गड़बड़झाला... डीएलएड परीक्षा के परिणाम में उपस्थितों को बताया अनुपस्थित, परिक्षार्थियों में मचा हड़कंप

गड़बड़झाला... डीएलएड परीक्षा के परिणाम में उपस्थितों को बताया अनुपस्थित, परिक्षार्थियों में मचा हड़कंप

govind chouhan | Publish: Sep, 02 2018 05:55:30 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

सोहागपुर के उत्कृष्ट विद्यालय परीक्षा केंद्र पर सबसे अधिक परीक्षार्थी, परीक्षा परिणाम घोषित होने के बाद आनलाइन मार्कशीट निकालने पर हुआ खुलासा

पिपरिया/सोहागपुर. राष्ट्रीय मुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान एनआइओएस ने जिले के नौ सेंटरों पर प्राइवेट स्कूल शिक्षकों के लिए डीएलएड परीक्षा आयोजित कराई थी। प्रथम सेमेस्टर परीक्षा का ऑनलाइन परिणाम शनिवार को घोषित हुआ। जिसमें कई अभ्यर्थियों को उपस्थिति के बावजूद अनुपस्थित बताया गया है। इसे लेकर दिनभर हड़कंप की स्थिति बनी रही। डीएलएड प्रथम सेमेस्टर परीक्षा परिणाम आते ही पिपरिया सोहागपुर ब्लॉक के अभ्यर्थियों में हड़कंप मच गया। तीन विषय की परीक्षा में दो विषय में अधिकांश अभ्यर्थियों को अनुपस्थित दर्शाया गया है जबकि ये परीक्षा में उपस्थित थे। अधिकांश शिकायतें सोहागपुर के उत्कृष्ट विद्यालय परीक्षा सेंटर के परीक्षार्थियों की सामने आई है। अन्य सेंटरों से यह शिकायतें नहीं मिली है।
राष्ट्रीयमुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान द्वारा आयोजित यह परीक्षा प्रदेश स्तर पर आयोजित की गई थी इसका मुख्यालय नोयडा दिल्ली में है। जिले में डाइट को परीक्षा आयोजन की व्यवस्थाओं का दायित्व सौंपा गया था। जिले के नौ सेंटरों पर निजी स्कूल के शिक्षकों ने प्रथम सेमेस्टर परीक्षा दी थी। इसमें सोहागपुर उत्कृष्ट विद्यालय परीक्षा सेंटर पर करीब ४ सौ परीक्षार्थी शामिल हुए थे। इस सेंटर के अधिकांश परीक्षार्थियों की ऑनलाइन अंकसूची निकाले जाने पर अंकसूची में दो विषय में अनुपस्थित दर्शाया गया है। परीक्षार्थी पुष्पा चौरसिया ने बताया कि वे उपस्थित थीं लेकिन अंक सूची में अनुपस्थित बताया गया है जिससे वे काफी परेशान है।

सोहागपुर के परीक्षा केंद्र पर सबसे ज्यादा
सोहागपुर के सरस्वती शिशु मंदिर विद्यालय के सुधीर कुमार मीना, सत्येन्द्र दुबे, राजेश कुमार सोनी, हेमंत पांडे, सुधीर कुमार मीना, जयराम धुर्वे, प्रेम नारायण सराठे, कीति चौरसिया, नीता भावसार, शारदा चौधरी के अनुसार स्कूल के 13 परीक्षार्थियों को विषय क्रमांक 503 में अनुपस्थित बताया गया है। पिपरिया निवासी मुस्कान चौहान, पुष्पा संदीप चौरसिया सहित अनेक अभ्यर्थियों ने ऑनलाइन अंक सूची दिखाते हुए बताया जिस विषय में उपस्थित थे उसमें अनुपस्थित बताया है। सोहागपुर उत्कृष्ट शाला प्राचार्य से इस संबंध में बात करना चाहा लेकिन मोबाइल बंद मिला है।

डाइट का दायित्व सिर्फ परीक्षा कराना था
डाइट प्राचार्य का कहना है एनआइओएस का रीजनल सेक्टर भोपाल में और हेड क्वाटर नोयडा में है। राज्य शिक्षा केंद्र के निर्देश पर ३६ स्टडी सेंटर बनाए थे और परीक्षा नौ सेंटरों पर कराई गई थी। मानव संसाधान मंत्रालय से इसकी बांड निकली थी यह राष्ट्रीय स्तर केटराइज्ड करके परीक्षा कराई गई थी। इसमें डाइट का कोई रोल नही है। डेटा मिस मैच के लिए हेड क्वार्टर और प्रदेश स्तर के मुख्यालय में शिकायत दर्ज कराएं। जानकारी अनुसार जिले से करीब 3200 परीक्षार्थी परीक्षा में बैठे थे।

इनका कहना है...
राज्य शिक्षा केंद्र के निर्देश पर नौ सेंटरों पर डीएलएड की परीक्षाएं हुई थी। प्रथम सेमेस्टर परीक्षा में अनेक लोगों की शिकायते मिल रही है। इसमें सुधार संभव है। एनआइओएस के पास सभी अधिकार हैं अभ्यर्थी इसकी शिकायत भोपाल और नोयडा हेडक्वार्टर पर दर्ज कराएं सुधार होगा।
अर्चना गौर, डाइट प्राचार्य पचमढ़ी

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned