अवैध उत्खनन करने वालों को रंगे हाथों पकडऩे गए कंप्यूटर की नाव नदी के भंवर में फंसी

सीहोर प्रशासन के पहुंचने से पहले भागा रेत माफिया

होशंगाबाद। नर्मदा नदी में अवैध उत्खनन धड़ल्ले से जारी है। यह खुद कमलनाथ सरकार में मंत्री का दर्जा प्राप्त नर्मदा-क्षिप्रा और मां मंदाकिनी नदी न्यासज् के अध्यक्ष कम्प्यूटर बाबा ने सर्किट हाउस से खुद अपनी आंखों से देखा। इसके बाद बाबा मीडिया और प्रशासन के अफसरों को लेकर नाव में सवार हुए और उत्खनन करने वालों को रंगे हाथ पकडऩे के लिए रवाना हो गए, लेकिन उनकी नाव बीच नदी में पानी कम होने के कारण फंस गई।
बाबा ने वहीं से सीहोर कलेक्टर को फोन किया और कार्रवाई करने के निर्देश दिए। कलेक्टर के आदेश पर एसडीएम बुदनी और पुलिस अमला पल्ले पार नर्मदा किनारे कार्रवाई करने पहुंचे,लेकिन उससे पहले रेत माफिया के लोग ट्रैक्टर लेकर फरार हो गए। प्रशासन ने कहा उन्हें कोई भी नदी से अवैध उत्खनन करते नहीं मिला, जबकि बाबा का कहना था कि मैंने खुद अपनी आंखों से देखा है। ज्ञात रहे कि पत्रिका ने पिछले दिनों ही खुलासा किया था कि अफसरों की नाक के नीचे ट्रैक्टरों से रेत निकाली जा रही है। इस संबंध में कमिश्नर आरके मिश्रा का कहना था कि उन्होंने कलेक्टर सीहोर को पत्र लिखकर कार्रवाई के लिए कहा है क्योंकि जिस इलाके में अवैध उत्खनन हो रहा है वह सीहोर जिले में आता है और नर्मदा के तट से साफ तौर पर उत्खनन करते हुए दिन रात नजर आता है।

बाबा रविवार को सीहोर जिले से औचक निरीक्षण के बाद शाम को होशंगाबाद सर्किट हाउस पहुंचे। यहां उन्होंने मीडिया से नर्मदा नदी में रेत का अवैध उत्खनन करने वालों पर सख्त कार्रवाई के संकेत दिए। चर्चा के दौरान मीडिया ने उनसे बुदनी के जोशीपुर में रेत का अवैध उत्खनन को लेकर सवाल किया। उन्हें बताया कि आप खुद घाट पर इस तरफ खड़े होकर उस तरफ का नजारा देख लो, बाबा भी उठे औऱ सर्किट हाउस के कमरे से निकलकर घाट किनारे आ गए।
उन्होंने खुद देखा कि पल्लेपार आठ-दस ट्रैक्टर नर्मदा से रेत निकालकर किनारे पर ढेर लगा रहे थे। इस पर बाबा ने एसडीएम-तहसीलदार को तुरंत नाव मंगाने के निर्देश दिए। वे नाव पर मीडिया और अधिकारियों के साथ कार्रवाई के लिए पल्लेपार निकल पड़े, लेकिन बोट के फंसने से वे वापस लौट आए। सीहोर कलेक्टर को फोन लगा कर उक्त अवैध उत्खनन पर तुरंत रोक लगाने के निर्देश दिए। जब उनसे रेत के मामले में प्रभारी मंत्री पीसी शर्मा के बेटे के संलिप्त होने का सवाल किया तो उन्होंने उन पर भी सख्ती से कार्रवाई करने की बात की है।

नदी के बीच घूमती रही बोट
बाबा की बोट रात के अंधेरे में नदी में फंस गई और रास्ता खोजने के लिए होम गार्ड के जवान इधर-उधर ही घुमाते रहे। रात को रास्ता नहीं मिलने के कारण करीब 8.30 बजे टीम ने वापस होने का निर्णय लिया। जिसके बाद एसडीएम आरएस बघेल ने कम्प्यूटर बाबा को अंधेरा अधिक और बोट में रेत फंसने के कारण वापस होने की सलाह दी। जिसके बाद पूरी टीम वापस सर्किट हाउस आ गई।

बुदनी पुलिस के आने तक बीच नदी में रुके रहे बाबा : बुदनी पुलिस प्रशासन के पहुंचने तक कम्प्यूटर बाबा नदी के बीच में ही रूके रहे। उन्होंने बुदनी एसडीएम को अवैध तौर पर ट्रालियों में रेत का भंडारण कर रही ट्रालियों पर कार्रवाई करने का कहा। वहां से अधिकारियों ने कहा यहां पर कोई नहीं है। कम्प्यूटर बाबा ने कहा कि हमने खुद ट्रेक्टर ट्रालियों को देखा है। सभी पर सख्ती से कार्रवाई करें।
टोल-फ्री नंबर किया जारी : कम्प्यूटर बाबा ने अवैध रेत उत्खनन को रोकने एक टोल फ्री नंबर जारी किया है। अगर किसी को नर्मदा में गंदगी या फिर रेत का अवैध उत्खनन दिखाई दे तो वो सीधे 1800120106106 पर सीधे शिकायत करें। जिस पर टीम तुरंत कार्रवाई भी करेगी। जो भी वाहन पकड़े जाएंगे उन पर राजसात की कार्रवाई होगी।

नदी के बीच घूमती रही बोट
बाबा की बोट रात के अंधेरे में नदी में फंस गई और रास्ता खोजने के लिए होम गार्ड के जवान इधर-उधर ही घुमाते रहे। रात को रास्ता नहीं मिलने के कारण करीब 8.30 बजे टीम ने वापस होने का निर्णय लिया। जिसके बाद एसडीएम आरएस बघेल ने कम्प्यूटर बाबा को अंधेरा अधिक और बोट में रेत फंसने के कारण वापस होने की सलाह दी। जिसके बाद पूरी टीम वापस सर्किट हाउस आ गई।

बुदनी पुलिस के आने तक बीच नदी में रुके रहे बाबा : बुदनी पुलिस प्रशासन के पहुंचने तक कम्प्यूटर बाबा नदी के बीच में ही रूके रहे। उन्होंने बुदनी एसडीएम को अवैध तौर पर ट्रालियों में रेत का भंडारण कर रही ट्रालियों पर कार्रवाई करने का कहा। वहां से अधिकारियों ने कहा यहां पर कोई नहीं है। कम्प्यूटर बाबा ने कहा कि हमने खुद ट्रेक्टर ट्रालियों को देखा है। सभी पर सख्ती से कार्रवाई करें।
टोल-फ्री नंबर किया जारी : कम्प्यूटर बाबा ने अवैध रेत उत्खनन को रोकने एक टोल फ्री नंबर जारी किया है। अगर किसी को नर्मदा में गंदगी या फिर रेत का अवैध उत्खनन दिखाई दे तो वो सीधे 1800120106106 पर सीधे शिकायत करें। जिस पर टीम तुरंत कार्रवाई भी करेगी। जो भी वाहन पकड़े जाएंगे उन पर राजसात की कार्रवाई होगी।
&नर्मदा न्यास के अध्यक्ष कम्प्यूटर बाबा के निर्देश के बाद उनके साथ बुदनी जोशीपुर में कार्रवाई के लिए जा रहे थे। नदी में पानी नहीं होने से बोट फंस गई। वापस लौटने का निर्णय किया है।
आरएस बघेल, एसडीएम होशंगाबाद
&शाम को हमें कलेक्टर के निर्देश मिले थे, हम तुरंत जोशीपुर पहुंचे। यहां करीब 2 घंटे तक सर्चिंग की। वहां हमें कोई नहीं मिला। वहां इनके भागने के रास्ते अधिक हैं।
शैलेंद्र हनोतिया, एसडीएम, बुदनी

शिवराज सरकार में हुए रेत उत्खनन की भरपाई असंभव : कंप्यूटर बाबा
कंप्यूटर बाबा ने बुदनी, नसरुल्लागंज, रेहटी और शाहगंज क्षेत्र में नर्मदा तटों का औचक निरीक्षण किया। नदी से रेत का उत्खनन देख नाराजगी व्यक्त की। माइनिंग, पुलिस और राजस्व के अफसरों को हिदायत दी कि कल से नर्मदा से एक तगाड़ी भी रेत का अवैध उत्खनन हुआ तो अच्छा नहीं होगा। बाबा ने नर्मदा नदी में जगह-जगह लगे रेत के ढेर देखकर कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के राज में जो रेत का अवैध उत्खनन हुआ है, उसकी भरपाई असंभव है, लेकिन अब हमने सभी अफसरों को स्पष्ट कर दिया है कि नर्मदा नदी से अवैध रेत उत्खनन नहीं होना चाहिए। बाबा ने डिमावर, जहाजपुर और बाबरी घाट का निरीक्षण किया।

sandeep nayak
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned