scriptcyber crime complaint and how to file police complaint | cyber crime शनिवार को ही होते हैं सबसे ज्यादा साइबर क्राइम, जानें क्यों | Patrika News

cyber crime शनिवार को ही होते हैं सबसे ज्यादा साइबर क्राइम, जानें क्यों

मोबाइल पर फ्रॉड और पैसे निकालने के मामले लगातार बढ़ रहे

 

होशंगाबाद

Published: March 21, 2022 12:07:06 am

बैतूल/ साइबर क्राइम (cyber crime) के मामले दिनों दिनों बढ़ते जा रहे हैं। इसके लिए शातिर अपराधी तरह-तरह के हथकंडे अपनाते हैं। ताकि वह पुलिस गिरफ्त में आ सकें। लेकिन क्या आप जानते हैं इस तरह के क्राइम ज्यादातर सप्ताह के अंतिम दिन यानी शनिवार को ही होते हैं। यदि आपने इस बात पर गौर नहीं किया तो अब सावधान हो जाएं। इस तरह के अपराध अक्सर शनिवार को ही अंजाम देना का खास कारण है। बता दें साइबर अपराध (cyber crime) का थाना रविवार को बंद रहता है। समय गुजरने के साथ ही पैसे वापस प्राप्त किया जाना कठिन हो जाता है। ऐसी घटना आपके साथ हो जाए तो आप क्या करेंगे? (how to file police complaint)
Cyber Crime: स्पेशल स्कीम और ऑफर के नाम पर लोगों का फंसा रहे जालसाज, ऐसे खुद को ठगी से रखें सुरक्षित
Cyber Crime: स्पेशल स्कीम और ऑफर के नाम पर लोगों का फंसा रहे जालसाज, ऐसे खुद को ठगी से रखें सुरक्षित
cyber crimeलिंक पर क्लिक किया और 21500 रुपए निकल गए
आम्बेडकर वार्ड टिकारी निवासी नवीन पिता मोहन मालवी ने बताया कि ठग ने शनिवार रात दस बजे फोन किया। पहले दोस्ती को लेकर बातचीत की गई। अज्ञात फोनकर्ता ने अपनी आवश्यकता बताई, जिसका मित्र आर्मी में है। उसके पैसों का अंतरण करवाना हैं। मेरी बैंक लिमिट पूरी हो गई हैं। बाकी रकम दूसरे खाते में अंतरण करवाना है। उसके लिए एक बैंक खाते की जरुरत थी, जिसमें कम से कम राशि 5100 होनी चाहिए, तभी पैसा अंतरण हो सकता है। मालवी के खाते में पैसा नहीं था तो अज्ञात फोनकर्ता ने कहा कि इमरजेंसी है। नवीन ने अपने पिता का फोन पे नम्बर दिया तो एक लिंक भेजा। लिंक ओपन करने पर 21500 रुपए डालकर यूपीआइ से वैरीफाई करने के लिए कहा गया जिस पर मोहन के खाते से 21500 रुपए साफ हो गए।


ncreased threat of cyber crime with Digital India
IMAGE CREDIT: patrika
जब कभी आपको लगे कि आपके साथ वित्तीय धोखाधड़ी हुई है या बिना आपकी अनुमति के खाते से पैसे निकाले गए हैं तो तुरंत ये 5 कदम उठाने चाहिए-
1-आरबीआई रेगुलेशन के मुताबिक तुरंत अपने बैंक से संपर्क करें। खाते में किसी भी अवैध ट्रांजेक्शन के बारे में बताएं। अगर बैंक को लगता है कि खाताधारक की कोई गलती नहीं है और पैसे निकाले गए हैं, तो बैंक को वह राशि लौटानी पड़ेगी।
2-हर बैंक ने ग्राहकों के लिए संदिग्ध लेनदेन या फिशिंग की शिकायत दर्ज कराने के लिए ईमेल आईडी बनाया है। अपने बैंक की ईमेल आईडी पर भी शिकायत दर्ज कराएं।
3-थाने में इसकी रिपोर्ट दें या एफआईआर दर्ज कराएं।
4-जिस खाते में गड़बड़ी हुई है उसे ब्लॉक कराएं, उससे पहले किसी दूसरे खाते में पैसे ट्रांसफर कर दें।
5-बाकी के सभी खातों की गंभीरता से निगरानी करें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.