इन राशि वालों के लिए खुशखबरी लेकर आ रहा है यह हिंदू नवसंवत्सर, जरूर पढ़ें अपनी राशि

इन राशि वालों के लिए खुशखबरी लेकर आ रहा है यह हिंदू नवसंवत्सर, जरूर पढ़ें अपनी राशि

Sandeep Nayak | Publish: Mar, 14 2018 02:22:51 PM (IST) | Updated: Mar, 16 2018 07:56:07 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

इस बार राजा सूर्य, मंत्री शनि और द्वारपाल होंगे शुक्रदेव

होशंगाबाद। चैत्र नवरात्रि एवं हिंदु नवसंवत्सर २०७५ की शुरूआत १८ मार्च से होगी। इस नवीन संवत्सर का नाम विरोधकृत होगा। जो रूद्रविंशतिका का ५वां संवत्सर है। इसके स्वामी चंद्र है। ज्योतिशीय गणना के अनुसार ब्रम्हा, विष्णु व रूद्र विशंतिका के अंतगत २०-२० संवत्सर आते है। आचार्य सोमेश परसाई ने बताया कि कुल ६० संवत्सर होते है, जिसमें यह इस वर्ष का नवसंवत्सर ४५वां संवत्सर है। इससे आकाशीय मंत्रिमंडल भी प्रभावित होगा। नया आकाशीय मंत्रिमंडल अपना कार्यभार संभालेगें। प्रकाश के देवता सूर्य राजा का ताज पहनेंगे। वहीं न्याय का देवता शनि मंत्री एवं द्वारपाल शुक्रदेव होगें। वित्तमंत्रालय की जिम्मेदारी इस वर्ष चंद्रदेव के पास होगी। आचार्य सोमेश परसाई ने बाताया कि इस दिन ध्वजारोहण, आम के पत्ते, रांगोली बनाकर मंगलकामना करते हंै। साथ ही नीम की पत्ती, हींग, जीरा, अजवाइन, कालीमिर्च की चटनी बनाकर खाने से साल भर निरोगी होते है।

सर्वार्थ सिद्धी के खास योग में होगा नवरात्र
चैत्र नवरात्र का शुभारंभ और समापन पर खास योग होगा। नवरात्रि का शुभारंभ रविवार को होगा। जिसमें सर्वार्थ सिद्धी योग के शुभ योग बन रहा है। वहीं समापन भी रविवार को होगा। इस दिन सुबह से लेकर रात्रि तक शुभ मुहुर्त हैं। समापन पर रामनवमी का शुभ मुहुर्त रहेगा।

राशियों में यह संकेत
मेष- रूके हुए कार्य में सफलता के संयोग
वृषभ- उन्नति की राह आसान
मिथुन- स्वास्थ्य पर ध्यान देना होगा
कर्क- व्यवसाय में समझदारी से निवेश करें
सिंह- शुभ कार्यों के अवसर मिलेेंगे
कन्या-जॉब में प्रगति की उम्मींद
तुला- कार्य में रूकावट आ सकती है
वृश्चिक- यात्रा व व्यापार के बढ़ोतरी
शनि- यात्रा व व्यापार में वृद्धि के आसार
धनु- शिक्षा में व्यवधान हो सकता है
मकर-यात्रा के प्रबल योग
कुम्भ- शत्रु पर विजय प्राप्त होगी
मीन- भवन आदि नए निर्धारित की उम्मीद।
यह रहेंगे मुहूर्त
आचार्य परसाई के अनुसार १८ मार्च को घटस्थापना के मुहुर्त सुबह ७.३० बजे से १२.०० बजे तक, दोप. १.३० से ३.०० बजे एवं शाम ६.०० से रात्रि १०.३० बजे तक शुभ मुहुर्त रहेगा। इस समय कलश, ध्वजारोहण आदि शुभ कार्य कर सकते हैं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned