तीन हफ्ते बाद भी नहीं पकड़ाया ढाबा संचालक की हत्या का साजिशकर्ता

-नांदनेर के ढाबा संचालक शैलू उर्फ शैलेंद्र राजपूत की हत्या की साजिश

By: Rahul Saran

Published: 28 Oct 2019, 03:27 PM IST

होशंगाबाद. नांदनेर के ढाबा संचालक शैलू उर्फ शैलेंद्र राजपूत की हत्या का साजिशकर्ता जुआ-सट्टा का अवैध कारोबारी हेमंत पटेल तीन हफ्ते बाद भी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ सका है। टीमें उसके ठिकानों पर लगातार दबिश दे रही है। वह अभी फरार चल रहा है। ज्ञात रहे कि हेमंत पटेल ने भाड़े के तीन बदमाशों को 10 लाख की सुपारी देकर शैलू की हत्या का षडय़ंत्र रचा था। बुधनी पुलिस इन तीन आरोपियों शूटर वीरू उर्फ वीरेंद्र राजपूत, पवन यादव एवं राम यादव को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

बरामद नहीं हुई है पिस्टल
बुधनी थाना प्रभारी संध्या मिश्रा ने बताया कि मुख्य आरोपी हेमंत पटेल फरार चल रहा है। उसकी गिरफ्तारी के लिए टीमें सक्रिय हैं। उसके विभिन्न ठिकानों पर दबिश जारी है। ढाबा संचालक शैलू उर्फ शैलेंद्र राजपूत की हत्या के प्रयास के इस मामले में अभी अरोपियों से पिस्टल बरामद होना बाकी है। उक्त पिस्टल शूटर वीरू उर्फ वीरेंद्र राजपूत से साजिशकर्ता हेमंत पटेल ने वापस ले ली थी। हेमंत की गिरफ्तारी के बाद पिस्टल को बरामद किया जाएगा।

यह थी घटना

बुधनी के एसडीएम कार्यालय के पास 3 अक्टूबर को ढाबा संचालक शैलू उर्फ शैलंद्र पिता होशियार सिंह राजपूत निवासी नांदनेर दर्ज प्रकरण की पेशी पर कार से आया था। जैसे ही वह कार से उतरा। पल्सर बाइक सवार नकावपोश दो बदमाशों ने उसे पिस्टल से गोली मारकर हत्या की कोशिश की थी। यह साजिश रायसेन जिले के जुआ-सट्टा के अवैध कारोबारी हेमंत पटेल ने रची थी। हेमंत ने बंगाली कॉलोनी होशंगाबाद निवासी पवन यादव के निवास पर वीरू उर्फ वीरेंद्र राजपूत एवं राम यादव को 10 लाख की सुपारी थी।

Rahul Saran
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned