यहां पर जमीन के अंदर से निकली कच्ची शराब, देखकर रह गए हैरान, जा सकती थीं कई जानें

आबकारी विभाग को मिला 1000 किलो महुआ लाहन

By: sandeep nayak

Published: 04 Jan 2018, 08:00 PM IST

इटारसी। किसी जगह यदि जमीन के अंदर से शराब मिले तो आप इसे क्या कहेंगे। जीहां ऐसा ही कुछ देखने के मिला गुरुवार को इटारसी में जहां जमीन के अंदर से बड़ी मात्रा में कच्ची शराब निकली। जिसे देखकर हरकोई हैरान रह गया। आबकारी विभाग ने बुधवार को गरीबी लाइन झुग्गी झोपड़ी क्षेत्र में अचानक छापामार कार्यवाही की। इस कार्यवाही में रेलवे ट्रेक के आसपास और घरों से कच्ची शराब बरामद हुई। कच्ची शराब बनाने वालों ने घर के आंगनों में गड्ढे खोदकर शराब के कुप्पे छिपा रखे थे जिन्हें विभाग ने नष्ट किया।
आबकारी विभाग को गरीबी लाइन झुग्गी झोपड़ी क्षेत्र कच्ची शराब की बड़ी खेप तैयार होने की सूचना मिली थी। इस सूचना पर आबकारी उप निरीक्षक राजेश साहू ने टीम बनाई और मौके पर पहुंच गए। जिन घरों में कच्ची शराब का काम होता रहा है वहां टीम ने आकस्मिक चेकिंग अभियान चलाया। इस दौरान रेलवे ट्रेक किनारे जमीन में और घरों के आंगन में दबाए गए शराब के कुप्पे निकाल कर नष्ट किए गए। करीब 20 हजार रुपए की शराब नष्ट की गई है और चार लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है।

दबिश देकर बड़ी मात्रा में कच्ची शराब और महुआ लाहन जब्त किया
पिपरिया। एसपी एवं सहायक आबकारी आयुक्त के निर्देशन में अलसुबह दबिश देकर कार्यवाही की। जिसमें १७ आरोपियों को गिरफ्तार कर २० प्रकरण कायम किए गए गए हैं। ज्ञात रहे कि इसके पहले भी विभाग की तरफ से दबिश देकर बड़ी मात्रा में कच्ची शराब और महुआ लाहन जब्त किया है।जानकारी के अनुसार आबकारी और पुलिस ने पिपरिया में सुबह करीब ५ बजे संयुक्त कार्यवाही करते हुए अवैध शराब की भट्टी पर छापेमार कार्यवाही की है। इस दौरान कुचबंदिया मोहल्ले से 1675 लीटर महुआ लहान और 85 लीटर कच्ची शराब जब्त की गई है। कार्यवाही अवैध शराब माफियाओ में हड़कंप मच गया।

पुलिस बल रहा मौजूद
कार्रवाही पुलिस अधीक्षक अरविंद सक्सेना होशंगाबाद एवं सहायक आबकारी आयुक्त राजनारायण सोनी के मार्गदर्शन में की गई। जिसमें एसडीओपी रण विजय सिंह कुशवाहा पिपरिया थाना, स्टेशन रोड एवं मंगलवारा, तथा आबकारी पिपरिया की संयुक्त टीम और बड़ी संख्या में पुलिस जवान मौजूद रहे। पिपरिया के आम्बेडकर वार्ड में दी गई इस दबिश में टीम ने 17 आरोपियों को गिरफ्तार कर कुल 20 प्रकरण कायम किये हैं।

जा सकती थी कई जानें
गौरतलब है कि कच्ची शराब इंसानी शरीर के लिए काफी घातक होती है। अब तक देश के कई हिस्सों में इसे पीने से कई लोगों की जानें जा चुकी हैं। समय रहते यहां पर कार्रवाई नहीं होने पर कई जान जा सकती थीं।

Show More
sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned