scriptExclusive- A dam of the state from which the water is disappearing | Exclusive- एक बांध जिससे गायब हो रहा पानी | Patrika News

Exclusive- एक बांध जिससे गायब हो रहा पानी

इतने पानी से बुझ सकती थी 16 लाख लोगों की प्यास

होशंगाबाद

Published: May 11, 2022 05:00:56 pm

नर्मदापुरम
बेतहासा गर्मी और बढ़ते तापमान की वजह से तवा बांध में तेजी से वाष्पीकरण हो रहा है। जिसकी वजह से साल भर में छह फीट पानी भाप बनकर उड़ गया। इतना पानी लगभग 16 लाख लोगों की साल भर प्यास बुझा सकता था। विभागीय आंकड़े बताते हैं कि अकेले मई के महीने में ही बांध से करीब 1 फीट पानी भाप बनकर उड़ जाता है। जबकि इतना पानी अकेले आर्डनेंस फैक्ट्री के साल भर की जरूरत को पूरा कर सकता है। तवा बांध से हर महीने आर्डनेंस फैक्ट्री को एक एमसीएम पानी दिया जाता है। जिसका उपयोग यहां रहने वाले तकरीबन 11 हजार लोग करते हैं। प्रबंधन के मुताबिक दो एमसीएम में औसतन 1 इंच पानी घटने का अनुमान है।
Exclusive- A dam of the state from which the water is disappearing
Exclusive- A dam of the state from which the water is disappearing
बांध में बचा 201.05 एमसीएम पानी-
तवा बांध का जलस्तर मंगलवार को 1118 फीट दर्ज किया गया। वर्तमान में तवा बांध की नहरों से नर्मदापुरम (होशंगाबाद) और हरदा जिले को मूंग की सिंचाई के लिए 3736 क्यूसेक पानी दिया जा रहा है। 25 मार्च से 20 मई तक सिंचाई के लिए बांध से पानी देने का शेड्यूल तय है। फिलहाल बांध में 201.05 एमसीएम पानी बचा है।
जानिए... तवा बांध के बारे में-
तवा परियोजना भारत की एक प्रमुख नदी घाटी परियोजना है। इसके अंतर्गत नर्मदा की सहायक तवा नदी पर बांध बनाया गया। बांध 58 मीटर ऊंचा और 1815 मीटर लंबा है। बांध की अधिकतम ऊंचाई नींव की गहनतम सतह से 58 मीटर है। बांध एवं नहर का निर्माण वर्ष 1978 में पूर्ण हुआ था। इसकी संचयन क्षमता 1993 मिलियन घनमीटर है।
दो जिलों में होती है सिंचाई-
तवा बांध से हरदा तक मुख्य नहर 131 किमी और उसकी सहायक नहरें 1688 किमी का सर्वे करने के बाद नहरों का निर्माण कराया गया था। नहरों से दोनों जिले के तकरीबन तीन लाख हेक्टेयर भूमि में हर साल सिंचाई होती है। नहरों का स्वरूप साल दर साल बदलता जा रहा है। मिट्टी और नहरों के कटाव की वजह से अंतिम छोर तक पानी नहीं पहुंच पाता।
हर महीने बांध से हो रहा इतना वाष्पीकरण...
जनवरी - 0.4
फरवरी - 0.4
मार्च - 0.5
अपे्रल - 0.7
मई - 1.0
जून - 0.8
जुलाई - 0.3
अगस्त - 0.3
सितंबर - 0.4
अक्टूबर - 0.4
नवंबर - 0.4
दिसंबर - 0.4
(नोट : पानी फीट में।)
इनका कहना है...
वाष्पीकरण से तवा बांध का करीब छह फीट पानी भाप बनकर उड़ जाता है। बांध में 201 एमसीएम पानी बचा है। सिंचाई के बाद करीब 20 एमसीएम पानी रिजर्व रखेंगे। जिससे आर्डनेंस फैक्ट्री में पानी की पूर्ति की जा सके।
-एनके सूर्यवंशी, एसडीओ तवा बांध

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंऐसा होगा यूपी का पहला कृत्रिम समुद्र, यहां देखें तस्वीरें, मुफ्त मनोरंजन और रोजगार भीबनना चाहते थे फौजी, किस्‍मत ने बनाया क्रिकेटर, ऐसी है Delhi Capitals के मैच विनर की कहानीरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मतबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करेंकई संपत्ति के मालिक होते हैं इन 3 तारीखों में जन्मे लोग, होते हैं किस्मत वालेइन 4 बर्थ डेट वाली लड़कियां बनती हैं अच्छी पत्नी, चमका देती हैं पति की तकदीरजबरदस्त डिमांड के चलते 17 महीनों तक पहुंचा Kia की इस 7-सीटर कार का वेटिंग! कम कीमत में Innova को देती है टक्कर

बड़ी खबरें

बड़ी खबर : 10 स्कूलों को मिली बम से उड़ाने की धमकीNEET PG 2022: सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की याचिका, 21 मई को ही होगी एग्जामदिल्ली में बुलडोजर एक्शन पर बोले डिप्टी सीएम सिसोदिया, BJP कर रही वसूली, 63 लाख घरों को तोड़ने का प्लाननिवेशकों को पैसा लौटाने का मामला: पटना हाईकोर्ट में पेश नहीं हुए सुब्रत राय, गिरफ्तारी वारेंट जारीज्ञानवापी मस्जिद-श्रृंगार गौरी मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, सर्वे पर रोक से किया इनकारजम्मू कश्मीर: कश्मीरी पंडित की हत्या के एक दिन बाद अब आतंकियों ने SPO को मारी गोली, हुई मौतछोटे करदाताओं को सरकार ने दी राहत, अब नहीं खुलेंगी 6 वर्ष पुरानी फाइलेंश्रीलंका के नए PM रानिल विक्रमसिंघे को राजपक्षे परिवार का करीबी बता लोग फिर कर रहे विरोध-प्रदर्शन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.