संभाग के २३ हजार दिव्यांगों की आंखों में अच्छे उम्मीदवार का सपना

-पोलिंग बूथों पर रहेगी दिव्यांगों के लिए विशेष तैयारी

By: Rahul Saran

Published: 25 Nov 2018, 06:46 PM IST

होशंगाबाद। विधानसभा चुनाव को लेकर इस बार सामान्य मतदाताओं के साथ ही नर्मदापुरम संभाग का दिव्यांग मतदाता भी खासा उत्साहित है। संभाग के करीब 2३ हजार दिव्यांग मतदाता अपनी लाचारी को पीछे छोड़कर मतदान वाले दिन पोलिंग बूथ पर पहुंचकर प्रदेश का भविष्य गढऩे वाले इस अभियान में भागीदार बनेंगे।
एक अच्छे जनप्रतिनिधि को चुनकर लाने की इच्छा के चलते इन दिव्यांग मतदाताओं ने हर हाल में अपने-अपने पोलिंग बूथों पर मतदान करने जाने का संकल्प लिया है। इधर निर्वाचन विभाग ने भी संभाग के सभी पोलिंग बूथों पर दिव्यांग मतदाताओं के लिए लाइन में नहीं लगने की सुविधा देने का मन बनाया है।
संभाग की सीटों पर
जिले का नाम- होशंगाबाद
विस सीटें-०४
मतदान केंद्र संख्या-११७४
दिव्यांग मतदाता संख्या-९५५७
जिले का नाम- हरदा
विस सीटें-०२
मतदान केंद्र संख्या-५१५
दिव्यांग मतदाता संख्या-३१५९
जिले का नाम-बैतूल
विस सीटें-०५
मतदान केंद्र संख्या-१५६४
दिव्यांगत मतदाता संख्या-९८३३
यह रहेगी सुविधा
नर्मदापुरम संभाग की सभी 11 विधानसभाओं में रहने वाले दिव्यांग मतदाताओं को मतदान केंद्रों पर किसी तरह की परेशानी नहीं हो इसका भी पूरा ध्यान रखा जाएगा। सभी मतदान केंद्र प्रभारियों को दिव्यांगों को कतार में नहीं लगाने के संबंध में निर्देशित कर दिया गया है। जिला निर्वाचन कार्यालय ने सभी मतदान केंद्रों पर दिव्यांगों के लिए यह सुविधा दी है कि वे मतदान केंद्र पर जाकर बिना लाइन में लगे सीधे ही मतदान कर वापस लौट सकेंगे।
किसने क्या कहा
मतदान लोकतंत्र की मजबूती के लिए बहुत जरुरी है। दिव्यांग मतदाताओं को अपनी कमजोरियों को पीछे छोड़ते हुए मतदान करने अवश्य जाना चाहिए ताकि हमारे देश और प्रदेश के लिए अच्छे जनप्रतिनिधि चुनकर आ सकें।
आलोक शुक्ला, दिव्यांग मतदाता
सभी मतदान केंद्रों पर दिव्यांगों के लिए रंैप बनाए गए हैं। उन्हें किसी भी मतदान केंद्र पर लाइन में नहीं लगाया जाएगा। जैसे ही वे बूथ पर पहुंचेंगे तो तत्काल ही उनसे मतदान कराकर उन्हें फ्री कर दिया जाएगा।
वंदना जाट, सहायक निर्वाचन अधिकारी

Rahul Saran
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned