब जाते हैं। जिससे यहां रहने वाले स्वास्थ्य कर्मचारी और अस्पताल आने-जाने वाले मरीज व उनके रिश्तेदार परेशान हो रहे हैं। उल्लेखनीय है कि अस्पताल में २४ घंटे सातों दिन बिजली उपलब्ध कराने बिजली सबस्टेशन भी बनाया जा रहा है। इसी योजना के तहत पूरे परिसर में ५० बिजली खंभे लगाए गए। इसके अलावा बिजली सबस्टेशन के लिए ३३केवीए क्षमता के दो ट्रांसफार्मर में भी लगा दिए गए हैं। जिस पर करीब ७० लाख रुपए खर्च हुआ है। पैनल रूम बनने के बाद अस्पताल को यह सुविधा मिलेगी।

इनका कहना है...
बिजली लाइन में फाल्ट की वजह से स्ट्रीट लाइटें बंद है। हम जांच कराकर स्ट्रीट लाइट चालू करवा रहे हैं। पैनल रूम बनने के बाद बिजली सबस्टेशन भी चालू होगा।
-प्रशांत बाजपेयी, उपयंत्री इलेक्ट्रिकल विभाग पीडब्ल्यूडी।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned