'शिव' राज में लगाए पौधों के भुगतान की वसूली का फरमान जारी

कांग्रेस सरकार के नए आदेश से बढ़ी पंचायत कर्मियों की परेशानी

 

By: poonam soni

Published: 03 Dec 2019, 12:35 PM IST

होशंगाबाद. कांग्रेस सरकार के एक नए आदेश से अब पंचायत के कर्मचारियों के लिए परेशानी बढ़ा दी है। कांग्रेस सरकार एक तरफ नर्मदा किनारे 2 जुलाई 2017 को लगाए गए पौधों का भौतिक सत्यापन करा रही दूसरी तरफ इन पौधों के भुगतान नहीं करने पर वसूली का फरमान जारी कर दिया है। इस नए आदेश ने पंचायत कर्मियों की परेशानी बढ़ा दी है। होशंगाबाद जनपद के 52 पंचायतों में से 38 पर 20 लाख 19 हजार 550 रुपए बकाया है। यह राशि पौधरोपण के लिए पंचायतों को दी गई थी। जिसका समायोजन मनरेगा योजना से जनपदों में होना था। राशि समायोजित नहीं होने की वजह से अब वसूली का नोटिस संबंधित पंचायतों को जारी किया गया है। राशि जमा नहीं करने पर उपयंत्री, सचिव और ग्राम रोजगार सहायक के वेतन से कटौती का अल्टीमेटम दिया गया है।

राजनीति की राह रपटीली, लगता है गिरने का डर : मुख्यमंत्री

52 पंचायतों को दिए थे 30 लाख
जनपद होशंगाबाद के 52 पंचायतों को पौधरोपण के लिए 30 लाख 85 हजार 675 रुपए दिए गए थे। इनमें से सिर्फ 14 पंचायतों ने ही राशि जमा कराई है। शेष 38 पंचायतों पर 20 लाख 19 हजार 550 रुपए बकाया है।

गुलाब की पंखुरियो से होगा नर्मदा सेवा यात्रा का जगह-जगह स्वागत

खास बात
2 जुलाई 2017 को तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर 6 करोड़ पौधे लगाकर वल्र्ड रिकार्ड बनाया गया था।

मोबाइल एप से भौतिक सत्यापन
सत्ता बदलने के बाद पौधों का भौतिक सत्यापन कराया जा रहा है। वह भी मोबाइल एप के जरिए। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग सचिव उमाकांत उमराव ने २५ नवंबर को जारी आदेश में निर्देश दिए हैं। जिसमें पौधारोपण पर किए गए खर्च के अलावा पौधरोपण स्थल का जियोटैग फोटो भी एप में अपलोड किया जाएगा। जिससे पौधरोपण में हुई गड़बड़ी का पता चल सकेगा। जारी आदेश के मुताबिक होशंगाबाद, हरदा, बैतूल, मंडला, बड़वानी, कटनी, इंदौर, अनूपपुर, देवास, अलीराजपुर, धार, नरसिंहपुर, रायसेन, बैतूल, सिवनी, डिंडौरी, दमोह, जबलपुर, सीहोर, छिंदवाड़ा, खंडवा, बालाघाट, सागर, बुरहानपुर, खरगौन में सर्वे किया जाएगा।

इन दस पंचायतों पर सबसे ज्यादा बकाया
150000 पांजराकला
139500 तालनगरी
126000 लोहारियाकला
123750 डोंगरवाड़ा
114375 रायपुर
109125 खरखेड़ी
105000 बीसारोड़ा
103125 नानपा-
90000 खेड़ला
81000 बोरतलाई

इनका कहना है...
मनरेगा से नर्मदा कछार में 13 लाख पौधे लगाए गए थे। जिनका भौतिक सत्यापन कराने का आदेश मिला है।
आदित्य ङ्क्षसह, सीइओ जिला पंचायत होशंगाबाद।

2जुलाई 2017 और 2018 में किए गए पौधरोपण की बकाया राशि के लिए पंचायतों को पत्र लिखा है।
नमिता बघेल, सीइओ जनपद पंचायत होशंगाबाद।

poonam soni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned