बेटी की शादी में मिले 90 हजार से आंगनबाडिय़ों को दी भेंट

जिला पंचायत सीईओ ने एलइडी, नौ कूलर और दस-दस ऑडियो सिस्टम एवं पेन ड्राइव किए भेंट

By: yashwant janoriya

Published: 24 May 2018, 02:42 PM IST

होशंगाबाद. 'मेरी बेटी की शुरू से इच्छा थी कि उसकी शादी के खर्च में कटौती कर उस राशि से गरीबों का भला किया जाए। 29 अप्रैल को उसकी शादी हुई। गिफ्ट के स्वरूप 90 हजार नगद मिले थे, जिससे हमने एक एलईडी, नौ कूलर व दस-दस आडियो सिस्टम, पेन ड्राइव खरीदकर आंगनबाडिय़ों को भेंट कर दिए। यह कहना है जिला पंचायत सीइओ पीसी शर्मा का। वे कहते हैं, मेरे मन में भी कुछ नवाचार करने की इच्छा थी। बेटी श्रुति शर्मा का भी कहना था कि यह राशि समाज से मिली है, उसे समाज के हित में ही खर्च किया जाए। इसका नाम भी तेरा तुझको अर्पण दिया। आंगनबाड़ी में इस सामान का उपयोग कर बच्चे कुछ नया सीख सकेंगे। इससे प्रभावित होकर जिला पंचायत समन्वयक प्रीति बरकड़े ने भी 5 हजार रूपए की राशि से ऑडियो सिस्टम एवं अन्य सामग्री आंगनबाड़ी केन्द्र डोंगरबाड़ा को दी है।

मैं, कहीं भी रहूं, बना रहूंगा अटल बाल पालक : लवानिया
अटल बाल पालक अभियान किसी एक अधिकारी अथवा विभाग का अभियान नहीं है। यह पूरे समाज का अभियान है जिसमें प्रशासन का थोड़ा बहुत योगदान है। मैं एक अटल बाल पालक बनकर गौरवान्वित महसूस करता हूं और मैं कहीं भी रहूं लेकिन अटल बाल पालक बना रहूंगा।यह बात बुधवार को नर्मदा कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम में कलेक्टर अविनाश लवानिया ने कही। उन्होंने कहा कि अटल बाल पालकों की मेहनत की वजह से जिले की आंगनबाडिय़ों में आने वाले बच्चे कुपोषण से मुक्त हो गये हैं। कार्यक्रम के दौरान अटल बाल पालकों द्वारा अपने अनुभव भी साझा किए।

दोहरे हत्याकांड में परिजनों को 4 लाख का प्रतिकर
होशंगाबाद. मप्र अपराध पीडि़त प्रतिकर योजना में दोहरे हत्याकांड में परिजनों को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की जिला समिति ने 4 लाख रुपए के प्रतिकर राशि का भुगतान किया है। अंतरित राशि के प्रमाण पत्र एसपी अरविंद सक्सेना ने बुधवार को प्रदान किए। सत्र प्रकरण 169/2010 मप्र शासन विरुद्ध बबलू आदि के दोहरे हत्याकांड मामले में मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख कुल चार लाख रुपए प्रतिकर राशि दी है। इस प्रकरण में मृतक सचिन तिवारी के माता-पिता आशा तिवारी व गणेश तिवारी को एक-एक लाख व मृतक मृत्युंजय उपाध्याय की पत्नी रीना को एक लाख, बालक सत्यंजय व सृष्टि उपाध्याय को 50-50 हजार रुपए दिए गए।

yashwant janoriya
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned