नोटिस में ऐसा क्या लिखा था कि किसान ने पी लिया जहर...पढ़ें खबर

नोटिस में ऐसा क्या लिखा था कि किसान ने पी लिया जहर...पढ़ें खबर

yashwant janoriya | Publish: Dec, 07 2017 11:13:51 AM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

बैंक ने नोटिस भेज दी भूमिहीन किसान को जेल भेजने की धमकी, एक बैंक एवं दो माइक्रो फाइनेंस कंपनी का है ढाई लाख का कर्ज

होशंगाबाद. कर्ज नहीं चुकाने और ऊपर से बैंक द्वारा नोटिस भेजकर जेल भेजने की धमकी देने से परेशान एक भूमिहीन किसान ने बुधवार को जहर खा लिया। उसे गंभीर हालत में होशंगाबाद के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बैंक ने उसे कर्ज चुकाने के लिए ९ दिसंबर तक की मोहलत दी थी। मामला बाबई के शुक्करवाड़ा कला गांव का है। पुलिस ने बताया कि शेरसिंह पिता रामदयाल कीर (52) भूमिहीन किसान है। वह खोट (किराए पर भूमि लेकर) पर खेती करता है। उसके छोटे पुत्र ब्रजेश ने बताया कि उसके पिता ने बैनीसिंह से तीन एकड़ जमीन खोट पर ली है। जिसमें कद्दू की खेती करते हैं। घर बनाने के लिए उन्होंने क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक से मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत 1.20 लाख रुपए का लोन लिया था। जिसकी कुछ राशि बैंक में मार्च माह में जमा भी की थी। बैंक के अधिकारी ओर किश्त जमा करने के लिए दबाव डाल रहे थे लेकिन पैसा हमारे पास नहीं था। बैंक ने 5 दिसंबर को नोटिस देकर कहा था अगर 9 दिसंबर को कोर्ट में पेश नहीं हुए और राशि जमा नहीं की तो पुलिस केस बनवाकर जेल भेज देंगे। जिससे उसके पिता परेशान हो गए थे। इसके अलावा होशंगाबाद के सतरस्ता पर स्थित जनलक्ष्मी फाइनेंस कंपनी से खुद के नाम 40 हजार एवं मां विमला के नाम 30 हजार रुपए तथा इटारसी की दिशा माइक्रो फाइनेंस कंपनी से मां के नाम 30 हजार रुपए का कर्ज भी लिया है। ये दोनों कंपनियों के कर्मचारी भी पैसा जमा करने के लिए लगातार दबाव डाल रहे थे। मानसिक रूप से तंग आकर बुधवार दोपहर करीब 2 बजे खेत पर ही कीटनाशक पी ली। उन्हें उल्टियां करते हुए देखा तो बाइक से जिला अस्पताल लाकर भर्ती कराया। यहां हालत में सुधार नहीं होने पर पांडेय हास्पिटल में भर्ती कराया है। वह तनाव के चलते दो-तीन दिन से खाना भी नहीं खा रहे थे। कोतवाली पुलिस ने हास्पिटल पहुंचकर घटना के संबंध में परिजन से पूछताछ की है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned