इस बार अशुभ योग में है चंद्रग्रहण, जानें किस राशि पर होगा कैसा प्रभाव

कई लोगों को हो सकता है नुकसान

By: sandeep nayak

Published: 24 Jul 2018, 01:31 PM IST

होशंगाबाद। 27 जुलाई को साल का दूसरा चंद्रग्रहण है। यह ग्रहण खग्रास चंद्रग्रहण होगा। जिसे पूरे देश में देखा जा सकेगा। इस बार चंद्रग्रहण अशुभ योग में होने से कई लोगों को नुकसान हो सकता है। अशुभ योग के बनने के कारण इसे ज्योतिष में शुभ नहीं माना जा रहा है। ऐसे में लोगों को बेहद सावधानी बरतनी होगी।

उषा नक्षत्र में मकर राशि पर खग्रास चंद्रग्रहण
आचार्य पं. गोपाल प्रसाद खड्डर ने बताया कि आषाढ़ पूर्णिमा की रात उषा नक्षत्र मकर राशि पर खग्रास चंद्रग्रहण है। 27 जुलाई को इसका स्पर्शकाल रात्रि 11 बजकर 54 मिनट मध्य रात्रि 1 बजकर 52 मिनट एवं मोत्र रात्रि 3 बजकर 49 मिनट पर होगा। ग्रहण 3 घंटे 55 मिनट का होगा। जिसे पूरे देश में एक साथ देखा जा सकेगा।

इस समय लगेगा ग्रहण को सूतक
ग्रहण का सूतन दोपहर 2 बजकर 54 मिनट से प्रारंभ होगा। किंतु बालक, वृद्ब एवं रोगी एक पहर पूर्व अर्थात रात्रि 8 बजकर 54 मिनट से मानना चाहिए।

ग्रहण के बाद करें यह काम
आचार्य पं. गोपाल प्रसाद खड्डर ने बताया कि आषाढ़ पूर्णिमा की रात उषा नक्षत्र मकर राशि पर खग्रास चंद्रग्रहण है। ग्रहण के आरंभ एवं मोक्ष के बाद स्नान एवं मध्य में हवन, जाप, दान आदि करना चाहिए। क्योंकि इसका विशेष महत्व है।

 

ग्रहण में न करें यह काम
ग्रहण के सूतक एवं ग्रहण काल में मूर्ति का स्पर्श, दर्शन, भोजन आदि शयन करना वर्जित है। ग्रहण के समय जप, अनुष्ठान, जाप, हवन आदि करने से अनेकों यज्ञों का फल मिलता है।


ज्योतिषियों के अनुसार,खग्रास चंद्रग्रहण का ग्रह गोचर के अनुसार अलग-अलग प्रभाव होगा। ग्रह गोचर में मकर राशि के केतु के साथ चंद्रमा का प्रभाव और राहु से उसका समसप्तक दृष्टि संबंध होना, युति कृत मान से कर्क राशि में राहु, सूर्य, बुध तथा मकर राशि में चंद्र, केतु, मंगल युति कृत दृष्टि संबंध होना।

जानें किस राशि पर कैसा रहेगा असर
मेष, सिंह, वृषिक, मीन : शुभकारक
मिथुन, कर्क, तुला, मकर : अशुभ
वृष, कन्या धनु, कुंभ : मध्यम फलदायक होगा।

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned