कलेक्टर-एसपी के सामने ही किसानों को लगी चपत, ये है कारण

समर्थन मूल्य खरीदी के मामले में हो रहा था ऐसा कारनाम

By: sandeep nayak

Updated: 10 Apr 2019, 06:23 PM IST

मनोज कुंदू/ होशंगाबाद। कलेक्टर के फरमान का गेहूं खरीदी केंद पर असर नहीं हो रहा है। यहां अब भी किसानों से बारदाने के वजन की आड़ में ज्यादा गेहूं लिया जा रहा है। खुद कलेक्टर, कमिश्नर और एसपी ने मंगलवार को केंद्रों पर अपनी आंखों के सामने यह होता देखा तो भड़क गए। उन्होंने इस पर फटकार लगाते हुए बारदाने का सिर्फ आधा किलो वजन मानते हुए उतना ही गेहूं अधिक तौलने के दोबारा निर्देश दिए। लेकिन खरीदी केंद्रों पर अब तक किसानों से २.७८ लाख क्विंटल गेहूं खरीदा जा चुका है। इन किसानों से दो लाख रुपए कीमत का 111 क्विंटल अधिक गेहूं तौलकर ले लिया गया।

ज्ञात रहे कि कलेक्टर शीलेंद्र सिंह ने एक दिन पहले ही बारदानों का वजन 580 ग्राम से ज्यादा नहीं लेने के आदेश दिए हैं। बावजूद इसके खरीदी केंद्रों पर किसानों से 600 से 700 ग्राम तक बारदाने के वजन का गेहूं लिया जा रहा है। जिले में अभी तक 2 लाख 78 हजार क्विंटल गेहूं खरीदी जा चुकी है। जिसमें 111.2 क्विंटल यानी लगभग 2 लाख रुपए से ज्यादा की किसानों को चपत लग चुकी है। नागरिक आपूर्ति निगम के डीएम दिलीप सक्सेना ने बताया कि बारदाने का स्टैंडर्ड वजन 580 ग्राम है। जबकि खरीदी केंद्रों पर लिए गए बारदाने का वजन ५०० ग्राम तक मिला।

 

 

डेढ़ सौ ग्राम से ज्यादा ले रहे गेहूं -
रोहना में 50 किलो 580 ग्राम की बजाय 50 किलो 750 ग्राम की तुलाई हो रही थी। इसका खुलासा कमिश्नर रविन्द्र मिश्रा, कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह व एसपी एमएल छारी के सामने मंगलवार को खरीदी केंद्रों का निरीक्षण करने के दौरान हुआ। जिस पर उन्होंने नाराजगी जताई। इसके अलावा सांवलखेडा एवं डोलरिया खरीदी केंद्रों में कम बारदाना व परिवहन नहीं होने पर नाराजगी जताई।

 

हालात बताती तस्वीरें और जिम्मेदारों के अजीब तर्क

सेवा सहकारी समिति जासलपुर

-समय : सुबह 11.30 बजे
-हालात : कृषि मंडी होशंगाबाद में खरीदी केंद्र बनाया गया है। यहां छोटे कांटे पर तौल चल रही थी। बोरियों में 50 किलो 600 ग्राम गेहूं भरा जा रहा था। केंद्र प्रभारी मर्दन सिंह ने कहा- 50 किलो 580 ग्राम की भर्ती चल रही है। मजदूर लोग हैं हो सकता है एक आध बोरी में ज्यादा भर दिया हो।

 

Fraud From Farmers in front of collector-SP

नर्मदांचल सोसाइटी होशंगाबाद

-समय : दोपहर 12.30 बजे
-हालात : खरीदी केंद्र कृषि मंडी में 50 किलो 600 ग्राम गेहूं भरा जा रहा था। सोसाइटी प्रबंधक जितेंद्र राजपूत ने कहा- समिति २० ग्राम इसलिए ज्यादा दे रही ताकि सूखने से सरकार को कम माल न मिले ज्यादा ही मिले। कलेक्टर के आदेश के जबाव में कहा-अरे तो २० ग्राम में क्या हो गया भैया।

 

Fraud From Farmers in front of collector-SP

सहकारी समिति सनखेड़ा (इटारसी)

-समय : दोपहर ३ बजे
- हालात : कृषि मंडी इटारसी में खरीदी केंद्र है। यहां बोरियों में 50 किलो 600 ग्राम गेहूं भर रहे थे। केंद्र प्रभारी सौरभ सौलंकी ने कहा- 50किलो 580 ग्राम की भर्ती कर रहे हैं। कलेक्टर के आदेश के सवाल पर कहा- तुलाई करने वाले दिल्ली से आए हुए हैं, वे स्पीड में बोरियों को तौलते हैं। कभी-कभी 50 किलो 600 ग्राम हो जाता है।

 

फैक्ट फाइल-

- जिले में 2 लाख 84 हजार हेक्टेयर में गेंहू की फसल
- लगभग 9 लाख मीट्रिक टन खरीदी का लक्ष्य

- कुल 202 खरीदी केंद्र बनाए गए
- करीब 58 हजार किसानों का पंजीयन


इनका कहना है...

किसानों से 50 किलो और बारदाने के वजन का 580 ग्राम गेहूं ही बोरियों में भरना है। इससे ज्यादा वजन नहीं लेना है। यदि समिति अधिक गेहूं लेती है तो कार्रवाई की जाएगी।
-विनोद चौहान, जिला खाद्य अधिकारी होशंगाबाद।

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned