बारिश में रुका डाउन ट्रैक पर बन रहे बायपास का काम, अप ट्रैक पर बायपास बनाने के लिए हो रहा मिट्टी परीक्षण

बारिश में रुका डाउन ट्रैक पर बन रहे बायपास का काम, अप ट्रैक पर बायपास बनाने के लिए हो रहा मिट्टी परीक्षण

Manoj Kumar Kundoo | Publish: Sep, 16 2018 08:01:35 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 08:01:36 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

100 करोड़ का डाउन और 250 करोड़ से बनेगा अप रेल लाइन पर बॉयपास ट्रैक, थ्रू और मालगाडिय़ों का रेलवे स्टेशन पर होगा दबाब कम

इटारसी. पवारखेड़ा से जुझारपुर तक बनने वाले 11.350 किमी लंबे बायपास रेलवे ट्रैक का काम बारिश के कारण अटका हुआ है। बारिश के बाद तेजी से काम शुरू होगा। रेलवे अब पवारखेड़ा से पथरौटा नहर के पास से जुझारपुर तक नागपुर रेलवे लाइन को जोडऩे के लिए 15 किमी अप रेल लाइन पर भी बॉयपास ट्रैक बनाएगी। इसके लिए सर्वे किया जा चुका है। फिलहाल चिन्हित स्थानों पर मिट्टी की टेस्टिंग चल रही है। इस परियोजना पर रेलवे 250 करोड़ रुपए खर्च करेगी। अप रेलवे बॉयपास ट्रैक के लिए रैसलपुर, सोनासांवरी, इटारसी, घाटली, पथरौटा, देहरी और जुझारपुर के भूमिस्वामियों को भूमि अधिग्रहण की कार्रवाई के लिए नोटिस जारी किए जा चुके हैं।
बॉयपास ट्रैक से ये होंगे फायदे
बायपास रेलवे ट्रैक बनने से भोपाल से नागपुर की तरफ आने और आने वाली सभी थ्रू ट्रेनों को चलाया जाएगा। इसके अलावा मालगाडिय़ों को भी सीधे इसी ट्रैक से चलाया जाएगा। जिसका सबसे ज्यादा फायदा इटारसी स्टेशन को होगा। स्टेशन पर आने वाली थ्रू ट्रेनों का दबाव कम होगा। इससे ट्रेनों को आउटर पर रोकने की समस्या खत्म होगी।
अगले साल पूरा होगा डाउन ट्रैक का काम
पवारखेड़ा से जुझारपुर तक बन रहे डाउन ट्रैक का काम अलग-अलग जगहों पर चल रहा है। बारिश के कारण पिछले दो महीने से काम बंद है। इससे पहले मुआवजा वितरण नहीं होने के कारण ग्रामीणों ने बोरतलाई गांव के पास नदी पर बन रहे ब्रिज के काम को रोक दिया था।

फैक्ट फाइल
परियोजना 01: पवारखेड़ा-इटारसी बॉयपास डाउन ट्रैक
लागत : 100 करोड़ रुपए
लंबाई : 11.350 किमी
बड़े ब्रिज : 02
छोटे ब्रिज : 09
अंडरब्रिज : 09
इन गांव की जमीन अधिग्रहित
जुझारपुर, बोरतलाई, मेहरागांव, गौंची तरौंदा, साकेत, ब्यावरा, देहरी।

परियोजना 02: पवारखेड़ा-जुझारपुर बॉयपास अप ट्रैक
लागत : 250 करोड़ रुपए
लंबाई : 15 किमी
बड़े ब्रिज : 02
छोटे ब्रिज : 18
इन गांव की जमीन अधिग्रहित
रैसलपुर, सोनासांवरी, इटारसी, घाटली, पथरौटा, देहरी, जुझारपुर।

इनका कहना है...
डाउन ट्रैक का काम हमने ही शुरू करवाया था। वर्ष 2011 से डाउन ट्रैक पर बॉयपास बनाने का काम चल रहा है। अप ट्रैक भी स्वीकृत हो चुका है। इससे इटारसी स्टेशन को फायदा होगा।
-मतीन खान, पूर्व प्रोजेक्ट इंचार्ज बॉयपास ट्रैक।
बारिश की वजह से डाउन ट्रैक पर बॉयपास का काम फिलहाल रुका हुआ है। अप ट्रैक पर बॉयपास बनाने की प्रारंभिक कार्रवाई चल रही है। सीमांकन हो गया है, भूमि अधिग्रहण की प्रोसेस चल रही है।
-एके पांडे, प्रोजेक्ट इंचार्ज बॉयपास ट्रैक।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned