नागद्वारी मेला : चढ़ोतरी स्थल हुए नीलाम, चौरागढ़ मंदिर की नहीं लग सकी बोली

नागद्वारी मेला : चढ़ोतरी स्थल हुए नीलाम, चौरागढ़ मंदिर की नहीं लग सकी बोली

govind chouhan | Publish: Jul, 14 2018 08:00:00 AM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

पांच अगस्त से 15 अगस्त तक चलेगा प्रसिद्ध नागद्वारी मेला, बोल बम के जयकारे से गूंजेगा हिल स्टेशन

पिपरिया. नागद्वारी मेले की उल्टी गिनती शुरु हो गई है। कलेक्टर मेला ट्रैक निरीक्षण कर प्रशासनिक अमले को रास्ते सुधार, मरम्मत के निर्देश दे चुकी है। प्रसिद्ध चढ़ोत्तरी स्थलों की नीलामी कार्य हो गया है लेकिन इसमें चौरागढ़ की नीलामी नहीं हो पाई है।
अगस्त माह में पचमढ़ी में बम बोल के जयकारे गूंजेंगे लाखों की संख्या में नागद्वारी मेले में महाराष्ट्र से भक्त भोले शंकर के दर्शन के लिए पहुंचेगी। प्रशासन ने प्रमुख चढ़ोत्तरी स्थलां को ठेके पर दिए जाने नीलामी बोली पूर्ण कर ली है। एसडीएम मदन सिंह रघुवंशी ने बताया कि चौरागढ़ मंदिर की नीलामी के लिए कोई बोली लगाने वाला नहीं आया इसलिए इस साल प्रशासनिक प्रतिनिधि ही वहां तैनात किए जाएंगे जो भी आए होगी उसे मेला समिति में जमा कराया जाएगाा। मेला ट्रैक सुधार कार्य के लिए पीडब्लूडी को जवाबदारी सौंप दी गई है। नाले नालियों पर सुरक्षा प्रबंध कराए जा रहे है। श्रद्धालुओं को रुकने और उनके पेयजल आदि के पुख्ता प्रबंध किए जा रहे है।
5 अगस्त से 15 अगस्त तक चलेगा
नागद्वारी मेला समिति के गौरव ने बताया कि इस साल चढ़ोत्तरी स्थलों की नीलामी पिछले साल से अधिक पर गई है। नागद्वारी चढ़ोत्तरी स्थल २२ लाख ९१ हजार, चित्रशाला 5 लाख 49 हजार, बड़ा महादेव 1 लाख 6 हजार, चिंतामन 1 लाख में नीलाम हुआ है। नीलामी से कुल आए 32 लाख रुपए होगी।
एक अगस्त से मडलों को मिलेगा प्रवेश
नागद्वारी मेला पद यात्रा करीब 16 किमी है इसे पैदल ही पूरा किया जाता है। महादेव मेला समिति ने इस साल नागपुर महाराष्ट से आने वाले सेवा मण्डलों को मेला क्षेत्र में प्रवेश की अनुमति 1 अगस्त से जारी करने का निर्णय लिया है ताकि वे दुर्गम स्थल पर श्रद्धालुओं के व्यवस्थाएं पूर्ण कर सके। अधिकृत रुप से श्रद्धालुओं के लिए मेला प्रवेश 5 अगस्त से प्रारंभ होगा जो 15 अगस्त तक चलेगा। मेले में महाराष्ट्र से भक्त भोले शंकर के दर्शन के लिए पहुंचेगी ।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned