स्कूल संचालकों ने बिना पैसे दिए संभाग के खिलाडिय़ों को भेज दिया खेलने, अब हुआ कुछ ऐसा

अब नोटिस देकर विभाग पूछेगा कि बिना पैसे दिए कैसे भेज दिए खिलाड़ी

होशंगाबाद/65 वीं राज्य स्तरीय कूडो स्पर्धा में शामिल हुए नर्मदापुर संभाग के खिलाडिय़ों को बिना राशि के स्पर्धा में भेजने का मामला उजागर होने के बाद शिक्षा विभाग भी हरकत में आ गया है। गुरुवार को संयुक्त संचालक लोकशिक्षण द्वारा मामले की जानकारी ली गई। संयुक्त संचालक एसके त्रिपाठी द्वारा संबंधित स्कूल संचालकों को नोटिस जारी किए जा रहे हैं। नोटिस के माध्यम से स्कूल संचालकों को बताना होगा कि उन्हें राशि क्यों नहीं दी गई। साथ ही संभागीय क्रीडा अधिकारियों की बैठक में लिए गए निर्णयों का पालन क्यों नहीं किया गया इसका भी पता लगाया जाएगा। इसके साथ ही इस तरह के अन्य खेलों में भी रवाना हुई टीम के कोच और स्कूलों को निर्देशित किया गया है कि विद्यार्थियों से किसी तरह की कोई राशि नहीं ली जाए।
खिलाडिय़ों की वापस होगी राशि

विभाग ने सभी स्कूल संचालकों को खिलाडिय़ों की राशि वापस करने के निर्देश दिए गए हैं। अब सभी खिलाडिय़ों के राशि वापस करने के साथ ही प्रमाण पत्र भी विभाग को प्रस्तुत करना होगा। जिससे कि यह सुनिश्चित हो सके कि खिलाडिय़ों के पैसे वापस हो गए हैं।

वार्षिक अनुदान की भी होगी समीक्षा
टीम में शामिल सभी खिलाडिय़ों के साथ हुई लापरवाही का खामियाजा सभी स्कूल संचालकों को भुगतना पड़ रहा है। अब विभाग इस टीम के खिलाडिय़ों से संबंधित स्कूलों के वार्षिक अनुदान की भी समीक्षा करेगा। अधिकारियों का माने तो जब स्कूल संचालक क्रीडा अनुदान लेते हैं तो फिर खिलाडिय़ों से राशि क्यों ली गई। वार्षिक अनुदान की समीक्षा से भी यह स्पष्ट होगा किसी स्कूल ने कितना अनुदान जमा किया।


टीम में शामिल हैं इन स्कूलों के खिलाड़ी

जिला होशंगाबाद
स्कूल खिलाड़ी

प्रेरणा कांवेंट स्कूल 30
समेरिटंस स्कूल 01

सरवाइट कांवेंट स्कूल 03
स्प्रिंगडेल्स स्कूल 02

सेंट जोसेफ स्कूल पिपरिया 02
जीवा ज्योति स्कूल सिवनीमालवा 01

जिला हरदा
स्कूल खिलाड़ी

सूर्योदय ग्लोबल एकेडमी खिरकिया 04
मिड सांई स्कूल हरदा 01

महर्षि विद्या मंदिर हरदा 03

इनका कहना है
जिन स्कूल के बच्चों से राशि ली गई हैं उन्हें नोटिस जारी किया जा रह है। नोटिस देकर जानकारी ली जाएगी कि राशि क्यों नहीं दी गई। बच्चों को राशि वापस करने के साथ ही प्रमाण पत्र लिया जाएगा।

-एसके त्रिपाठी, संयुक्त संचालक, लोकशिक्षण

sandeep nayak
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned