scriptConfusion: Can't differentiate between corona and normal fever | असमंजस : कोरोना और सामान्य बुखार में नहीं कर पा रहे अंतर | Patrika News

असमंजस : कोरोना और सामान्य बुखार में नहीं कर पा रहे अंतर

ओपीडी में 3 दिन में 30 प्रतिशत मरीज सामान्य बुखार वाले

होशंगाबाद

Updated: January 15, 2022 04:13:52 pm

होशंगाबाद. जिले में लगातार बढ़ रहे कोरोना मामलों के बीच वायरल फीवर ने भी पैर जमाने शुरू कर दिए हैं। ऐसे में सामान्य बुखार होने पर भी लोग असमंजस में आ रहे हैं। डॉक्टर्स का कहना है कि अधिकतर वायरल फ्लू के समान लक्षण होते हैं। मौसमी बदलाव से भी लोग फ्लू की चपेट में आ रहे हैं। जिसकी वजह से खांसी-बुखार हो रहा है। जिला अस्पताल की ओपीडी में वायरल फीवर के मरीज सबसे ज्यादा आ रहे हैं। पिछले तीन दिनों में ओपीडी पहुंचे 30 प्रतिशत मरीजों को सर्दी-जुकाम-बुखार व वायरल की समस्या थी। जिला अस्पताल के डॉ. सुनील जैन बताते हैं कि लक्षणों के आधार पर कोरोना जांच करवाई जाती है लेकिन जांच में निगेटिव आने पर पता चलाता है कि सामान्य बुखार है। डॉक्टर्स बताते हैं कि वायरल फीवर कोविड-19 व दूसरे वायरस की तरह तीन से 10 तक मरीजों को जकड़ रहा है। ऐसे में मरीजों को शुरुआत में ही लक्षणों पर ध्यान देते हुए डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। इसमें लापरवाही से बचना चाहिए।
असमंजस : कोरोना और सामान्य बुखार में नहीं कर पा रहे अंतर
असमंजस : कोरोना और सामान्य बुखार में नहीं कर पा रहे अंतर
लक्षण पहचानना जरूरी

कोरोना वायरस और वायरल फ्लू के लक्षणों में भले काफी समानताएं हों लेकिन कुछ लक्षणों के आधार पर इनमें फर्क किया जा सकता है। सामान्य बुखार में सर्दी, जुकाम, बदन दर्द, बुखार जैसे लक्षण होते हैं जबकि कोरोना से सूखी खांसी, सांस लेने में दिक्कत, गले में चुभन जैसे लक्षण होते हैं। इसके अलावा कोरोना में गंध और स्वाद महसूस नहीं होता है। इस वायरस के संक्रमित लोगों में सबसे पहला लक्षण सांस लेने में तकलीफ जैसा होता है। वहीं मरीज की सुनने की क्षमता पर भी प्रभाव पड़ सकता है। ऐसे में घबराने की जरूरत नहीं हैं।
जिले के शासकीय अस्पतालों की ओपीडी की स्थिति
जिला अस्पताल होशंगाबाद- 580
सामुदायिक अस्पताल बनखेड़ी - 160
सामुदायिक अस्पताल बाबई- 123
सामुदायिक अस्पताल पिपरिया- 290
सामुदायिक अस्पताल सोहागपुर- 130
सामुदायिक अस्पताल सिवनीमालवा- 250
सिविल अस्पताल इटारसी - 290
जिले में 540 मरीज वायरल के मरीज आए

इन बातों का रखें ध्यान

-साफ-सफाई का ध्यान रखें, कुछ खाने से पहले हाथ जरूर धोएं
-मास्क जरूर पहनें, कोरोना की तरह ये फ्लू और वायरल से भी बचाता है।
-अच्छी डाइट लें।
-बुखार आने पर लक्षणों को पहचानें, डॉक्टर से संपर्क करें
-घर में एक सदस्य को बुखार आने पर खुद को दूसरों से अलग करें
वर्जन
बारिश के बाद हवा में नमी बढ़ जाती है। कई तरह से वायरस सक्रिए हो जाते हैं। कोरोना के अलावा इस सीजन में मौसमी बीमारियां भी होती हैं, जिसमें सामान्य बुखार होना कॉमन है। ऐसे में घबराएं नहीं, डॉक्टर से परामर्श लें और दवाएं खाएं।
-डॉ सुनील जैन, प्रभारी मेडिकल वार्ड जिला अस्पताल

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमी100-100 बोरी धान लेकर पहुंचे थे 2 किसान, देखते ही कलक्टर ने तहसीलदार से कहा- जब्त करोराजस्थान में यहां JCB से मिलाया 242 क्विंटल चूरमा, 6 क्विंटल काजू बादाम किशमिश डालेShani Parvat: हाथ में मौजूद शनि पर्वत बताता है कि पैसों को लेकर कितने भाग्यशाली हैं आपफरवरी में मकर राशि में ग्रहों का महासंयोग, मेष से लेकर मीन तक इन राशियों को मिलेगा लाभNew Maruti Wagon R : अनोखे अंदाज में आ रही है आपकी फेवरेट कार, फीचर्स होंगे ख़ास और मिलेगा 32Km का माइलेज़2 बच्चों के पिता और 47 साल के मर्द पर फ़िदा है ‘पुष्पा’ की 25 साल की एक्ट्रेस, जाने कौन है वो

बड़ी खबरें

7 मार्च तक चुनावी एक्ज़िट पोल पर रोक, 2 साल की जेलJammu Kashmir: अनंतनाग के हसनपोरा में आतंकी हमला, पुलिस हेड कांस्टेबल अली मोहम्मद शहीदभरोसा बनाए रखें, प्रिंट मीडिया को कोई खतरा नहींः प्रो. संजय द्विवेदीUP Assembly Elections 2022: राजा भैया के खिलाफ कुंडा से समाजवादी के बाद बीजेपी ने घोषित की प्रत्याशी, जाने कौन है सिंधुजा मिश्रा जो राजा को देगी टक्करमहिला आयोग के नोटिस के बाद झुका SBI, विवादित सर्कुलर लिया वापसBeating the Retreat: गणतंत्र दिवस समारोह के समापन पर विजय चौक पर भव्य शो, 300 साल पुरानी है 'बीटिंग द रिट्रीट' परंपराभाजपा MLA की ‘जाति’ पर सवाल,हाईकोर्ट ने कहा- 90 दिन में सरकार करे समाधानराजनीतिक संरक्षण में हुआ है रीट परीक्षा का पेपर आउट,मंत्रिमंडल तक जुड़े हैं तार-राठौड़
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.