आग बढ़ा रही अन्नदाता की मुसीबतें, खिंचने लगी चिंता की लकीरें, ये है कारण

आग से जली गेहूं की फसल

By: sandeep nayak

Published: 04 Apr 2019, 06:20 PM IST

होशंगाबाद। जिले में गेहूं की फसल में आगजनी की घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रही हैं। गुरुवार को होशंगाबाद-इटारसी के बीच रैसलपुर एवं बोरतलाई गांव में आगजनी से गेहूं की करीब 60 एकड़ फसल जलकर राख हो गई। इटारसी-होशंगाबाद की नपा दमकलों ने भारी मशक्कत के बाद आग को काबू पाया, आग बगीचे में चल रहे हारवेस्टर से भड़कते हुए खेतों में जा फैली।

जानकारी के अनुसार इन दिनों गांवों में गेहूं की फसल पककर तैयार खड़ी है। कई जगह कटाई अंतिम दौर में है। ऐसे में जरा सी चिंगारी भी यहां पर बड़े नुकसान को अंजाम दे देती है। गुरुवार को भी ऐसा ही कुछ हुआ है। जब रेसलपुर में अज्ञात कारणों में खेत में रखी गेहूं में करीब 60 एकड़ की फसल में आग लग गई। जिससे किसान को लाखों रूपए का नुकसान हो गया है।


तीन दिन पहले एक हजार एकड़ से अधिक की नरवाई जली
सिवनीमालवा. तहसील के ग्राम तोरनिया के पास से सोमवार की दोपहर में नरवाई में आग लग गई। जो हवा की दिशा में फैलते हुए चतरखेड़ा, भिलाडिय़ा, हरसुल, सहित अन्य ग्रामों तक जा पहुंची। जिसमे करीब एक हजार एकड़ से अधिक खेतो की नरवाई जल गई। आग को बढ़ता देख ग्रामवासीयों ने अपने अपने संसाधनों से आग बुझाने में दिन भर जुटे रहे। वहीं सिवनी मालवा नपा की दमकल और इटरसी नपा की दमकल सहित ग्राम पंचायत के टेंकरों ने भी आग बुझाने दिनभर मशक्कत की।
वहीं चतरखेड़ा के पास बाबरी तिराहे पर स्थित पेट्रोल पंप के चारों तरफ आग पहुंच गई। आग को आता देख पम्प संचालक ने पम्प के चारोंं तरफ मोटर से पानी डालकर सिंचाई गीला कर दिया और डीजल पेट्रोल टैंकरों पर भी पानी सींचा गया। नायब तहसीलदार ओपी सोनी ने बताया कि आग से एक कच्चे मकान जल गया है। वहीं हजार एकड़ से अधिक नरवाई जल गई है।

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned