सतपुड़ा टाइगर रिजर्व में वन मंत्री ने अपने मोबाइल में कैद की 4 शावकों को दूध पिलाते हुए बाघिन की दुर्लभ तस्वीरें

सतपुड़ा टाइगर रिजर्व की तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे थे वन मंत्री विजय शाह, चार शावकों को दूध पिलाते हुए दुर्लभ तस्वीर अपने मोबाइल फोन में की कैद।

 

By: Faiz

Published: 23 May 2021, 03:09 PM IST

होशंगाबाद। मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार में वन मंत्री विजय शाह ने सतपुड़ा टाईगर रिजर्व के भ्रमण पर होशंगाबाद जिले पहुंचे। दरअसल, यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर की संभावित सूची में शामिल सतपुड़ा टाइगर रिजर्व का नाम शामिल किया जा सकता है। इसी की तैयारियों का जायजा लेने मंत्री यहां पहुंचे थे। इस दौरान मंत्री शाह ने अपने मोबाइल फोन में बाघिन द्वारा अपने शावकों को दूध पिलाने की दुर्लभ तस्वीरें कैद कीं।

 

पढ़ें ये खास खबर- MP का जवान सिक्किम में शहीद : विस्फोट से गई जान, रात 10 बजे तक इंदौर पहुंचेगा शव, सोमवार को होगा अंतिम संस्कार

देखें खबर से संबंधित वीडियो...

बाघिन ने हालही में दिया है 4 शावकों को जन्म

वन मंत्री विजय शाह ने सतपुड़ा टाईगर रिजर्व के निरिक्षण के दौरान बाघिन और चार शावकों को अपने कैमरे में कैद की है। उल्लेखनीय है कि, टाईगर रिजर्व क्षेत्र में बाघिन द्वारा हाल ही में एक साथ चार शावकों को जन्म दिया गया है।


तेजी से बढ़े हैं टाईगर रिजर्व में बाघ

वन मंत्री शाह ने बताया कि, टाईगर रिजर्व में ग्रामों के विस्थापन और सुरक्षा की समुचित व्यवस्था के कारण यहां के वनों में बाघों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है। यहां के वनों में बाघों के अलावा तेंदुआ, भालू, सोन कुत्ता और सांभर पाए जाते है।

 

पढ़ें ये खास खबर- बच्चों के लिये ज्यादा घातक होगी तीसरी लहर : यहां बना MP का पहला चिल्ड्रन कोविड सेंटर, मां भी रह सकेगी साथ, ये होंगी व्यवस्थाएं


1450 वनस्पतिक प्रजातियां है रिजर्व में

वन मंत्री ने बताया कि सतपुड़ा टाईगर रिजर्व जैव विविधता से समृद्ध है। यहां देशी-विदेशी पक्षियों की 225 से अधिक प्रजातियां समेत 1450 वनस्पतिक प्रजातियां पाई जाती है। ये क्षेत्र बायोस्फियर रिजर्व के रूप में भी दर्ज है।


वर्ल्ड हैरिटेज में शामिल हुआ तो बढ़ेगा ग्रामीणों का रोजगार

वन मंत्री कुंवर शाह ने बताया कि, विश्व धरोहर की संभावित सूची में सतपुड़ा टाईगर रिजर्व को शामिल करने से पर्यटकों की संख्या में अप्रत्यासशित वृद्धि होगी, जिससे स्थानीय ग्रामीणों के रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned