कैसे भागे कोरोना : 15 मिनट में मिलने वाली कोरोना रिपोर्ट सात दिन में आ रही

एंटीजन किट नहीं होने से भोपाल भेजे जा रहे सैंपल, देर से मिल रही रिपोर्ट

By: sandeep nayak

Updated: 20 Mar 2021, 11:53 AM IST

होशंगाबाद/कोरोना के मामले एक बार फिर से बढऩे लगे हैं। इसके बाद भी आमजनों के साथ स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही सामने आ रही है। दरअसल जांच के लिए रैपिड एंटिजन किट महिनों से यहां नहीं है। इस किट की मदद से 15 मिनट में कोरोना संक्रमित होने की जानकारी हो जाती है। किट नहीं होने के कारण संदिग्धों की आरटीपीसीआर जांच करना पड़ रही है। अभी जांच के लिए फीवर क्लीनिक से आरटीपीसीआर टेस्ट कराने के लिए सैंपल भोपाल भेजे जा रहे हैं। फिवर क्लीनिक पर लिए सैंपलों की रिपोर्ट चार से पांच दिन बाद आती है। ऐेसे में रिपोर्ट आने तक व्यक्ति कई अन्य को संक्रमित कर चुका होता है। बता दें रैपिड एंटिजन टेस्ट शुरू होने के बाद जिले में कोरोना को नियंत्रित करने में मदद मिली थी।

शहर में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढऩे के बाद सितंबर 2020 में शासन ने फीवर क्लीनिक और निजी सेंटरों में किट उपलब्ध कराते हुए रैपिड एंटिजन टेस्ट शुरू हुए थे। इससे कुछ ही समय में कोरोना संक्रमण का पता चल जाता है। इसके बाद तुरंत उपचार शुरू होने से संक्रमण फैलने से रोका जा सकता है। लेकिन एक सप्ताह से एंटीजन टेस्ट पूरी तरह से बंद हैं। जिला अस्पताल ही नहीं बनखेड़ी, पिपरिया, सोहागपुर, बाबई, सिवनीमालवा और डोलरिया जैसे ब्लॉकों में भी यही स्थिति है।


संक्रमण से हो चुकी है मौत
जिला अस्पताल के डीसीएचसी में इटारसी की एक महिला ने मंगलवार को गंभीर स्थिति में कोरोना से दम तोड़ दिया था। मतलब कोविड से होने वाली मौत का सिलसिला एक बार फिर से शुरू होता दिखाई दे रहा है।

अब भी कोरोना संक्रमण को लेकर लोग लापरवाह
जिले में अभी लोग कोरोना संक्रमण को लेकर लापरवाही कर रहे हैं। बस स्टैंड, बाजार और चौक चौराहों में लोग बिना मास्क घूम रहे हैं। इंद्राचौक, सतरस्ता और मीनाक्षी चौक क्षेत्रों में संचालिक होटलों में कर्मचारी बिना मास्क और केप के काम कर रहे हैं।

भोपाल से बुलवा रहे हैं किट
किट की कमी से फीवर क्लीनिक में रैपिड एंटिजन टेस्ट नहीं हो पा रहे हैं। हम भोपाल से लगातार संपर्क में हैं। पूरे मामले में लगातार फॉलोअप कर रहा हूं।
- मनोज सारियाम, जिला पंचायत सीइओ होशंगाबाद
पुलिस और प्रशासन संयुक्त रूप से बिना मास्क के चलने वालों और दुकानों में काम करने वालों पर कार्रवाई शुरू कर दी है। इसके साथ पुलिस के पेट्रोलिंग वाहन लोगों को भीड़ में खड़े नहीं रहने की समझाइश दे रहे हैं।
- मंजू चौहान, एसडीओपी होशंगाबाद

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned