अभियान के फील्ड विजिट पर निकले डिप्टी डायरेक्टर के सामने उजागर हो गई खामियां

अभियान के फील्ड विजिट पर निकले डिप्टी डायरेक्टर के सामने उजागर हो गई खामियां
Flaws revealed in front of deputy director on campaign's field visit

Manoj Kumar Kundoo | Updated: 21 Aug 2019, 08:52:41 PM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

दिल्ली से आए कुष्ठ विभाग के डिप्टी डायरेक्टर ने घर-घर जाकर ली अभियान की जानकारी, तवानगर, पथरौटा और इटारसी में किया फील्ड विजिट

 

होशंगाबाद
जिले में कुष्ठ उन्मूलन के लिए १ से २० अगस्त तक अभियान चलाया जा रहा है। अभियान का सोमवार को दिल्ली से आए कुष्ठ विभाग के डिप्टी डायरेक्टर डा. अनिल कुमार ने फील्ड विजिट किया। विजिट के दौरान उन्होंने घर-घर जाकर जानकारी ली। पूछने पर पता चला कि आशा कार्यकर्ताओं ने घरों में सिर्फ पूछताछ की। जिन्होंने मना कर दिया, उनकी जांच तक नहीं की। जिस पर डिप्टी डायरेक्टर ने असंतोष जताय्ते हुए कहा, यह गलत है। घर-घर जाकर पूछना नहीं है लोगों की जांच करके चिन्हित करना है। डिप्टी डायरेक्टर डा. अनिल कुमार के साथ जिला कुष्ठ अधिकारी डा. संजय पुरोहित सहित आशा व आशा सहयोगी मौजूद थीं। डिप्टी डायरेटर ने तवानगर, पथरौटा और इसके बाद इटारसी पीपल मोहल्ला में घर-घर जाकर लोगों से जानकारी ली। डिप्टी डायरेक्टर ने पूछा- क्या आशा कार्यकर्ता आपके घर आईं थी। क्या पूछा और किस तरह जांच की जैसे सवाल किए। डिप्टी डायरेक्टर ने जिला कुष्ठ अधिकारी, आशा व आशा कार्यकर्ताओं को समझाइश दी कि कई बार लोग कुष्ठ के दाग धब्बों को पहचान नहीं पाते हैं और छुपाते हैं। इसलिए उनसे पूछताछ करने की बजाय जांच करें। जिससे कुष्ठ उन्मूलन अभियान को सफल बनाया जा सके।
---------
जिले में चिन्हित किए गए चार हजार चर्म रोगी-
अभियान के तहत ७ लाख ७६ हजार ६८ लोगों का घर-घर जाकर परीक्षण किया गया। जिनमें चर्म रोग के लगभग चार हजार मरीजों को चयनित किया गया है। इन सभी मरीजों में कुष्ठ की जांच २० अगस्त के बाद संबंधित सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में की जाएगी। अभियान में जिले भर की ९०० आशा कार्यकर्ताओं का सहयोग लिया गया।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

अभियान के फील्ड विजिट पर निकले डिप्टी डायरेक्टर के सामने उजागर हो गई खामियां

दिल्ली से आए कुष्ठ विभाग के डिप्टी डायरेक्टर ने घर-घर जाकर ली अभियान की जानकारी, तवानगर, पथरौटा और इटारसी में किया फील्ड विजिट

होशंगाबाद
जिले में कुष्ठ उन्मूलन के लिए १ से २० अगस्त तक अभियान चलाया जा रहा है। अभियान का सोमवार को दिल्ली से आए कुष्ठ विभाग के डिप्टी डायरेक्टर डा. अनिल कुमार ने फील्ड विजिट किया। विजिट के दौरान उन्होंने घर-घर जाकर जानकारी ली। पूछने पर पता चला कि आशा कार्यकर्ताओं ने घरों में सिर्फ पूछताछ की। जिन्होंने मना कर दिया, उनकी जांच तक नहीं की। जिस पर डिप्टी डायरेक्टर ने असंतोष जताय्ते हुए कहा, यह गलत है। घर-घर जाकर पूछना नहीं है लोगों की जांच करके चिन्हित करना है। डिप्टी डायरेक्टर डा. अनिल कुमार के साथ जिला कुष्ठ अधिकारी डा. संजय पुरोहित सहित आशा व आशा सहयोगी मौजूद थीं। डिप्टी डायरेटर ने तवानगर, पथरौटा और इसके बाद इटारसी पीपल मोहल्ला में घर-घर जाकर लोगों से जानकारी ली। डिप्टी डायरेक्टर ने पूछा- क्या आशा कार्यकर्ता आपके घर आईं थी। क्या पूछा और किस तरह जांच की जैसे सवाल किए। डिप्टी डायरेक्टर ने जिला कुष्ठ अधिकारी, आशा व आशा कार्यकर्ताओं को समझाइश दी कि कई बार लोग कुष्ठ के दाग धब्बों को पहचान नहीं पाते हैं और छुपाते हैं। इसलिए उनसे पूछताछ करने की बजाय जांच करें। जिससे कुष्ठ उन्मूलन अभियान को सफल बनाया जा सके।
---------
जिले में चिन्हित किए गए चार हजार चर्म रोगी-
अभियान के तहत ७ लाख ७६ हजार ६८ लोगों का घर-घर जाकर परीक्षण किया गया। जिनमें चर्म रोग के लगभग चार हजार मरीजों को चयनित किया गया है। इन सभी मरीजों में कुष्ठ की जांच २० अगस्त के बाद संबंधित सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में की जाएगी। अभियान में जिले भर की ९०० आशा कार्यकर्ताओं का सहयोग लिया गया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned