सतपुड़ा टाइगर रिजर्व को मिला अर्थ नेटवेस्ट का अर्थ हीरोज पुरस्कार, वनमंत्री ने ट्वीट कर दी बधाई

बाघों के सर्वश्रेष्ठ प्रबंधन के लिए मिला पुरस्कार...विश्व धरोहर की संभावित सूची में भी मिला स्थान..

By: Shailendra Sharma

Published: 28 Jul 2021, 08:55 PM IST

होशंगाबाद. सतपुड़ा टाइगर रिजर्व (एसटीआर) को सर्वश्रेष्ठ प्रबंधन के लिए अर्थ गार्जियन श्रेणी में नेटवेस्ट ग्रुप अर्थ हीरोज का पुरस्कार दिया गया है। वन मंत्री कुंवर विजय शाह ने सतपुड़ा टाइगर रिजर्व प्रबंधन से जुड़े अमले को ट्विटर पर बधाई दी है। इसी के साथ सतपुड़ा टाइगर रिजर्व को विश्व धरोहर की संभावित सूची में भी स्थान मिल गया है। होशंगाबाद जिले में 2130 वर्ग किलोमीटर में फैला सतपुड़ा टाइगर रिजर्व डेक्कन बायो-जियोग्राफिक क्षेत्र का हिस्सा है। बाघों की उपस्थिति और उनके प्रजनन क्षेत्र के रूप में सतपुड़ा नेशनल पार्क प्रसिद्ध है। हिमालय क्षेत्र में पाई जाने वाली वनस्पतियों में 26 प्रजातियां और नीलगिरि के वनों में पाई जाने वाली 42 प्रजातियां सतपुड़ा वन क्षेत्र में भी पाई जाती हैं। यहां अकाई वट, जंगली चमेली जैसी वनस्पतियां हैं, जो अन्य कोई स्थान में पाई नहीं जाती।

ये भी पढें- रात 4 बजे पुलिस ने खटखटाया दरवाजा, अंदर मौजूद थे लड़के-लड़कियां

photo6127636967010183640_6303624_835x547-m.jpg

बाघों की सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा पर्यावास का हिस्सा
सतपुड़ा की पहाड़ी में रिजर्व और संरक्षित जंगल मिलाकर 10 हजार वर्ग किमी के दायरे में फैला सतपुड़ा टाइगर रिजर्व (एसटीआर) दुनिया में बाघों के पर्यावास के लिए सबसे बड़ा हिस्सा है। यह क्षेत्र टाइगर के लिए सबसे अच्छा माना गया है। पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने विश्व में बाघों के पर्यावास के लिए एसटीआर को सबसे बड़ा हिस्सा माना है।

ये भी पढ़ें- हे भगवान...प्रदेश के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में महिला मरीज के साथ छेड़छाड़ !

so1201-cmyk-1484200157_835x547.jpg

एसटीआर में वन्यप्राणी
सतपुड़ा टाइगर रिजर्व में लगभग 50 बाघ तथा 200 से अधिक तेंदुआ हैं। बड़ी संख्या में भालू एवं बायसन भी यहां की शोभा बढ़ाते हैं। इसके अलावा चिंकारा, हिरण, सांभर, नीलगाय, उडऩ गिलहरी, मालाबार बड़ी गिलहरी आदि भी यहां पाए जाते हैं। बोरी रेंज के समीप बारहसिंघा का प्राकृतिक पर्यावास भी यहां पर बनाया गया एवं बड़ी संख्या में बारहसिंघों को यहां बताया गया है। दुनिया की सबसे छोटी बिल्ली "रस्टी कैट" सतपुड़ा टाइगर रिजर्व क्षेत्र में पाई जाती है। इसके अलावा एसटीआर में 300 से अधिक पक्षियों की प्रजातियां हैं। मालाबार पाइड धनेश, मालाबार विशलिंग थर्स सहित अन्य शामिल हैं।

ये भी पढ़ें- शिकायत दर्ज कराने पहुंची रेप पीड़िता को हुई प्रसव पीड़ा, थाने में कराई डिलीवरी

एसटीआर ऐसे फैला
- 528.73 वर्ग किमी है सतपुड़ा पार्क
- 794.04 वर्ग किमी बफरजोन
- 1339.26 वर्ग किमी कोर एरिया
- 2133.30 वर्ग किमी में फैला है

देखें वीडियो- 10 हजार रूपये की रिश्वत लेते पटवारी धराया

Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned