जब गाय ने बाघ को दी मात....

amit sharma

Publish: Dec, 08 2017 11:26:18 (IST)

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India
जब गाय ने बाघ को दी मात....

बुदनी के गड़रिया नाले के पास दो गायों ने मिलकर खदेड़ दिया बाघ को

होशंगाबाद। आपने शेर और बकरी की कहानी तो सुनी होगी। गुरुवार को बुदनी के पास यह कहानी हकीकत में बदल गई। जब दो गाय ने मिलकर एक बाघ को खदेड़ दिया।
बुदनी के पास गड़रिया नाले में घूम रहे बाघ पर गुरुवार को दो गाय भारी पड़ गई। बाघ ने पीछे से गाय पर हमला किया तो वह दोनों उससे भिड़ गई। पलटवार होता देख बाघ वहां से निकल गया, लेकिन इस कोशिश में दोनों गाय घायल हो गई। एक गाय बुरी तरह जख्मी है। यहां से कुछ दूर जाने के बाद बाघ ने एक भैंस का शिकार किया। वन अमला उसकी मूवमेंट के बाद अलर्ट हो गया है। वन विभाग के सूत्र बताते हैं कि बाघ आबादी क्षेत्र से लगे जंगल में ही लगातार मूवमेंट कर रहा है। गुरुवार को बाघ ने तड़के चार बजे एक गाय पर पीछे से हमला किया। हमला होते ही दोनों गायों ने उस पर सींग से पलटवार किया होगा, इस कारण वह छोड़कर चला गया। बुदनी रेंजर ने बताया कि शिकार का प्रयास करने वाला बाघ की उम्र कम हो सकती है। एेसे हालातों में कई बार बाघ शिकार को घायल कर भाग जाता है। लेकिन ऊंचाखेड़ा क्षेत्र में बाघ ने एक भैंसे का शिकार किया है। इस कारण दोनों क्षेत्रों पर निगरानी रख रहे है।

वन विभाग ने सुरक्षा के लिए मिडघाट पर बनाया हट
होशंगाबाद. मिडघाट और बुधनी क्षेत्र में बाघ और तेंदुआ का मूवमेंट होने के बाद से वन विभाग की टीम तैनात की गई है। वन अधिकारियों ने बताया कि वन्यप्राणियों की सुरक्षा के लिए पांच सदस्यीय वन टीम को रेलवे ट्रैक के आसपास निगरानी के लिए रखा है। इसके अलावा पांडाडोह के पास चेक पोस्ट बनाया है। रविवार को मिडघाट रेलवे ट्रैक पर रेलवे कर्मचारियों ने तेंदुआ देखा था। जिसके बाद से रेलकर्मी भी दहशत में है।
बुधनी और मिडघाट क्षेत्र में लगातार बाघ और तेंदुआ के मूवमेंट से रेलकर्मी रात के समय मशाल और आग जलाकर ड्यूटी कर रहे हैं। रेंजर एसएन खरे ने बताया कि मिडघाट स्टेशन के पास वनकर्मियों के लिए हट बनाया गया है, जिसमें हर समय एक साथ पांच वनकर्मी रहते हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned