scriptDanger increased, caution decreased... Amidst increasing risk of infec | खतरा बढ़ा, सावधानी घटी... संक्रमण के बढ़ते खतरे के बीच २९.३६ फीसदी कम हो रही सैंपलिंग | Patrika News

खतरा बढ़ा, सावधानी घटी... संक्रमण के बढ़ते खतरे के बीच २९.३६ फीसदी कम हो रही सैंपलिंग

अगस्त और सितंबर में हर दिन १ हजार से ज्यादा हो रही थी सैंपलिंग, अब सिर्फ ७७० की हो रही जांच

होशंगाबाद

Published: December 18, 2021 09:15:14 pm

मनोज कुंडू. होशंगाबाद
कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर में संक्रमण के बढ़ते खतरे के बीच सावधानी घटती जा रही है। इसी महीने होशंगाबाद और इटारसी में दो संक्रमित भी मिले हैं। बावजूद इसके हालात यह हैं कि जिले में २९.३६ फीसदी सैंपलिंग कम हो रही है। जबकि अगस्त और सितंबर में हर दिन लगभग १ हजार से अधिक लोगों की सैंपलिंग की जा रही थी। आंकड़े बताते हैं कि अगस्त २०२१ में कुल ३३७८३ सैंपल लिए गए, जिनमें से ३४४९७ की रिपोर्ट मिली। यानी कि हर दिन औसतन १०९० सैंपल लिए गए। सितंबर २०२१ में ३२२८७ सैंपल लिए गए, जिनमें से जिले को ३२०७१ की रिपोर्ट मिली। यानी इस महीने भी हर दिन औसतन १०७६ लोगों की जांच की गई थी। इधर पड़ौसी जिले बैतूल में सोमवार को ५ नए कोरोना संक्रमित पाए गए। संक्रमितों में १० साल के बच्चे सहित दो महिला और एक पुरुष शामिल हैं। बैतूल जिले में संक्रमितों की संख्या बढ़कर ९ पर पहुंच गई है।
-------------
जिले में अब तक ३ लाख से ज्यादा सैंपलिंग-
स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के आंकड़ों पर नजर डालें तो फरवरी २०१९ से १५ दिसंबर २०२१ तक जिले में ३ लाख ३२ हजार २०४ लोगों की सैंपलिंग कराई गई। इनमें से ३ लाख ३० हजार १५ सैंपलों की रिपोर्ट जिले को मिले। जिनमें १० हजार ७२३ लोग संक्रमित पाए गए थे। कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा १३० पर पहुंच गया था।
-------------
६३१८२ का वैक्सीनेशन बाकी-
जिले में अब तक ८ लाख ८३ हजार ३०३ लोगों को कोविड वैक्सीनेशन का प्रथम डोज लगाया जा चुका है। द्वितीय डोज ७ लाख ७३ हजार ३७६ लोगों को लगाया गया।। जिला टीकाकरण अधिकारी नलिनी गौड़ ने बताया कि ६३ हजार १८२ लोगों को वैक्सीन लगना है। इनमें ड्यू और ओवरड्यू वाले शामिल हैं।
-------------
जिले में फरवरी २०१९ से १६ दिसंबर २०२१ तक कोरोना की स्थिति...
कुल सैंपल जांच कराई गई - ३३३०२२
जिले में प्राप्त रिपोर्ट - ३३०८१०
पॉजिटिव केस - १०७२३
स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज मरीज - १०५९३
मृत्यु की संख्या - १३०
जिले में एक्टिव केस - ०
-------------
अगस्त २०२१-
सैंपल जांच कराई गई - ३३७८३
जिले में प्राप्त रिपोर्ट - ३४४९७
हर दिन औसतन - १०९० सैंपल
-------------
सितंबर २०२१-
सैंपल जांच कराई गई - ३२२८७
जिले में प्राप्त रिपोर्ट - ३२०७१
हर दिन औसतन - १०७६ सैंपल
-------------
अक्टूबर २०२१-
सैंपल जांच कराई गई - २५०७६
जिले में प्राप्त रिपोर्ट - २५१०४
हर दिन औसतन - ८३६ सैंपल
-------------
नवंबर २०२१-
सैंपल जांच कराई गई - २३८४३
जिले में प्राप्त रिपोर्ट - २२८७०
हर दिन औसतन - ७९५ सैंपल
-------------
१ से १६ दिसंबर तक स्थिति...
सैंपल जांच कराई गई - १२३६७
जिले में प्राप्त रिपोर्ट - १२२७४
हर दिन औसतन - ७७३ सैंपल
-------------
सीधी बात/नीरज कुमार सिंह, कलेक्टर
सवाल : कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए क्या कार्ययोजना है?
जबाव : लोगों को सावधानी बरतने के लिए जागरुक किया जा रहा है। इसके अलावा महाअभियान चलाकर टीकाकरण करने के संबंध में निर्देशित किया गया है।
सवाल : जिले में सैंपलिंग पहले के मुकाबले कम हो रहे हैं?
जबाव : राज्य शासन से मिले टारगेट के मुताबिक जांच हो रही है। पहले आरटीपीसीआर के अलावा अन्य माध्यमों से भी जांच होती थी, अब सिर्फ आरटीपीसीआर से जांच हो रही है। इसी वजह से सैंपलिंग में डाउन आया है। हमारी कोशिश है कि ११००-११५० तक सैंपलिंग बढ़ाई जाए।
Danger increased, caution decreased... Amidst increasing risk of infection, sampling is decreasing by 29.36 percent
Danger increased, caution decreased... Amidst increasing risk of infection, sampling is decreasing by 29.36 percent

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयमुख्यमंत्री नितीश कुमार ने छोड़ा BJP का साथ, UP चुनावों में घोषित कर दिये 20 प्रत्याशीUP Assembly Elections 2022 : हेमा, जया, स्मृति और राजबब्बर रिझाएंगें मतदाताओं को, स्टार प्रचारकों की लिस्ट में हैं शामिलस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाUttar Pradesh Assembly Elections 2022: सपा का महा गठबंधन अखिलेश के लिए बड़ी चुनौतीबजट से पहले 1 फरवरी को बुलाई गई विधायक दल की बैठक, यह है अहम कारण
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.