ऑरेंज जोन होने पर भी नहीं मिली जिले को छूट, कलेक्टर बोले पहले की तरह रहेंगी पाबंदियां

एसडीएम देंगे जरुरी मामलों में अनुमति, जिला क्राइसेस की बैठक में हुए निर्णय

By: poonam soni

Published: 05 May 2020, 07:05 PM IST

होशंगाबाद. रेड से ऑरेंज जोन में पहुंचने के बाद भी होशंगाबाद जिले में अभी लाकडाउन में लागू पाबंदियों से छूट नहीं मिलेगी। 4 मई के बाद भी यहां पहले की तरह पाबंदियां लागू रखने का निर्णय रविवार को जिला क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक में लिया गया। कलेक्टर के इस फैसले का स्थानीय विधायकों ने भी समर्थन किया। तय किया कि अभी दुकानें खोलने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

आगामी आदेश तक कर्फ्यू और लॉकडाउन रहेगा
जिले में पहले कि तरह ही आगामी आदेश तक कफ्र्यू और लॉकडाउन जारी रहेगा। कलेक्टर धनंजय सिंह ने बताया कि जिले में स्थिति पहले से बेहतर है। लोगों के ठीक होने का ग्राफ भी तेजी से बढ़ा है, लेकिन इटारसी में लगातार संक्रमित लोग सामने आ रहे हैं। ऐसे में सावधान रहना समझदारी है। जिसके लिए लॉकडाउन बढ़ाने का निर्णय लिया है। बैठक में मौजूद सोहागपुर विधायक विजयपालसिंह और प्रेमशंकर वर्मा ने भी लॉकडाउन बढ़ाने का समर्थन किया। जिसके बाद लॉकडाउन आगे बढ़ा दिया गया। बैठक में कलेक्टर, जिपं सीईओ आदित्यसिंह, एडीएम जीपीमाली सहित अन्य लोग मौजूद थे। परिवार या अन्य महत्वपूर्ण कार्यों के लिए एसडीएम क्षेत्र के लोगों को अनुमति दे सकेंगे। किसी भी मामले में आवश्यक होने पर सीधे आवेदन एसडीएम को करना होगा। वह परिस्थितियों को देखते हुए अनुमति दे सकेंगे। सार्वजनिक स्थानों में थूकने वालों पर प्रशासन की नजर रहेगी।

कलेक्टर की अपील
सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें
कलेक्टर ने लोगों को किसी भी कार्यक्रम या दुकानों या मेलजोल करने वालों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील की है। साबुन और सेनेटाइजर से हाथ धोने को आदत में लाएं। जिससे संक्रमण को आसानी से मात दी जा सकेगी।


अभी थोड़ी सी भी चूक भारी पड़ सकती है। ऐसे में अभी लॉकडाउन और 144 का निर्णय लिया गया है।
विजयपाल सिंह, समिति सदस्य व सोहागपुर विधायक

जिले में अभी फुल लॉकडाउन का निर्णय लिया है। पूर्व की तरह लॉकडाउन और कफ्र्यू जारी रखा जाएगा। अभी कोई भी दुकान को खोलने की अनुमति नहीं रहेगी।
धनंजय सिंह, कलेक्टर होशंगाबाद

युवक की मौत, रात में पत्नी पहुंची श्मशान
इटारसी. मालवीयगंज निवासी एक युवक की मौत हो गई। रात में यहां एक महिला पहुंची और चिता का प्रमाण करके चली गई। मालवीयगंज निवासी अरुण कुचबंदिया की रविवार को मौत हो गई थी। शाम को युवक का अंतिम संस्कार किया । इधर, रात में भोपाल निवासी एक महिला श्मशान पहुंची थी। महिला ने बताया कि वह युवक की पत्नी थी जो पांच सालों से अलग रह रही थी उसके तीन बच्चे हैं। वह अपने पति के अंतिम दर्शन नहीं कर पाई है। महिला किसी परिजन के साथ आई थी। महिला केे पास भोपाल से इटारसी आने का पास भी मिला था।

Show More
poonam soni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned