महिला को चिमटी काटने पर एक साल बाद यह मिली सजा

एक साल पहले इटारसी के मुसाफिर खाने में हुई घटना

By: sandeep nayak

Published: 13 Mar 2018, 10:00 AM IST

इटारसी। एक आदमी को महिला यात्री की कमर में चिमटी काटने पर न्यायालय ने एक साल की कैद की सजा सुनाई है। घटना आठ महीने पहले इटारसी के मुसाफिरखाने की है। एक साल पहले इटारसी के मुसाफिर खाने में हुई घटना।
जेएमएफसी राघवेन्द्र श्रीवास्तव ने प्रकरण की सुनाई करते हुए आरोपी पिपरिया निवासी हरेराम पिता शेषनाथ गिरी के खिलाफ फैसला सुनाया है। न्यायाधीश श्रीवास्तव ने फैसले में कहा कि आरोपी ने सार्वजनिक स्थान पर महिला की लज्जा भंग करने के आशय से छेड़छाड़ की है। ऐसी स्थिति में यदि आरोपी को दंडित नहीं किया गया तो महिलाओं पर होने वाले अपराधों को बढ़ावा मिलेगा।

सहायक जिला अभियोजन अधिकारी रविन्द्र अतुलकर ने बताया कि 5 अगस्त 17 को महिला हबीबगंज से जनशताब्दी एक्सप्रेस में सवार हुई थी। वह यहां इटारसी आई और जब वह मुसाफिरखाने के पास पहुंची तो आरोपी पिपरिया निवासी हरेराम पिता शेषनाथ गिरी 50 वर्ष ने महिला की कमर पर चिमटी काट ली।

पीडि़त महिला ने लोगों की मदद से आरोपी तत्काल पकड़कर आरपीएफ के हवाले किया। बाद में इस मामले में जीआरपी ने फरियादी की शिकायत पर धारा 354 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया। इस मामले में आरोपी को एक वर्ष का कठोर कारावास और एक हजार रुपए के अर्थदंड की सजा सुनाई गई। जुर्माना अदा नहीं करने पर एक माह का कारावास अतिरिक्त भोगना होगा।

 

हत्या के प्रयास में ७ साल का कारावास

होशंगाबाद। सत्र न्यायाधीश एसकेपी कुलकर्णी द्बारा उनके न्यायालय में विचाराधीन एक मामले में हत्या के प्रयास में अभियुक्त को ७ साल के कारवास की सजा सुनाई है। अभियुक्त पप्पू अहिरवार को राममोहन को खेत की मचान पर सोते हुए कुल्हाड़ी मारकर हत्या का प्रयास करने के आरोप में धारा ३०७ में दोषी पाते हुए सात साल का साश्रम कारावास एवं ५००० रुपए अर्थदण्ड से दंडित किया है। शासन की ओर से पैरवी लोक अभियोजक केके थापक ने की।

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned