अस्पतालों में सिजेरियन से जन्माष्टमी पर जन्मे कन्हाई

जिला अस्पताल और निजी अस्पतालों में हुए सीजेरियन

होशंगाबाद. कन्हैया की चाह में सोमवार को जिला अस्पताल और निजी अस्पतालों में सीजेरियन ऑपरेशन करवाए गए। बच्चों के जन्म कराने के लिए शासकीय और निजी अस्पतालों में पहले से ही बुकिंग की जा चुकी थी। सोमवार को जिला अस्पताल में करीब ४ बच्चों का जन्म कराया गया। वहीं ४ समान्य प्रसव हुए। निजी अस्पतालों में शहर में करीब १२ सीजेरियन हुए। जिला अस्पताल के निश्चेतना विशेषज्ञ ने बताया कि अस्पताल में ४ सीेजेरियन और ४ समान्य प्रसव से बच्चों को प्रसव कराया गया।
पहले तय था सीजेरियन - अंकुर श्रोति ने बताया कि उनकी पत्नी का सोमवार को सीजेरियन हुआ है। उनको पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई। सीजेरियन कराना तय था। इसलिए हमने जन्माष्टमी का शुभमहुर्त चुना था।

निजी अस्पतालों में थी एडवांस बुकिंग - कृष्ण जन्म के शुभमुहूर्त में संतान का जन्म हो, इसके लिए अस्पतालों में एडवांस बुकिंग कराई गई थी। होशंगाबाद के निजी हॉस्पिटल में शुभमुहूर्त पर डिलीवरी के लिए लम्बी वेटिंग लिस्ट रही। वैसे कृष्ण जन्म का यह शुभ मुहूर्त ३ सितंबर को था। इसके साथ कुछ लोगों ने २ सितंबर को भाद्रपद अष्टमी से ही सीजेरियन शुरू कर दिए थे। निजी अस्पताल संचालक ने बताया कि यह वहीं सीजर थे, एक-दो दिन आगे पीछे होने वाले थे, लेकिन इसे अष्टमी को कराया गया है।

 

यहां मैया को चाहिए कन्हैया
महिलाओं और परिजनों को जैसे ही ऑपरेशन से डिलेवरी की जानकारी डाक्टर देते हैं, वे शुभ मुहूर्त में बच्चे को दुनिया में लाना चाहते हैं। ऐसा सरकारी अस्पतालों में भी होता है, तब डाक्टर परिस्थिति अनुसार कई बार उनके बताए समय पर ऑपरेशन करने तैयार हो जाते हैं लेकिन निजी अस्पताल में अधिकांश ऑपरेशन पूर्व निर्धारित समय पर ही हो रहे हैं। जन्माष्टमी नजदीक होने के कारण कई गर्भवती महिलाओं ने कृष्ण के जन्मदिन के दिन अपने बच्चे को दुनिया में लाने के लिए मुहूर्त निकलवाया है। निजी अस्पताल में इस दिन उनके ऑपरेशन की तैयारी भी कर ली गई।

yashwant janoriya Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned