कलेक्टर ने लिख दी ऐसी चिट्ठी, अब माफी के लिए लगा रहे गुहार

कलेक्टर ने लिख दी ऐसी चिट्ठी, अब माफी के लिए लगा रहे गुहार

Brijesh Chouksey | Updated: 26 Jun 2018, 02:42:10 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

हरदा कलेक्टर अनय द्विवेदी को एक गलती पड़ रही भारी

हरदा। एक आइएएस अफसर को चिट्ठी लिखना भारी पड़ गया। कलेक्टर ने चिट्ठी में ऐसे शब्द लिए दिए जो उनके लिए आफत बन गए। अब वे अपनी इस गलती पर माफी मांगने के लिए तैयार हैं, लेकिन फिलहाल माफी मिल नहीं रही। अब खुद जज के सामने हाजिर होकर हाथ जोड़कर माफी मांगेंगे, क्योंकि उन्हें हाईकोर्ट ने 9 जुलाई को कोर्ट में हाजिर होने का हुक्म दिया है।
माफी की अर्जी नमंजूर
कलेक्टर अनय द्विवेदी ने अपनी गलती मानते हुए मप्र हाईकोर्ट सेे अपने वकील के माध्यम से माफी मांगने की बात कही थी, लेकिन हाईकोर्ट ने यह कहते हुए अर्जी अस्वीकार कर दी कि पहले अवमानना के आरोप तय किए जाएंगे। जस्टिस एसके सेठ और जस्टिस अखिल कुमार श्रीवास्तव की डिवीजन बेंच ने अवमानना मामले की सुनवाई के बाद यह निर्देश दिए हैं। अगली सुनवाई 9 जुलाई को कोर्ट ने द्विवेदी को उपस्थित रहने के निर्देश दिए।

यह है मामला
डीजे हरदा द्वारा भेजे गए रिफरेंस के अनुसार जिले के टिमरनी के पेट्रोल पंप संचालक ने करीब 8 साल पहले तहसीलदार से 46 हजार की वसूली के लिए हरदा न्यायालय में परिवाद लगाया था। न्यायालय ने संचालक के पक्ष में ब्याज सहित लगभग 80 हजार की वसूली के आदेश दिए थे। आदेश का पालन नहीं होने पर न्यायालय ने कलेक्टर को नोटिस जारी किया था।
नोटिस जारी कर मांगा था जवाब
हाईकोर्ट ने मामले का संज्ञान लेकर अदालत की अवमानना का मुकदमा दर्ज किया । 11 मई 2018 को द्विवेदी को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था। सोमवार को कलेक्टर द्विवेदी की ओर से अधिवक्ता मनोज शर्मा उपस्थित हुए। उन्होंने कोर्ट को बताया कि द्विवेदी बिना शर्त माफी मांगने को तैयार हैं। लेकिन कोर्ट ने कहा कि पहले अवमानना के आरोप तय किए जाएंगे।
मचकूरी ने दी थी धमकी
इस नोटिस की तामीली के लिए 9 मार्च 2018 को अदालत का मचकूरी कलेक्टर की कोर्ट पहुंच गया। उसने कार्यालय का सामान जब्त करने की बात कही। इस पर पर हरदा कलेक्टर ने संबंधित अदालत को पत्र लिखा। इस पत्र की भाषा को रेफरेंस में गलत बताया गया है। वह भी तब, जबकि कलेक्टर स्वयं एक पक्षकार थे। मजिस्ट्रेट की रिपोर्ट पर डिस्ट्रिक्ट जज ने पूरा मामला हाईकोर्ट को भेज (रेफरेंस) दिया।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned