नियम बताकर राष्ट्रीय स्तर के लिए हारे हुए खिलाड़ी को चुना, जीता खिलाड़ी बाहर

65 वीं राज्यस्तरीय शालेय प्रतियोगिता

होशंगाबाद/शासकीय नर्मदा महाविद्यालय में जारी ६५वीं राज्यस्तरीय शालेय प्रतियोगिता में एक बार फिर टेबल टेनिस खिलाड़ी को नियम बताकर प्रतियोगिता से बाहर कर दिया गया है। शिक्षा विभाग के नियम के आधार पर विजेता टीम के इंदौर के हारे खिलाड़ी का राष्ट्रीय स्तर के लिए चयन किया गया, जबकि बेहतर खेल का प्रदर्शन करने के बाद भी सागर के खिलाड़ी को प्रतियोगिता से बाहर कर दिया गया। शुक्रवार को सेमी फाइनल और फाइनल मैच हुए। शनिवार को प्रतियोगिता का फाइनल और समापन होगा।

यह है मामला
दरअसल शुक्रवार को इंदौर और सागर के बीच टेबल टेनिस का फाइनल हुआ था इसमें इंदौर की टीम विजेता रही। नियमानुसार विजेता टीम के दो और उप विजेता के एक खिलाड़ी का चयन होना है। इसमें इंदौर के प्रथम और द्वितीय रैंक के दो खिलाड़ी का चयन किया गया। वहीं सागर के प्रथम रैंक के एक खिलाड़ी का चयन किया गया। जबकि इंदौर के द्वितीय रैंक के खिलाड़ी को सागर के प्रथम और द्वितीय दोनों रैंक के खिलाडि़यों ने हराया। इसके बाद भी इंदौर के हारे खिलाड़ी का चयन किया गया। जबकि सागर का द्वितीय रैंक का जीता खिलाड़ी सौर्य पटेल को बाहर कर दिया है।

शतरंज : बालक 14 वर्ष सिद्धार्थ अग्रवाल जबलपुर प्रथम, अभिषेक दत्त ग्वालियर द्वितीय, दीपेश बिलैया जबलपुर तृतीय, अथर्व तोमर भोपाल चौथे और देवांश पंथी भोपाल संभाग पांचवें स्थान पर रहे। वहीं बालिका १४ वर्ष में सौम्या डी जबलपुरी प्रथम, प्रज्ञा जैन ग्वालियर द्वितीय, आद्या बोस जमीदार इंदौर तृतीय, भूमिका देशमुख रीवा चतुर्थ और मुस्कान नर्मदापुरम संभाग पांचवें स्थान पर रही।

टेबल टेनिस - सेमी फाइनल मैच
बालिका 14 वर्ष इंदौर विरुद्ध रीवा 3-0से इंदौर जीता, उज्जैन विरुद्ध आदि.़ विकास 3-1 से उज्जैन जीता
बालिका 17 वर्ष भोपाल विरुद्ध जबलपुर, भोपाल 3-1 जीता, इंदौर विरुद्ध उज्जैन 3-0 से इंदौर जीता
बालिका 19 वर्ष इंदौर विरुद्ध जबलपुरी 3-0 से इंदौर जीता, भोपाल विरुद्ध रीवा 3-0 से भोपाल जीता
बालक 14 वर्ष इंदौर विरुद्ध उज्जैन 3-1 से इंदौर जीता, भोपाल विरुद्ध सागर 1-3 से सागर जीता
बालक 17 वर्ष इंदौर विरुद्ध उज्जैन इंदौर 3-0 जीता, ग्वालियर विरुद्ध जबलपुर 1-3 से जबलपुर जीता
बालक-19 वर्ष इंदौर विरुद्ध आदिवासी विकास 3-0 से इंदौर जीता, भोपाल विरुद्ध उज्जैन 3-0 से भोपाल जीता

नहीं मिला फस्र्टएड बॉक्स
राज्यस्तरीय लगोरी प्रतियोगिता में भोपाल संभाग की टीम के एक खिलाड़ी को हाथ में चोट लग गई। हाथ से खून बहने पर साथी खिलाडिय़ों ने रैफरी और स्कोरर से दवा लगाने के लिए कहा तो फस्र्टएड बॉक्स नहीं मिला। बाद में खिलाड़ी को उसके साथी बाहर से पट्टी कराने ले गए।

सुविधाघार की व्यवस्था नहीं
बालक-बालिकाओं और उनके कोच के लिए शिक्षा विभाग की ओर से सुविधाघर की व्यवस्था नहीं की गई। दूसरे संभाग से आए कोच और खिलाड़ी परेशान होते रहे। कोच का कहना था कि विभाग की व्यवस्था अच्छी नहीं है बाहर से आने वालों को दिक्कत हो रही है।


खेल के नियम अपनी सुविधा के अनुसार बनाए गए हैं, जो गलत हैं इसमें बेहतर खेलने वाले खिलाड़ी का चयन होना चाहिए। न कि हारे खिलाड़ी का। सागर के दोनों खिलाडि़यों ने इंदौर के द्वितीय रेंक के खिलाड़ी को हराया है। इसके बाद भी इंदौर के खिलाड़ी का चयन किया है।
अजय सिंह राजपूत, कोच जिला टेबल टेनिस एसोसिएशन सेक्रेटरी, सागर

मेरी जानकारी में नहीं आया है। कंट्रोल रूप में फस्टएड बॉक्स था। मैं तुरंत उसे उचित उपचार उपलब्ध कराती।
वंदना रघुवंशी, जिला खेल अधिकारी

sandeep nayak
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned