फायदे के चक्कर में मूंग फसल उत्पादकों को हो रहा नुकसान

कृषि वैज्ञानियों की राय : खेत में मौजूद विषाणुओं से फैल रहा पीला मोजेक रोग

By: pradeep sahu

Published: 11 Sep 2017, 05:28 PM IST

होशंगाबाद. दौहरे फायदे के चक्कर मेेंं किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल वे किसान जिन्होंने गर्मी में मूंग की फसल ली थी उन्हीं के खेत में पीला मोजेक रोग हो रहा है। जिला प्रशासन द्वारा गठित किए गए निरीक्षण दल में पवारखेड़ा कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिकों का दल केसला विकासखंड के गांवों का निरीक्षण कर रहा है। निरीक्षण दल के वैज्ञानिकों द्वारा किसानों को सलाह दी जा रही है वे पीला मोजेक से ग्रसित पौधों को उखाड़कर गड्ढ़ा में दबा देना चाहिए जिससे विषाणुओं का प्रकोप कम हो जाए। हालांकि सोयाबीन और तुअर को नुकसान कम है वहीं धान की फसल में कुछ क्षेत्रों में नुकसान हो रहा है।

कृषि विभाग द्वारा जारी की गई सलाह
पीला मोजेक रोग से हो रहे नुकसान को कम करने के लिए कृषि विभाग द्वारा किसानों के लिए सलाह जारी की गई है। उपसंचालक कृषि जितेंद्र सिंह ने बताया कि कुछ स्थानों पर उड़द में पीला मोजेक से ग्रसित पौधों को उखाड़कर गड्ढा खोदकर दबा दें तथा थायोमेथाग्जाम और लेमडा साइहेलोथ्रीन 125 मिली प्रति हेक्टेयर की दर से 500 लीटर पानी में मिलाकर छिड़काव करें। पत्ती खाने वाली इल्लियों का प्रकोप होने पर क्यूनॉलफॉस 1500 मिली प्रति हेक्टेयर या इंडोक्साकार्ब 333 मिली प्रति हेक्टेयर या फ्लूबेन्डामाईड 500 मिली प्रति हेक्टेयर का 500 लीटर पानी के साथ घोल तैयार कर छिड़काव करें। धान की फसल में लगने वाले कीड़ों की रोकथाम के लिये फ्लूबेन्डामाईड 35 मिली प्रति एकड़, 125 लीटर पानी के साथ मिलकर स्प्रे करें।

बारिश नहीं , चने का रकबा घटने की आशंका
इस बार पर्याप्त बारिश नहीं हुई है। बारिश के अभाव में जिले में चने का रकबा कम होने की आशंका है। कृषि विभाग के उपसंचालक जितेन्द्र सिंह ने बताया कि जिले में गत वर्ष रबी में 2 लाख 77 हजार हे. में गेहूं तथा 3 लाख 85 हजार हे. में चना की फसल ली गई थी लेकिन इस बार रबी की फसल के लिए कुल प्रस्तावित रकबा 3 लाख 24 हजार 500 हेक्टेयर है। कुल रकबे में 1 लाख 11 हजार 500 हेक्टेयर में चना की फसल ली जाना प्रस्तावित है। मौसम की बेरुखी देखते हुए इस बार विभाग ने जिले में ६ हजार किमी बीज की मांग की है।

pradeep sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned