वर्षा जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए लार्वा सर्वे और फागिंग करने के कलेक्टर ने दिए निर्देश

जिले में डेंगू, मलेरिया आदि वर्षा जनित बीमारियों के प्रभावी रोकथाम के लिए निर्देश दिए

By: Manoj Kundoo

Published: 13 Sep 2021, 08:24 PM IST

होशंगाबाद। जिले में डेंगू, मलेरिया आदि वर्षा जनित बीमारियों के प्रभावी रोकथाम के लिए कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने स्वास्थ्य, मलेरिया विभाग एवं नगरपालिका को अभियान के रूप में आवश्यक प्रतिबंधात्मक कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने निर्देशित किया है कि मलेरिया विभाग व नगरपालिका के दल द्वारा निरंतर घर-घर जाकर लार्वा सर्वे, लार्वा विनिष्टिकरण एंव फांगिग कार्य किया जाए।
कलेक्टर ने निर्देश दिए कि ऐसे स्थान जहां वर्षाकाल में पानी का जमाव होता है एवं मच्छरों के लार्वा पनपने की संभावना होती है उन्हें खाली कराया जाए। आवश्यक दवाइयों का छिड़काव करें। साथ ही आमजन को डेंगू व मलेरिया से बचाव के उपायों के बारे में जानकारी दी जाए। जिला मलेरिया अधिकारी अरुण श्रीवास्तव ने बताया कि डेंगू के मच्छर घरों के आसपास जमा पानी, कूलर, गमले, सीमेंट की टंकी, पानी की होज, छत पर रखी खुली टंकियां, मटके, टायर आदि में जमा पानी में पनपते हैं। आमजन से अपील की है कि डेंगू से बचाव के लिए घर के आसपास पानी ना जमा होने दें। रुके हुये पानी की निकासी करें। यदि निकासी संभव ना हो तो मिट्टी का तेल या जला हुआ तेल डाल दें। शाम को सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करें। घर के खिड़की दरवाजे में मच्छर रोधी जाली लगवाएं। पूरी आस्तीन के कपड़े पहने कूलर, टंकी, होज, नांद, तथा पानी के कंटेनरो की सप्ताह में एक बार सफाई अवश्य करें।

वर्षा जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए लार्वा सर्वे और फागिंग करने के कलेक्टर ने दिए निर्देश
जिले में डेंगू, मलेरिया आदि वर्षा जनित बीमारियों के प्रभावी रोकथाम के लिए निर्देश दिए
होशंगाबाद। जिले में डेंगू, मलेरिया आदि वर्षा जनित बीमारियों के प्रभावी रोकथाम के लिए कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने स्वास्थ्य, मलेरिया विभाग एवं नगरपालिका को अभियान के रूप में आवश्यक प्रतिबंधात्मक कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने निर्देशित किया है कि मलेरिया विभाग व नगरपालिका के दल द्वारा निरंतर घर-घर जाकर लार्वा सर्वे, लार्वा विनिष्टिकरण एंव फांगिग कार्य किया जाए।
कलेक्टर ने निर्देश दिए कि ऐसे स्थान जहां वर्षाकाल में पानी का जमाव होता है एवं मच्छरों के लार्वा पनपने की संभावना होती है उन्हें खाली कराया जाए। आवश्यक दवाइयों का छिड़काव करें। साथ ही आमजन को डेंगू व मलेरिया से बचाव के उपायों के बारे में जानकारी दी जाए। जिला मलेरिया अधिकारी अरुण श्रीवास्तव ने बताया कि डेंगू के मच्छर घरों के आसपास जमा पानी, कूलर, गमले, सीमेंट की टंकी, पानी की होज, छत पर रखी खुली टंकियां, मटके, टायर आदि में जमा पानी में पनपते हैं। आमजन से अपील की है कि डेंगू से बचाव के लिए घर के आसपास पानी ना जमा होने दें। रुके हुये पानी की निकासी करें। यदि निकासी संभव ना हो तो मिट्टी का तेल या जला हुआ तेल डाल दें। शाम को सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करें। घर के खिड़की दरवाजे में मच्छर रोधी जाली लगवाएं। पूरी आस्तीन के कपड़े पहने कूलर, टंकी, होज, नांद, तथा पानी के कंटेनरो की सप्ताह में एक बार सफाई अवश्य करें।

Manoj Kundoo Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned